पर्यावरण बचाओ पर भाषण

Speech on Save Environment in Hindi: पिछले कुछ समय से पर्यावरण की समस्या बहुत ही अधिक बढ़ गई है। यह केवल भारत में ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में बहुत ही अधिक बढ़ रही है। जिस तरह युवा पीढ़ी और आज की जनरेशन पर्यावरण संसाधनों का अंधाधुंध उपयोग कर रही है, उसकी वजह से पारिस्थितिक संतुलन बहुत ही हद तक बिगड़ गया है। इसीलिए हमें पर्यावरण को बचाने के मुद्दे पर बात करना बहुत ही जरूरी है। इस आर्टिकल के जरिए हम आपको पर्यावरण बचाओ पर भाषण पेश करने जा रहे है, जो आपके लिए बहुत ही सहायक हो सकता है।

Speech-on-Save-Environment-in-Hindi
Image : Speech on Save Environment in Hindi

पर्यावरण बचाओ पर भाषण | Speech on Save Environment in Hindi

पर्यावरण बचाओ पर भाषण ( 500 शब्द)

माननीय अतिथि गण, प्रधानाध्यापक, सम्मानित उपाध्यक्ष, शिक्षक गण, एवं मेरे प्यारे सहपाठियों। आप सभी को मेरा प्यार भरा सुप्रभात। आज मैं आप सभी के समक्ष महत्वपूर्ण विषय पर चर्चा करने जा रहा हूं, जिसका नाम है पर्यावरण बचाओ। इस पर मैं आपके सामने भाषण प्रस्तुत करने जा रहा हूं। आपको भी पता ही होगा यह हमारा बहुत ही महत्वपूर्ण विषय है। इसके बारे में हमें अधिक से अधिक बात करने की आवश्यकता है।

धरती के द्वारा हमें बहुत सारी ऐसी प्राकृतिक चीजें दी गई है, जो हमें बहुत ही सुंदर प्रतीत होती हैं। परंतु हम उस प्रकृति को अब सुंदर से बदसूरत बनाने के कगार पर पहुंच चुके हैं। इसकी वजह हम खुद हैं क्योंकि हम अपनी जरूरतों को पूरा करने में इतने मगरूर हो गए हैं कि हम प्रकृति के बारे में सोचते ही नहीं है और उसे हद से ज्यादा नुकसान पहुंचा रहे हैं, जो हमारे ही लिए नुकसानदायक है और हमारी धरती मां का अस्तित्व बहुत ही ज्यादा खतरे में आ गया है, परंतु हमें इसे बचाने की आवश्यकता है।

क्या आप जानते हैं जहां पर हम लोग रहते हैं, मतलब धरती, वह बहुत ही अधिक प्रभावित हो रही है। ओजोन परत, जलापूर्ति वन्यजीव और हमारी सभी प्रकार की प्रजातियां इन सभी चीजों पर लगातार खतरा बहुत ही अधिक बढ़ता जा रहा है। जिस वातावरण में हम इस समय रह रहे हैं।

वह हमारे अनुकूल नहीं है, जैसे कि आप जानते हैं नदियों में बहुत ही भारी मात्रा में उद्योगों से निकलने वाला रसायन मिल जाता है, जिसकी वजह से प्रदूषण उत्पन्न होता हैऔर वह पानी बिल्कुल जहरीला हो जाता है, जो हमारे पर्यावरण के लिए बिल्कुल भी सुरक्षित नहीं है। पर्यावरण की समस्या बहुत ही हद तक बढ़ गई है, इसके लिए हमें बहुत ही अधिक कार्य करने की आवश्यकता है।

हमें अधिक से अधिक पेड़ लगाने चाहिए, जहां पर भी आपको किसी भी प्रकार की कोई जगह खाली हीं दिखती है वहां पर आप पेड़ पौधे लगाए, जिसके जरिए हमें ऑक्सीजन मिलता रहेगा और कार्बन डाइऑक्साइड कम होती हुई दिखाई देगी। इसी के साथ हमें वाहनों का उपयोग कम करना चाहिए क्योंकि जितना वाहनों का प्रयोग होगा उतना ही अधिक प्रदूषण बढ़ेगा।

जब जरूरत ना हो तब बिजली के यंत्रों को बंद कर देना चाहिए। हमें पानी का इस्तेमाल बहुत ही सोच समझ कर करना चाहिए। फालतू पानी फैलाना नहीं चाहिए। पानी का अगर उपयोग नहीं होता है, तो नल को बंद कर देना चाहिए। कूड़े कचरे को इधर-उधर फेकना नहीं चाहिए उसे केवल कूड़ेदान में ही डालना चाहिए। इन सभी चीजों के लिए लोगों को भी प्रोत्साहित करना चाहिए और यह चीजें खुद पर भी लागू करनी चाहिए।

अंत में मैं केवल आपसे इतना ही निवेदन करता हूं, कि आप सभी के सहयोग से ही या कहें हम सभी के सहयोग से ही हम अपने पर्यावरण को सुरक्षित रख सकते और यह हम सभी के लिए बहुत ही आवश्यक है।

धन्यवाद!

