सावन शायरी

Sawan Shayari in Hindi

सावन शायरी (Sawan Shayari in Hindi)

सावन शायरी (Sawan Ki Shayari)

सावन-भादों साठ ही दिन हैं फिर वो रुत की बात कहाँ
अपने अश्क मुसलसल बरसें अपनी-सी बरसात कहाँ

इस बारिश के मौसम में अजीब सी कशिश है
ना चाहते हुए भी कोई शिदत से याद आता है..

सावन की बरसात की तरह झरने दो, इसे झरने दो,
ये तुम्हारा नाम मेरे सीने में, मेरी साँसों में रहने दो.

वो भला क्यूँ कदर करते हमारे अश्को की
सुना है सावन उनके शहर पर कुछ ज्यादा मेहरबान रहता है..।।

सावन शायरी हिंदी (Shayari On Sawan in Hindi)

सावन की बूंदों में झलकती है उसकी तस्वीर
आज फिर भीग बैठे उसे पाने की चाहत में

रहने दो अब के तुम भी मुझे पढ ना सकोगे
बरसात में कागज की तरह भीग गया हु..

जो गुजरे इश्क में सावन सुहाने याद आते हैं
तेरी जुल्फों के मुझको शामियाने याद आते हैं

Read Also: बारिश पर शायरी

Sawan Shayari For WhastApp

फूल से दोस्ती करोगे तो महक जाओगे;
सावन से दोस्ती करोगे तो भीग जाओगे;
हमसे करोगे तो बिगड़ जाओगे;
और नहीं करोगे तो किधर जाओगे।

Sawan Shayari in Hindi

जब चले जाएँगे हम लौट के सावन की तरह
याद आयेंगे पहले प्यार के चुम्बन की तरह

मौसम था बेकरार तुम्हें सोचते रहे,
कल रात बार बार तुम्हें सोचते रहे
बारिश हुई तो लग कर घर के दरवाजे से हम
चुप चाप बेकरार तुम्हें सोचते रहे…

Sawan Pe Shayari

मुझे मालूम है तूमनें बहुत बरसातें देखी है,
मगर मेरी इन्हीं आँखों से सावन हार जाता है…

वो तेरा शरमा के मुझसे यूँ लिपट जाना
कसम से हर महीने में सावन सा अहसास देता है

तुम्हें पहली बारिश पसंद है और मुझे तुम
तुम्हें हँसना पसंद है मुझे हँसते हुए तुम,
तुम्हें हमसे बात करना पसंद है, मुझे बोलते हुए तुम
तुम्हें सब कुछ पसंद हैं और मुझे बस तुम…

Sawan Quotes in Hindi

लाख बरसे झूम के सावन मगर वो बात कहाँ..
जो ठंडक पङती है दिल में तेरे मुस्कुराने से ..

अब के सावन में ये शरारत मेरे साथ हुई
मेरा घर छोड़ के पुरे शहर में बरसात हुई

पतझड़ दिया था वक़्त ने सौगात में मुझे..
मैने वक़्त की जेब से ‘सावन’ चुरा लिया…!!

Sawan Ki Shayari in Hindi

बनके सावन कहीं वो बरसते रहे
इक घटा के लिए हम तरसते रहे
आस्तीनों के साये में पाला जिन्हें,
साँप बनकर वही रोज डसते रहे

तेरा उलझा दामन मेरी अंजुमन तो नहीं,
जो मेरे दिल में है शायद तेरी धड़कन तो नहीं,
यू यकायक मुझे बरसात की क्यों याद आई,
जो घटा है तेरी आँखों में वो सावन तो नहीं.

जितना हँसा था उससे ज़्यादा उदास हूँ
आँखों को इन्तज़ार ने सावन बना दिया

सावन स्टेटस (Sawan Status in Hindi)

रोक कर बैठे हैं कई समंदर आँखों में
दगाबाज़ हो सावन तो क्या…
हम खुद ही बरस लेंगे…

मालूम है ये सावन अगले बरस भी आएगा
पर तुम अभी आ जाओगे तो क्या बिगड़ जायेगा

क़दम क़दम पर सिसकी और क़दम क़दम पर आहें
खिजाँ की बात न पूछो सावन ने भी तड़पाया मुझे

Shayari On Sawan Ka Mahina

रुकी रुकी सी है बरसात ख़ुश्क है सावन
ये और बात कि मौसम यही नुमू का है

सावन एक महीने, आँसू जीवन भर
इन आँखों के आगे बादल बे-औक़ात लगे

वक़्ते-रुख़सत तैरती है जो किसी की आँख में
सारे सावन पानी भरते है उस नमी के सामने

Sawan Ke Mausam Par Shayari

सावन का ये मौसम कुछ याद दिलाता हैं
किसी के साथ होने का एहसास दिलाता हैं
फ़िज़ा भी सर्द हैं यादें भी ताज़ा हैं
ये मौसम किसी का प्यार दिल में जगाता हैं

मौसम है सावन का और याद तुम्हारी आती है
बारिश के हर कतरे से आवाज़ तुम्हारी आती है
बादल जब गरजते हैं, दिल की धड़कन बढ़ जाती है
दिल की हर इक धड़कन से आवाज़ तुम्हारी आती है

ऐ सावन की बारिश जरा थम के बरस
जब मेरा सनम आ जाए तो जम के बरस
पहले ना बरस कि वो आ न सके
जब वो आ जाए तो इतना बरस कि वो जा न सके

Latest Sawan Shayari

सावन में हम पानी बनकर बरस जायेंगे
पतझड़ में फूल बनके बिखर जायेंगे
क्या हुआ जो हम आपको तंग करते हैं
कभी आप इन लम्हों के लिए भी तरस जायेंगे

Miss You Barish Shayari in Hindi

इस सावन में हम भीग जायेंगे
दिल में तमन्ना के फूल खिल जायेंगे
अगर दिल करे मिलने को तो याद करना
बरसात बनकर हम बरस जायेंगे

ये दौलत भी ले लो, ये शोहरत भी ले लो
भले छीन लो मुझसे मेरी ज़वानी
मगर मुझको लौटा दो वो बचपन का सावन
वो कागज़ की कश्ती वो बारिश का पानी

Read Also

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here