फिल्म डायरेक्टर कैसे बन सकते है? (योग्यता, कोर्स, इंस्टिट्यूट, फीस और सैलरी)

फिल्म डायरेक्टर बनकर एक अच्छा भविष्य देख सकते हैं। क्योंकि वर्तमान समय में फिल्मों का काफी ज्यादा क्रेज है और आज के समय की फिल्में करोड़ों ही नहीं बल्कि अरबों रुपए कमाई कर रही है। इसीलिए फिल्म में सबसे अधिक पैसा डायरेक्टर और प्रोड्यूसर ही कमाता है। यदि आप फिल्म डायरेक्टर बनते हैं तो आप कुछ ही समय में करोड़पति नहीं बल्कि अरबपति बन जाएंगे।

फिल्म डायरेक्टर की अपनी एक पहचान होती है। पैसों के साथ फिल्म डायरेक्टर इज्जत और अपना नाम भी कमाते हैं। वर्तमान समय में फिल्म जगत काफी ज्यादा बड़ा हो चुका है। हॉलीवुड, बॉलीवुड, साउथ, भोजपुरी, स्थानीय, शॉर्ट फिल्म, यूट्यूब, वेब सीरीज, लाइव स्ट्रीम, टेलीविजन धारावाहिक, ओटीटी फिल्म्स इत्यादि अनेक अनेक अनेक फिल्म इंडस्ट्रीज में अपना करियर बना सकते हैं।

film director kaise bane

बिना पढ़े लिखे लोग भी फिल्म डायरेक्टर बन सकते हैं। अगर किसी के पास पैसे नहीं है और वे आगे नहीं बढ़ना चाहते हैं, फिल्म डायरेक्टर का कोर्स नहीं करना चाहते हैं तो‌ बिना कोर्स किए ही अपनी रुचि से डायरेक्टर के असिस्टेंट पद पर कार्य करके अपना भविष्य बना सकते हैं।

लेकिन वर्तमान समय में कोर्स करने वाले लोगों को ज्यादा महत्वता दी जाती है। आज से कुछ वर्ष पहले फिल्म डायरेक्टर बनने का कोई कोर्स नहीं होता था। लोग अपनी खुद की रुचि से और अपने दम पर ही फिल्म डायरेक्टर बनते थे।

फिल्म डायरेक्टर बनने का बहुत सारे लोगों का सपना होता है। तो आज के इस आर्टिकल में हम फिल्म डायरेक्टर कैसे बनें?, फिल्म डायरेक्टर बनने के लिए क्या-क्या करना होता है?, कौन सा कोर्स करना होता है?, कितने पैसे खर्च करने होते हैं?, कहां जाना होता है?, कितनी सैलरी मिलती है?, करियर स्कोप क्या है? इत्यादि संपूर्ण जानकारी विस्तार से बताएंगे।

फिल्म डायरेक्टर कैसे बन सकते है? (योग्यता, कोर्स, इंस्टिट्यूट, फीस और सैलरी)

फिल्म डायरेक्टर क्या होता है?

फिल्म डायरेक्टर फिल्म को डायरेक्ट करने वाला एक व्यक्ति होता है, जो किसी भी फिल्म का निर्माण करता है। अपनी देखरेख में ओर अपनी कला से फिल्म के दृश्य, किरदार इत्यादि सभी का प्रबंध और फिल्म का निर्माण करवाता है। फिल्म डायरेक्टर का वर्तमान समय में अत्यधिक क्रेज है। क्योंकि देश और दुनिया में हर रोज सैकड़ों फिल्में रिलीज होती हैं, जिनमें कुछ फिल्में करोड़ों ही नहीं बल्कि अरबों रुपए की कमाई करती है। इसीलिए फिल्म डायरेक्टर बनने का अच्छा करियर ऑप्शन देखा जा सकता है।