यह भी पढ़े : एकता में बल है पर भाषण

पर्यावरण बचाओ पर भाषण (500 शब्द)

आदरणीय सीईओ, सम्मानीय प्रबंधकऔर मेरे प्यारे सहकर्मियों आप सभी को मेरा प्यार भरा नमस्कार। आज मैं आपके समक्ष एक महत्वपूर्ण विषय पर अपने विचार साझा करने जा रहा हूं, हमारा आज का विषय है पर्यावरण बचाओ। यह हमारे लिए बहुत ही महत्वपूर्ण विषय बन गया है और सबसे बड़ी वैश्विक स्तर की समस्या भी बन गई है। आईए इसके बारे में चर्चा करते हैं।

पर्यावरण हमारे जीवन का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है क्योंकि यह हमारे जीवन के लिए मुख्य स्रोत है। हमें पर्यावरण के द्वारा भोजन, पानी, हवा, सभी चीज प्राप्त होती हैं। अगर सरल भाषा में कहा जाए तो पर्यावरण हमारा संतुलन बनाए रखता है। अगर हम हर पल सांस लेते हैं और जीते हैं यह सब का सहयोग हमारा पर्यावरण ही हमें करता है।

पहले के समय में लोग शांति और सद्भाव के साथ रहते थे। पर्यावरण के अनुसार वह खुद को ढाल लेते थे। उस समय पर्यावरण को बचाने की इतनी ज्यादा आवश्यकता नहीं थी, जितनी किअब है। जाने अनजाने में हम अपने पर्यावरण को खुद ही अधिक नुकसान पहुंचा रहे हैं।

विज्ञान के क्षेत्र में नई नई तकनीकी की वजह से हम बहुत ही अधिक सशक्त बन गए हैं जिसकी वजह से हम पर्यावरण के संसाधनों का अंधाधुंध उपयोग करते रहते हैं। जिसके बदले में हमें हानिकारक रसायन और प्रदूषण ही मिलता है इसके अलावा कुछ भी नहीं मिलता।

यह समस्या वैश्विक स्तर पर पहुंच चुकी है। पर्यावरण की वजह से बहुत सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। पर अब पर्यावरणीय समस्याएं बहुत सारी चीजों की वजह से उत्पन्न होता है, जैसे कि वनों की कटाई, जैव विविधता का नुकसान, वायु प्रदूषण, जहरीले रसायनों के प्रभावज़ कचरा, प्लास्टिक, ग्लोबल वार्मिंग, ओजोन परत का कमजोर होना, भूमिगत जल, तेल, गैस भंडार, प्राकृतिक संसाधन इत्यादि का बढ़ना और भी कई अन्य कारण है। जिसकी वजह से पर्यावरण को बहुत ही अधिक नुकसान पहुंच रहा है।

हमें अपने पर्यावरण को बचाने के लिए अधिक से अधिक प्रयास करने होंगे क्योंकि ग्लोबल वार्मिंग बहुत ही गंभीर समस्या बनती जा रही है। जिसकी वजह से सूखा और बाढ़ प्राकृतिक आपदाओं का सामना करना पड़ता है। हमें अधिक से अधिक प्रयास करने होंगे, जैसे कि अधिक से अधिक पेड़ लगाएं, सब्जियों और फलों की बर्बादी को उर्वरकों में बदल सके। इसी के साथ हमें किसी भी प्रकार के पदार्थ को तालाब नदी इत्यादि में नहीं छोड़ना चाहिए।

छोटे-छोटे काम में पानी की बचत करनी चाहिए। प्लास्टिक की जगह जूट का उपयोग करना चाहिए। कपड़ा पेपर बैग अपशिष्ट उत्पादों को हमें रीसाइक्लिंग करना चाहिए। हमें बहुत ऐसी चीज है जिनका बहुत ही अधिक ध्यान रखने की आवश्यकता है। अगर हम सभी चीजों का ध्यान रखेंगे तो हम अपने पर्यावरण को बिगड़ने से बचा सकते हैं और यह हमारे लिए लाभदायक साबित होगा।

अंत में केवल इतना ही कहना चाहूंगा कि हमारे दिन प्रतिदिन के जीवन में इन उपायों को अगर हम लागू करते हैं, तो अपने पर्यावरण की रक्षा बहुत ही अच्छे तरीके से कर सकते हैं, जिसकी वजह से हम एक स्वस्थ और बेहतर जीवन जी पाएंगे। इसी के साथ में अपनी वाणी को विराम देता हूं।

धन्यवाद!

निष्कर्ष

इस आर्टिकल के जरिए हमने आपको पर्यावरण बचाओ पर भाषण ( Speech on Save Environment in Hindi) पर भाषण दिया है। यह भाषण स्कूल कॉलेज छात्र छात्राओं के लिए एवं किसी भी प्रकार के समारोह में आपके लिए सहायक हो सकता है।

आप सभी लोगों को पर्यावरण के लिए जागरूक होना बहुत ही जरूरी है क्योंकि अगर हम अपने पर्यावरण को नहीं बचाएंगे तो, आने वाले समय में हम अपनी जान के लिए ही खतरा उत्पन्न करेंगे। इसी के साथ आप इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें जिसके जरिए वह अन्य लोगों के साथ शेयर करेंगे और ज्यादा से ज्यादा लोग पर्यावरण के लिए जागरूक होंगे।

यह भी पढ़े

मानवाधिकार दिवस पर भाषण

महिला सशक्तिकरण पर भाषण

विश्व पर्यावरण दिवस पर भाषण

रक्षा बंधन पर भाषण

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here