जी पी ब्लॉक मेरठ की डरावनी तथा भूतिया कहानी

GP Block Meerut History in Hindi: भारत में ऐसे कई स्थान हैं, जो रहस्यमई तथा भूतिया कहानियों के लिए जाने जाते हैं। इनमें से एक मेरठ का जी पी ब्लॉक भी शामिल है, जो उत्तर प्रदेश में आता है। यह एक प्रकार का बड़ा हॉल तथा महल है, जो आधुनिक व प्राचीन संस्कृति का मिश्रण है। कहा जाता है कि यह कई वर्षों से विरान पड़ा है, इसमें कोई भी निवास नहीं करता है।

GP Block Meerut History in Hindi
Image: GP Block Meerut History in Hindi

लोककथा तथा स्थानीय लोगों के अनुसार यहां पर भूत होने का दावा किया जा रहा है। स्थानीय लोग कहते हैं कि यहां पर अक्सर हॉल के अंदर मोमबत्ती की रोशनी दिखाई देती है। तो कुछ लोगों का कहना है कि लाल कपड़े पहने चुड़ैल दिखाई देती है। इस तरह की भूत-प्रेत से भरी कहानियां जीपी ब्लॉक के बारे में सुनने को मिलती है।

जी पी ब्लॉक मेरठ की डरावनी तथा भूतिया कहानी | GP Block Meerut History in Hindi

जी पी ब्लॉक मेरठ का इतिहास

कुछ समय पहले मेरठ के जी पी ब्लॉक के बारे में न्यूज़ चैनल में भी बताया गया था, जिसके बाद भी यह पूरे भारत में इसे रहस्य तथा भूत-प्रेत वाले जगहों की लिस्ट में शामिल किए जाने लगा है। कहा जाता है कि यहां पर जी पी ब्लॉक नाम की एक कॉलोनी है, जो 90 के दशक से बंद पड़ी है। क्योंकि यहां पर भूतों का साया है, इसलिए कोई भी निवास नहीं करता।

मेरठ शहर उत्तर प्रदेश में आता है, जो कि काफी प्राचीन शहर है।‌ मेरठ शहर का इतिहास प्राचीन कहानियां और कविताओं में भी देखने को मिलता है। कहा जाता है कि यह शहर रामायण काल से चला आ रहा है। परंतु इसी शहर में जी पी ब्लॉक नाम की एक कॉलोनी है, जिसमें एक हॉल आकार नुमा भवन बना हुआ है। यह भवन सुनसान व वीरान पड़ा है। लोगों का कहना है कि यहां पर भूत-प्रेत निवास करते हैं।

इस वीरान पड़े महल में हॉल तथा आधुनिक व प्राचीन तरीके से बने हुए महल है। कहा जाता है कि यह महल अंग्रेजों के जमाने में किसी साहूकार व्यक्ति का महल था। परन्तु इस महल में किसी की मौत की खबर सुनने को नहीं मिलती। इस बारे में लोक कहानियां तथा वहां के स्थानीय लोगों के अलावा कोई और ठोस बात सामने नहीं आती। इसे अंग्रेजों के जमाने का बताया जाता है।

मेरठ के जी पी ब्लॉक की डरावनी तथा भूतिया कहानियां

मेरठ भारत के प्राचीन शहरों में से एक हैं। यहां का खान-पान, रहन-सहन, वेशभूषा लोगों की जीवन शैली काफी दिलचस्प हैं‌। यह एक प्राचीन शहर है, इसका अपना एक इतिहास है। लेकिन मेरठ के जीपी ब्लॉक की भूतिया और डरावनी कहानियां लोगों को सोचने पर मजबूर कर रही हैं। लोग इसके बारे में जानना चाहते हैं, लेकिन कोई विशेष जानकारी उपलब्ध नहीं है।

मेरठ के आसपास के सभी क्षेत्रों में जीपी ब्लॉक की भूतिया तथा डरावनी कहानियां काफी ज्यादा प्रचलित हैं तथा यह इंटरनेट पर भी उपलब्ध है। लोग इस जगह को भारत की सबसे डरावनी तथा भूतिया जगह की सूची में शामिल कर रहे हैं। बता दें कि यहां पर ना तो कोई निवास करता है और ना ही इसके आसपास कोई दिखाई देता है।

भारत के जिस भी गांव, महल, हवेलियां या किले की डरावनी या भूतिया कहानियां प्रचलित हैं, उनके बारे में यह भी प्रचलित है कि वहां पर किसी की हत्या हुई या नरसंहार हुआ था। लेकिन इस बारे में ऐसी कोई कहानियां या किस से सुनने को नहीं मिलते हैं। इसलिए “मेरठ छावनी बोर्ड” इसे असामाजिक तत्व तथा बदमाशों का अड्डा बताता है।