यदि कोई व्यक्ति बिना जानकारी के ही फिल्म डायरेक्टर बनना चाहता है, तो उन्हें फिल्म डायरेक्टर कोर्स करना होता है। इस कोर्स के अंतर्गत उन्हें फिल्म बनाना और फिल्म को डायरेक्शन करना सिखाया जाता है। इस कोर्स को करने के बाद वह व्यक्ति फिल्म डायरेक्शन के पद पर कार्य करके फिल्म डायरेक्टर बन सकता है। धीरे-धीरे कुछ समय बाद कुछ फिल्मों के बाद अनुभव बढ़ने के साथ ही उसकी सैलरी और इनकम बढ़ने लगती है।

फिल्म निर्देशन का कोर्स करने की योग्यता

कोई भी 12वीं पास अभ्यर्थी अपनी रुचि से फिल्म डायरेक्शन का कोर्स कर सकता है। लेकिन फिल्म डायरेक्शन का कोर्स करने से पहले आपको यह सुनिश्चित करना चाहिए कि क्या आपकी फिल्म निर्देशन कोर्स में रुचि है? क्योंकि बिना रुचि के कोर्स करने का कोई अर्थ नहीं है।

जिन लोगों को फिल्मी जगत में रुचि हैं, फिल्म डायरेक्टर बनाने में रुचि है, उन्हें फिल्म डायरेक्टर का कोर्स जरूर करना चाहिए। इस कोर्स को करने के बाद उन्हें फिल्म डायरेक्शन में डिप्लोमा की डिग्री मिल जाती है। फिल्म डायरेक्शन का सर्टिफिकेट मिल जाता है, जिससे वे फिल्म डायरेक्शन का कार्य कर सकते हैं।

फिल्म निर्देशन के कोर्स

फिल्म डायरेक्टर बनने के लिए अनेक सारे कोर्स होते हैं, जिन्हें आप अपनी रूचि के अनुसार कर सकते हैं। प्रत्येक कोर्स के अनुसार फिल्म डायरेक्शन का अलग नजरिया और स्वरूप होता है। क्योंकि फिल्म बनाने का एक बहुत बड़ा काम होता है, जो अलग-अलग हिस्सों में बटा होता है। इसीलिए फिल्म डायरेक्शन के अनेक सारे कोर्स होते हैं।

फिल्म डायरेक्शन के कोर्स इस प्रकार है: PG diploma in film direction, diploma in film and TV direction, BSSC in cinema, Film production course, mass communication, film making, diploma in film direction and production इत्यादि। इन सभी कोर्स को फिल्म डायरेक्टर बनने के कोर्स के अनुसार किया जाता है।

फिल्म डायरेक्शन का कोर्स कितने समय का होता है?

फिल्म डायरेक्शन का कोर्स कितने समय का होता है यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप कौन सा कोर्स कर रहे हैं। क्योंकि फिल्म डायरेक्शन के सभी कोर्स अलग-अलग समय अवधि के होते हैं। इसलिए आप जिस कोर्स को कर रहे हैं, वह कितने समय का है यह इसी पर निर्भर करता है।

बता दें कि BSSC in Film Making Course (बीएसएससी इन फिल्म मेकिंग कोर्स) को करने में 3 वर्ष का समय लगता है। जबकि डिप्लोमा कोर्स करने के लिए 1 से 2 वर्ष तक का समय लग जाता है। इसके अलावा सर्टिफिकेट कोर्स केवल 6 महीने में ही पूरा हो जाता है।

बेस्ट फिल्म डायरेक्शन कोर्स करने के इंस्टिट्यूट

जगहइंस्टीट्यूट के नाम
MumbaiWheestling Woods international
MumbaiMumbai film Institute
DelhiAJK mass communication research center
PuneFilm and television Institute of India
KolkataSatyajeet re film and television Institute of India
NoidaAsian academy of film and television
ChennaiMGR film and television academy
BengaluruGovernment film and television Institute
MumbaiDigital film academy
HyderabadAnnapurna international school of Film and Media
ChennaiLV Prasad film and television academy
DelhiCraft film school
OdishaBiju patnayak film and television Institute
MumbaiZee Institute of media arts
KeralKR Narayan National Institute of visual science and arts of keral
MumbaiIce Institute

