जॉर्ज वॉशिंगटन के सर्वश्रेष्ठ विचार

George Washington Quotes in Hindi

Image: George Washington Quotes in Hindi

41+ George Washington Quotes in Hindi | जॉर्ज वॉशिंगटन के सर्वश्रेष्ठ विचार

“बेकार का बहाना बनाने से अच्छा है
कोई बहाना ना बनाना।

मैं सिर्फ ये कह सकता हूँ
कि कोई ऐसा जीवित व्यक्ति नहीं है
जो मुझसे अधिक ईमानदारी से दास-प्रथा का
अंत करने की योजना को अपनाने की इच्छा रखता है .

यदि आप अपने यश का सम्मान करना चाहते हो
तो अच्छे गुणों वाले इंसानों से मिलकर रहे।
क्योकि बुरे लोगो के साथ रहने से तो
अच्छा अकेले रहना ही है।

मेरी पहली इच्छा मानवजाति के प्लेग ,
युद्ध को इस धरती से ख़त्म करने की है

“काम के आदमी के साथ
आपकी बात संक्षिप्त और व्यापक होनी चाहिए।

किसी दिन संयुक्त राज्य अमेरिका का
उदाहरण अपनाते हुए ,
संयुक्त राज्य यूरोप होगा

सभी के साथ शालीनता से रहे लेकिन कुछ लोगो
से ही सुपरिचित रहे और और उन कुछ
लोगो पर पूरा भरोसा करने से पहले
उनकी पूरी तरह से कयी बार जाँच कर लेवे।

अनुशासन सेना की आत्मा है .
यह छोटी संख्या को भयंकर बना देती है ;
कमजोरों को सफलता और सभी को सम्मान दिलाती है.

“युद्ध के लिए तैयार रहना शांति
बनाये रखने के सबसे प्रभावी साधनों में से एक है।

सभी के साथ विनम्र रहे ,
पर कुछ ही के साथ अन्तरंग हों ,
और इन कुछ को अपना विश्वास
देने से पहले अच्छी तरह परख लें .

यदि बोलने की आज़ादी को छीन लिया
जाये तो गूंगे और शांत लोग
आगे बढ़ेंगे जैसे भेड़ उसकी हत्या के समय।

बंदूकें महत्त्व में सिर्फ संविधान
से कम होती हैं;
वे लोगों की स्वतंत्रता का दांत होती हैं .

“अपने हृदय को हर किसी की वेदना
और संकटों को महसूस करने दीजिये,
और अपने हाथों को अपने
बटुए के हिसाब से देने दीजिये।

बिना प्रभु और बाइबिल के
देश पर सही ढंग से शासन करना असंभव है.

मै आशा करता हु की मै मजबूती और
नैतिक गुणों को काबू कर सकू ताकि मै
अपने चरित्र को भी संभाल सकू।
क्योकि इंसान का चरित्र ही उसे ईमानदार बनाता है।

Reed also: चार्ली चैपलिन के अनमोल विचार

George Washington Quotes in Hindi

यदि बोलने की स्वतंत्रता छीन ली जाये तो शायद
गूंगे और मौन हम उसी तरह संचालित
होंगे जैसे भेड़ को बलि के लिए ले जाया जा रहा हो

“अच्छी विचारधारा को ही निखारे और
सभी देशो के साथ इंसाफ करे।
सभी में शांति और समानता के बीज बोने की कोशिश करे।”

जहाँ सत्य उजागर करने के लिए कष्ट
उठाया जाता है वहां
अंततः सत्य की जीत होती है

मानवजाति , अगर अपने आप पर छोड़
दी जाए तो खुद पर भी शासन करने के अयोग्य है

“कुछ लोगों में ही सबसे ऊँची
बोली लगाने वाले से बचने का गुण होता है।

जब हमने सैनिकों की कल्पना की
तो हमने नागरिकों को एक तरफ नहीं रख दिया

दोस्ती धीरे-धीरे बढ़ने वाला एक पौधा है
और इसकी उपाधि मिलने से पहले इसका
अनुभव कर लेवे और
कठनाईयो का सामना करना सिख ले।

चिंता उन लोगों द्वारा भुगतान किया
ब्याज है जो उधार में मुसीबत लेते हैं.

