सबसे सच्चा धर्म कौन सा है?

दुनिया में अनेक तरह के धर्म है। दुनिया भर में अलग-अलग धर्म के लोग निवास करते हैं। वे सभी अपने अपने धर्म को सर्वश्रेष्ठ कहते हैं। अपने अपने धर्म को सर्वश्रेष्ठ धर्म मानते हैं।

ऐसे में सवाल उत्पन्न होता है कि आखिर दुनिया का सबसे सच्चा धर्म कौन सा है? दुनिया का सबसे सर्वश्रेष्ठ धर्म कौन सा है? तो आज के इस आर्टिकल में हम आपको पूरी जानकारी के साथ विस्तार से बताएंगे कि दुनिया का सबसे सच्चा धर्म कौन सा है?

कुछ वर्षों और सदियों पहले प्रत्येक देश में धर्म के अनुसार लोग रहते थे, लेकिन अब समय बदल चुका है। लोगों में धर्म को लेकर अनबन होती है, वहीं कुछ लोग धर्म को गंभीरता से नहीं लेते हैं।

वर्तमान समय में लोग अपने देश को छोड़कर दूसरे देशों में भी निवास करते हैं, वहां पर भी व्यापार करते हैं। उनका रहन-सहन बदल चुका है, खान-पान बदल चुका है। इसीलिए वर्तमान समय में संपूर्ण दुनिया में सभी धर्मों के लोग निवास करते हैं।

Sacha dharm kon sa hai

संपूर्ण दुनिया में हिंदू यानी सनातन धर्म, मुस्लिम यानी इस्लाम धर्म, यहूदी, ईसाई, बौद्ध, जैन, सिख, पारसी इत्यादि अनेक सारे धर्म के लोग रहते हैं। इन सभी धर्मों की अलग-अलग धर्म पद्धति है, अलग-अलग मान्यता है, अलग-अलग भाषा विचार है, अलग-अलग रहन-सहन है, अलग-अलग पूजा पद्धति है, अलग-अलग देवी देवता है तथा अलग-अलग खानपान भी है।

इसीलिए कभी कबार इन सभी में अनबन हो जाती है, लड़ाई झगड़े हो जाते हैं। सभी धर्म अपने आप को सर्वश्रेष्ठ कहते हैं। तो आइए हम आपको धर्म के संपूर्ण परिभाषा बताते हैं।

सबसे सच्चा धर्म कौन सा है?

धर्म की परिभाषा

धर्म का अर्थ धारण करना होता है। प्रत्येक धर्म द्वारा कुछ नियम, कानून कायदे, पूजा पद्धति, रहन-सहन के तरीके, पहनावे के तरीके, धार्मिक तरीके, सांस्कृतिक तरीके, खानपान के तरीके इत्यादि नियम बनाए जाते हैं, जिनका पालन करने वाले लोग उस धर्म के अनुयाई हो जाते हैं, उस धर्म के लोग हो जाते हैं।

जैसे हिंदू धर्म के नियमों का पालन करने वाले लोग हिंदू कहलाते हैं। इसी तरह मुस्लिम धर्म के नियमों का पालन करने वाले लोग मुस्लिम धर्म के लोग कहलाते हैं।

हिन्दू धर्म

हिंदू धर्म का वास्तविक और प्राचीन नाम सनातन धर्म है। यह एक अत्यंत प्राचीन धर्म है, जो सदियों से चला आ रहा है।‌ भारत में सनातन धर्म के लोगों का इतिहास रामायण और महाभारत काल से मिलता है। भारत का सबसे प्राचीन धर्म सनातन धर्म ही है तथा धर्म ग्रंथों में ऐसे दुनिया का सबसे प्राचीन धर्म भी कहा जाता है।

अनेक सारे ऐसे साक्ष्य भी उपलब्ध है, जो इस बात को दर्शाते हैं कि जिस समय दुनिया बिना कपड़ों के रहती थी और जानवरों को मार कर अपना पेट भरते थी, उस समय भारत के लोग अत्यंत समृद्ध हुआ करते थे, वेशभूषा जानते थे, पका कर खाना खाते थे, सभ्यता संस्कृति को मानते थे।

हिंदू धर्म में अनेक सारे देवी देवता है। अनेक सारे धर्म ग्रंथ है, अनेक सारी पूजा पद्धति, नियम है। अनेक सारी जातियां और वर्ग है। सभी का अलग-अलग रंग रूप, भाषा विचार, पहनावा, संस्कृति, रहन-सहन, खान-पान, बोलचाल इत्यादि अलग-अलग है। सनातन धर्म अत्यंत विशाल और प्राचीन धर्म है, जिसका इतिहास भी सदियों पुराना मिलता है।