कहा जाता है कि 90 के दशक में इस जगह पर सेना का केंद्र हुआ करता था, लेकिन अभी यहां पर कोई नहीं रहता है। लोगों द्वारा फैलाई जा रही भूतिया बातों का पता लगाने हेतु इसके पास ही स्थित विद्यालय के छात्रों ने इस इमारत में प्रवेश करने का प्रयास किया, लेकिन उन्हें पुलिस तथा यहां के लोगों द्वारा रोक दिया गया।

जिसके बाद अब तक इस महल के अंदर कोई भी नहीं गया और ना किसी ने अंदर जाने की हिम्मत दिखाई।‌ बता दें कि इस कॉलोनी के पास एक विद्यालय हैं, जिसके छात्रों ने कहा कि इस महल में भूत है या नहीं इस बात का पता लगाने के लिए हम अंदर जाएंगे। लेकिन उन्हें नहीं जाने दिया गया।

मेरठ छावनी बोर्ड

मेरठ छावनी बोर्ड का कहना है कि जीपी ब्लॉक में अवैध गतिविधियां होती है। इसीलिए लोगों ने अपने अवैध काम को जारी रखने हेतु इस जगह की भूतिया कहानियां बना दी ताकि लोग डर की वजह से नजदीकी ना आए और उनका अवैध कार्य चलता रहें। परंतु स्थानीय लोग इस बात का खंडन करते हैं।

बोर्ड का कहना है कि इस कॉलोनी की भूतिया कहानियां प्रचलित करके कुछ बदमाश यहां पर जुआ खेलते हैं तथा अवैध रूप से कई गतिविधियां करते हैं, जिससे उनका काम आसान हो सकें। बता दें कि मेरठ छावनी बोर्ड द्वारा इस महल के आगे एक बड़ा सा दरवाजा लगा दिया गया है, इससे कोई भी इस महल के अंदर ना जा पाए और इस महल की सुरक्षा भी की जाए।

जीपी ब्लॉक मेरठ

वैसे तो भारत के प्रत्येक हिस्से में ऐसे अनेक सारे महल, गांव तथा हवेलियां हैं, जिसकी डरावनी तथा भूतिया कहानियां प्रचलित हैं। परंतु 90 के दशक में सेना का केंद्र रह चुके मेरठ का जीपी ब्लॉक अब भूतिया कहानियों के घेरे में है। जीपी ब्लॉक मेरठ से जुड़ी अनेक सारी भूतिया कहानियां‌ प्रचलित है।

मेरठ का जीबी ब्लॉक 90 के दशक के बाद खाली पड़ा है, जो अब खंडहर में तब्दील हो चुका है। विरान पड़े इस महल के ऊपर अब पौधे उग चुके हैं और इसके अंदर कांटेदार झाड़ियां भी उगने लग गई है। लंबे समय से बंद पड़े रहने की वजह से डरावना और खौफनाक भी दिखाई देता है।

जीपी ब्लॉक मेरठ के आसपास अनेक सारे ऐसे प्राचीन स्मारक हैं, जो पर्यटकों की दृष्टि से एक दार्शनिक स्थल है।‌ यहां पर बना हुआ एक जैन मंदिर जैन समाज तथा पर्यटकों की दृष्टि से दार्शनिक स्थल है।

जीपी ब्लॉक के पास में एक दरगाह भी बनी हुई है, जो अपनी प्राकृतिक विरासत को बयां कर रही है। भूतिया कहानियां से प्रचलित जीपी ब्लॉक मेरठ के पास में एक प्राचीन टीला बना हुआ है, जिसे महाभारत काल में बनाए जाने का दावा किया जा रहा है। लोगों का कहना है कि इसे महाभारत के काल में पांडवों द्वारा बनाया गया था। इस प्राचीन टीले को देखने के लिए दूर-दराज से लोग आते हैं।

निष्कर्ष

आज के इस आर्टिकल में हमने आपको जी पी ब्लॉक मेरठ का इतिहास बताया है। इसमें आपको यह जाने को मिलेगा कि जीपी ब्लॉक मेरठ से संबंधित किस तरह की कहानियां प्रचलित है।

आशा करते हैं कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा। यदि आपका इस आर्टिकल के संदर्भ में कोई प्रश्न या सुझाव है तो कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

यह भी पढ़े

कुलधरा गाँव का इतिहास और कहानी

भानगढ़ किले का इतिहास और कहानी

तनोट माता मंदिर का इतिहास और रोचक तथ्य

टाइटैनिक जहाज कैसे डूबा? पूरी कहानी

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 4 वर्ष से अधिक SEO का अनुभव है और 5 वर्ष से भी अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहे है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जरूर जुड़े।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here