“जब बुनियाद को लेने की
शुरुवात हो जाये तो आज़ादी,
तत्कालीन विकास का ही पौधा है।”

किसी भी तरह की सरकार के अंतर्गत ज़रुरत से बड़ी सेना
स्वतंत्रता के लिए अशुभ है , और ख़ास तौर से
गणतंत्रवादी स्वतंत्रता के लिए शत्रुतापूर्ण मानी जानी चाहिए .

“स्वतंत्रता जब अपनी जड़ जमाने लगती है
तो एक तेजी से बढ़ने वाले
पौधे के सामान हो जाती है।

युद्ध के लिए तैयार रहना शांति बनाये
रखने के सबसे प्रभावी साधनों में से एक है .

युद्ध के लिये तैयार होना ही शांति
को सुरक्षित रखने का सबसे
प्रभावशाली तरीका है।

अपने हृदय को हर किसी की वेदना और
संकटों को महसूस करने दीजिये ,
और अपने हाथों को
अपने बटुए के हिसाब से देने दीजिये

“संविधान वो मार्गदर्शक है
जिसे मैं कभी नहीं छोडूंगा।

Reed also: आध्यात्मिक गुरु परमहंस योगानंद के अनमोल विचार

George Washington Quotes in Hindi

कोसना और कसम खाना इतना तुच्छ और
गिर हुआ काम है कि कोई भी
समझदार और चरित्रवान व्यक्ति इससे घृणा करता है .

देशभक्ति में छल का दावा
करना पहरेदारी के खिलाफ है।

हमारी राजनीतिक व्यवस्था का आधार लोगों
का अपनी सरकार के
संविधान को बदलने का अधिकार है

“चिंता उन लोगों द्वारा भुगतान
किया ब्याज है जो उधार में मुसीबत लेते हैं।

सरकार तर्कपूर्ण नहीं है, वह सुवक्ता नहीं है;
वह ताकत है . आगा की तरह ,
वह एक खतरनाक नौकर है
और एक भयानक मालिक.

अपनी छाती में दिव्य आग की चिंगारी को
बनाये रखने के लिये महेनत
की जरुरत होती है जिसे विवेक कहते है।

प्रसन्नता और नैतिक कर्तव्य
एक दूसरे से पूरी तरह से जुड़े हुए हैं.

यदि आप अपनी प्रतिष्ठा का सम्मान करते हैं
तो अच्छे गुडों से संपन्न लोगों के साथ जुड़िये ;
क्योंकि बुरी संगत में रहने से अच्छा अकेले रहना है .

दिखावटी देशभक्ति
के पाखण्ड से बचिए .

सच्ची दोस्ती धीमी गति से उगने वाला पौधा है ,
और कोई इस पदवी का हकदार बने उससे
पहले उसे विपत्ति के झटको से
गुजरना और उन्हें सहना होगा.

अनुभव हमें सिखाता है कि कब्ज़ा जमाने के
बाद दुश्मन को हटाने की तुलना में
उसे कब्ज़ा करने से रोकना कहीं आसान है.

अपने ह्रदय में उस दीव्य चिंगारी ,
जिसे अंतरात्मा कहते हैं,
को जिंदा रखने के लिए मेहनत करो.

चलिए एक ऐसा मानक बनाएं जिसपर
बुद्धिमान और ईमानदार चल सकें ;
बाकि भगवान् के हाथ में है.

सभी देशों के प्रति अच्छी भावना और न्याय रखें .
सभी के साथ शांति और सद्भाव स्थापित करें

Reed also

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here