सनातन धर्म में 33 करोड़ देवी देवताओं का जिक्र किया गया है। वर्तमान समय में भारत के कोने-कोने में लाखों की संख्या में मंदिर उपस्थित हैं। इनमें से अनेक सारे प्राचीन मंदिर भी मौजूद हैं।

सनातन धर्म में अनेक सारे नियम और कानून कायदे बनाए गए हैं, जो सनातन धर्म प्रेमियों को जीवन जीने की कला सिखाते हैं। सनातन धर्म अपने धर्म नियमों और पूजा पद्धतियों के लिए जाना जाता है।

इस्लाम धर्म

वर्तमान समय में इस्लाम धर्म के अनेक सारे देश हैं। इस्लाम धर्म के लोग अल्लाह को मानते हैं। इस्लाम में कहा गया है कि अल्लाह एक ही है। इस्लाम धर्म के लोग अल्लाह के आगे झुकते हैं‌।

इस्लाम धर्म के लोगों की धार्मिक पुस्तक कुरान है। इस्लाम धर्म में सुख मिलने वाली जगह को जन्नत कहते हैं, जबकि दो को मिलने वाली जगह को जहन्नुम कहते हैं। मुस्लिम धर्म में धर्म की तोहीन करना सबसे बड़ा पाप माना जाता है।

सिख धर्म

सिख धर्म के लोग धर्मस्थल को गुरुद्वारा कहते हैं। इनके पवित्र धर्म पुस्तक को ग्रंथ साहिब कहते हैं, सिख धर्म में 10 गुरुओं को विशेष महत्त्वता दी गई है। वर्तमान समय में दुनिया भर में सिख धर्म के लोग निवास करते हैं। खासतौर पर भारत पाकिस्तान और कनाडा में सिख धर्म के अनुयाई रहते हैं।

ईसाई धर्म

ईसाई धर्म के लोग तीन तत्वों को मानते हैं। ईश्वर को, उसके पुत्र ईसा मसीह को तथा पवित्र आत्मा को।‌ ईसाई धर्म के लोग वर्तमान समय में आमतौर पर पश्चिमी देशों में निवास करते हैं। शुरुआत से ही इन देशों से उनका उद्गम रहा है। ईसाई धर्म के लोग अत्यंत पढ़े-लिखे और आविष्कारक होते हैं।

जैन धर्म

जैन धर्म के लोग अत्यंत पढ़े लिखे और बुद्धिमान होते हैं। जैन धर्म के लोग कहीं पर भी आप को गरीब नहीं मिलेंगे, क्योंकि इन्हें शुरुआत से ही शिक्षा दी जाती है या अपने धर्म का पालन करते हुए जीवन में सफल हो जाते हैं।

जैन धर्म के लोग अहिंसक होते हैं, इन्हें जीव दया और मानवता का पाठ पढ़ाया जाता है। जैन धर्म के अनेक सारे संत और अनुयाई धर्म का प्रचार प्रसार करते हैं।

बौद्ध धर्म

बौद्ध धर्म भारत, चीन, म्यांमार, नेपाल, भूटान इत्यादि इन क्षेत्रों में प्रचलित है। प्राचीन समय में बौद्ध धर्म का अपना एक अस्तित्व था। अपना एक वजूद था, लेकिन वर्तमान समय में बौद्ध धर्म काफी कम हो चुका है।

बौद्ध धर्म के लोग हिंसा से दूरी बनाए रखते हैं। जीव दया का पाठ पढ़ाते हैं तथा हिंदुओं की तरह ही गहरे भगवे रंग का चोला पहनते हैं। बौद्ध धर्म, जैन धर्म और सिख धर्म की तरह हिंदू धर्म से मिलाजुला है।

FAQ

दुनिया का सबसे प्राचीन धर्म कौनसा है?

भारतीय इतिहास के अनुसार सनातन धर्म दुनिया का सबसे प्राचीन धर्म है।

दुनिया में कितने तरह के धर्म है?

दुनिया में अनेक प्रकार के धर्म हैं, जिनमें हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई, यहूदी, जैन, पारसी इत्यादि प्रमुख है, जो दुनिया के लगभग प्रत्येक देश में निवास करते हैं।

निष्कर्ष

सबसे सच्चा धर्म कौन सा है इस बारे में आज के इस आर्टिकल में हमने आपको पूरी जानकारी विस्तार से बताई हैं। हमें पूरी उम्मीद है कि यह जानकारी आपके लिए जरूर उपयोगी साबित हुई होगी।

यह भी पढ़े

शीलम परम भूषणम का हिंदी अर्थ क्या होता है?

पृथ्वी का वजन कितना है?

महाभारत किसने लिखी थी और क्यों लिखी?

भगवत गीता किसने लिखी और इसमें क्या लिखा गया है?

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 4 वर्ष से अधिक SEO का अनुभव है और 6 वर्ष से भी अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहे है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जरूर जुड़े।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here