फिल्म डायरेक्शन के कोर्स की फीस

फिल्म डायरेक्शन कोर्स की फीस अलग-अलग होती हैं। किस कॉलेज और इंस्टिट्यूट से आप फिल्म डायरेक्शन का कोर्स कर रहे हैं। यह इस बात पर निर्भर करता है। इसके अलावा कौन सा कोर्स कर रहे हैं, इसके अनुसार भी फीस निर्धारित की जाती हैं।

आमतौर पर ₹50000 से लेकर ₹500000 तक फिल्म डायरेक्शन का कोर्स करने की फीस ली जाती है। यदि आप भी ऐसे इन फिल्मेकिंग का कोर्स करना चाहते हैं तो इस कोर्स को करने पर ₹100000 की फीस देनी होती है।

अलग-अलग कॉलेज और इंस्टीट्यूट के अनुसार फीस अलग भी हो सकते हैं। सबसे कम फीस सर्टिफिकेट कोर्स को करने के लिए लगती हैं। यह फीस ₹40000 से लेकर ₹80000 तक होती है।

फिल्म इंडस्ट्री एवं डायरेक्टर के कार्य क्षेत्र

Bollywood film industriesMumbai
Tollywood film industriesTelangana
Bhojpuri film industriesGorakhpur
Marathi film industriesPune
TV serial film industriesMumbai
Web seriesOtt platform
Advertisement filmSocial media
Educational filmOtt and social media
YouTube filmsYouTube and social media
Ott filmsOTP platform

फिल्म डायरेक्टर बनने के बाद करियर ऑप्शन

फिल्म डायरेक्टर बनने के बाद करियर का ऑप्शन की किसी को चिंता नहीं करनी चाहिए, क्योंकि वर्तमान समय में फिल्म का व्यापार अत्यधिक तेजी से बढ़ रहा है। फिल्मी जगत में नए-नए आविष्कार और नई नई तकनीकी आ रही है। नई टेक्नोलॉजी से अन्य तरह की नई मशीनें बनाई गई है। इन मशीनों से फिल्मों का कार्य और अधिक आसान हो चुका है।

वर्तमान समय में फिल्म जगत पूरी तरह से बदल चुका है। आज से कुछ वर्षों पहले जो फिल्में आती थी, अब वह आनी बिल्कुल बंद हो चुकी है। वर्तमान समय में फिल्मों का नजरिया बदल चुका है, लोगों की रुचि बदल चुकी है। वर्तमान समय में एक्शन फिल्में बनाई जाती है। इन फिल्मों को बनाने के लिए अनेक सारे पैसे खर्च करने होते हैं, साथ ही ऐसे ऐसे स्टंट और कारनामे की जाते हैं, जिसके लिए नई-नई तकनीकी का इस्तेमाल किया जाता है।

वर्तमान समय में फिल्म डायरेक्टर का सबसे बड़ा रोल होता है।‌ फिल्म डायरेक्टर फिल्म को मैनेज करता है, पूरी फिल्म को बनाता है, पूरी फिल्म का प्रबंधन करता है, फिल्म डायरेक्टर फिल्म राइटर से गाने लेता है, गाने और कहानी के अनुसार किरदारों का चयन करता है।

पूरी फिल्म में कितने किरदार होने वाले हैं, कितने लोग काम करेंगे यह सब तय करता है, फिल्म किस जगह पर सूट की जाएगी, किस तरह से सीन फिल्माए जाने हैं, कौन कौन से गाने एवं पूरी तरह से एक फिल्म का निर्माण किया जाता है आदि काम डायरेक्टर का होता है।

फिल्म में सबसे ज्यादा पैसे फिल्म डायरेक्टर और फिल्म प्रोड्यूसर कमाते हैं। क्योंकि फिल्म का सबसे महत्वपूर्ण और पूरा काम फिल्म डायरेक्टर का ही होता है। इसके अलावा अगर डायरेक्टर के पास फिल्म को बनाने का पैसा नहीं है, तो उसे फिल्म प्रोड्यूसर के साथ पार्टनरशिप करनी होती हैं या फिर फिल्म प्रोड्यूसर डायरेक्टर को बड़ी सैलरी के तौर पर फिल्म डायरेक्शन का काम देता है। इसीलिए फिल्म डायरेक्टर का करियर स्कोप काफी अच्छा है।

यदि आप हाल ही में फिल्म डायरेक्टर का कोर्स किया है तो आपको फिल्म डायरेक्शन से संबंधित नौकरी प्राप्त करनी चाहिए। इसके लिए आपको बड़े-बड़े फिल्म कंपनियों के पास जाना चाहिए और वहां पर डायरेक्शन के तौर पर काम करना चाहिए। धीरे-धीरे छोटे लेवल पर छोटी फिल्में में काम करने के बाद आपको अनुभव हो जाएगा और अनुभव के बाद आप बड़े-बड़े फिल्मों का डायरेक्शन करेंगे और अपना खुद का भी डायरेक्शन हाउस बना सकते हैं।

फिल्म डायरेक्टर की सैलरी

फिल्म डायरेक्टर की कोई फिक्स सैलरी नहीं होती है, क्योंकि फिल्म डायरेक्टर को कॉन्ट्रैक्ट के आधार पर लिया जाता है। एक फिल्म, दो फिल्म, पांच फिल्म, इस तरह से। लेकिन आप फिल्म डायरेक्टर का कोर्स करने के बाद शुरुआत समय में नौकरी पर लगे हैं, तो आपको आसानी से ₹40000 से ₹50000 हर महीने मिल जाएंगे।

फिल्म डायरेक्टर अपना खुद का फिल्म डायरेक्शन हाउस खोल सकता है और खुद फिल्में बना सकता है। अगर किसी के पास पैसे नहीं है तो वे फिल्म प्रोड्यूसर को हायर कर सकते हैं या फिल्म प्रोड्यूसर के साथ पार्टनरशिप कर सकते हैं। इस तरह से फिल्म डायरेक्टर अपना खुद का बिजनेस शुरू कर सकते हैं।

वर्तमान समय में अनेक तरह की फिल्में बनाई जाती है। एक्शन फिल्में, रोमांटिक फिल्में, बायोग्राफी फिल्में, सच्ची कहानी पर आधारित फिल्में, भूतिया फिल्में, डरावनी फिल्में, एजुकेशनल फिल्में, एडवर्टाइजमेंट फिल्में, डॉक्यूमेंट्री फिल्में, कॉमेडी फिल्में, डांसिंग फिल्में, कॉलेज लाइफ, ग्रामीण लाइफ, पानी की कमी पर फिल्में इत्यादि अनेक तरह की फिल्में बनाई जाती है।

फिल्म डायरेक्टर अपने अनुसार किसी भी तरह की कोई भी फिल्में बना सकता है। वर्तमान समय में ओटीटी प्लेटफॉर्म की सुविधा भी उपलब्ध है। यानी कि आप बिना सिनेमा हॉल में फिल्म को रिलीज किए हुए मोबाइल पर भी फिल्मों को रिलीज करके करोड़ों और अरबों रुपए कमा सकते हैं। ऐसा वर्तमान समय में अनेक सारे फिल्म डायरेक्टर कर रहे हैं। ओटीटी प्लेटफॉर्म पर ऐसी फिल्में भी रिलीज कर सकते हैं, जो सिनेमाहॉल में रिलीज करने पर सेंसर बोर्ड परमिशन नहीं देता है।

यदि फिल्म डायरेक्टर अपना खुद का फिल्म डायरेक्शन का बिजनेस शुरू करता है, तो वह एक फिल्म से करोड़ों और अरबों रुपए भी कमा सकता है। डायरेक्टर की सैलरी और इनकम कोई फिक्स नहीं होती है, क्योंकि यह फिल्म पर निर्भर करती है। अगर कोई फिल्म फ्लॉप हो गई तो ज्यादा पैसा नहीं मिलेगा, लेकिन अगर कोई फिल्म हिट हो गई तो डायरेक्टर को भी अरबों रुपए मिल सकते हैं।

FAQ

फिल्म डायरेक्टर क्या होता है?

फिल्म डायरेक्टर ही फिल्म का निर्माण करता है। फिल्म को शुरू से लेकर अंत तक फिल्म डायरेक्टर है। पूरा कार्यभार संभालता है।

क्या बिना कोर्स के भी फिल्म डायरेक्टर बन सकते हैं?

हां, अपने अनुभव से और अपनी रूचि के आधार पर फिल्म डायरेक्टर बन सकते हैं। आज से कुछ वर्षों पहले किसी भी तरह का कोई भी फिल्म डायरेक्शन का कोर्स नहीं हुआ करता था। फिर भी अनेक सारे लोग फिल्म डायरेक्टर बन चुके हैं।

फिल्म डायरेक्टर की सैलरी कितनी होती है?

फिल्म डायरेक्टर के कोई फिक्स सैलरी नहीं होती है, लेकिन आमतौर पर शुरुआत में 50000 से ₹100000 महीना कमा लेते हैं। फिल्म डायरेक्टर अपने अनुभव से और फिल्म की सफलता पर लाखों करोड़ों और अरबों रुपए भी कमा सकते हैं।

फिल्म डायरेक्टर का कोर्स करने के बाद कौन-कौन सी फिल्में बना सकते हैं?

फिल्म डायरेक्शन का कोर्स करने के बाद व्यक्ति अपनी रूचि के आधार पर और अपने हुनर के आधार पर किसी भी तरह की कोई भी फिल्म, वेब सीरीज, शॉर्ट फिल्म, टेलीविजन धारावाहिक, इत्यादि कुछ भी बना सकता है।

निष्कर्ष

फिल्म डायरेक्टर बनना आसान काम नहीं होता है, क्योंकि इस कोर्स को करने में अत्यधिक मेहनत लगती है। बिना कोर्स किए इस पद पर पहुंचने के लिए भी काफी मुश्किलों और परेशानियों का सामना करना पड़ता है। फिल्म डायरेक्टर बनने के लिए व्यक्ति का खुद का हुनर होना चाहिए। क्योंकि पूरी फिल्म का निर्माण डायरेक्टर ही करता है। फिल्म की कहानी, किरदार और चरित्र से लेकर फिल्म की सफलता का फिल्म डायरेक्टर का ही रोल रहता है।

फिल्म डायरेक्टर क्या होता है?, फिल्म डायरेक्टर कैसे बनते हैं?, फिल्म डायरेक्टर का क्या काम होता है? इत्यादि सभी जानकारी विस्तार से इस आर्टिकल में हमने आपको बताई हैं। हम उम्मीद करते हैं कि यह जानकारी आपको जरूर पसंद आई होगी। यदि आपका इस लेख से जुड़ा कोई सवाल या सुझाव है तो कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

यह भी पढ़े

बैंक मैनेजर कैसे बने? (योग्यता, उम्र सीमा, प्रक्रिया, सुविधा और सैलरी)

साइंटिस्ट कैसे बने? (योग्यता, उम्र सीमा, परीक्षा, प्रक्रिया, सैलरी)

कलेक्टर कैसे बने? (योग्यता, आयु सीमा, कार्य, एग्जाम, प्रक्रिया और सैलरी)

सॉफ्टवेर इंजीनियर कैसे बने? (योग्यता, कोर्स, फीस, करियर, सैलरी)

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 4 वर्ष से अधिक SEO का अनुभव है और 6 वर्ष से भी अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहे है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जरूर जुड़े।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here