एकता के महत्व पर निबंध

Essay on the Importance of Unity In Hindi :नमस्कार दोस्तों आज के माध्यम से आप सभी लोगों को एकता के महत्व पर निबंध के विषय में बताने वाले हैं। एकता वर्तमान समय में किसी भी व्यक्ति के लिए बहुत ही आवश्यक होती है क्योंकि एकता के कारण ही आज के समय में सारी लड़ाइयों को जीता जा सकता है। जीवन में एकता का होना बहुत ही महत्वपूर्ण है और यदि एकता के महत्व को समझ लेते हैं तो हम जीवन में बहुत कुछ अच्छा कर सकते हैं।

Essay-on-the-Importance-of-unity-in-hindi-
Image : Essay on the Importance of unity in hindi

इतना ही नहीं यदि हम किसी भी कार्य को अकेले नहीं कर पाते, तो हम उसी काम को एकता की शक्ति के साथ बड़ी ही आसानी से कर सकते हैं। एकता की शक्ति से बहुत कुछ बड़ी ही आसानी से प्राप्त किया जा सकता है। यदि आप सभी लोग एकता के महत्व पर निबंध जानना चाहते हैं, तो हमारे द्वारा लिखा गया यह महत्वपूर्ण लेख तक अवश्य पढ़ें।

Read Also: हिंदी के महत्वपूर्ण निबंध

एकता के महत्व पर निबंध | Essay on the Importance of Unity In Hindi

एकता के महत्व पर निबंध (250 शब्द)

एकता मानव जाति को सभी ऊंचाइयों के पथ पर अग्रसर करती है। एकता मानव जीवन को बहुत ही शुभम और आसान बना देती है। एकता के कारण ही वर्तमान समय में ज्यादातर लड़कियों को जीता जा रहा है और मानव जाति में एकता का होना बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण है। ऐसा कहा जाता है कि यदि हम काम को करते समय एकता के महत्व को समझ लेते हैं, तो हर एक काम बड़ी ही आसानी से किया जा सकता है।

कोई भी इंसान हो चाहे जितनी भी मेहनत कर ले वह तब तक सफल नहीं हो पाता जब तक उसके अंदर एकता नहीं होगी। यही कारण है कि बड़े-बड़े इंडस्ट्रियल्स भी अपनी सफलता के पीछे खुद के साथ-साथ अपने परिवार वालों और अपने कर्मचारियों का हाथ बताते हैं।

दोस्तों हम कोई भी काम करने के बारे में सोचते हैं तो वह हमें शुरुआती में तो नामुमकिन लगता है परंतु यदि उस काम को हमारे साथ कुछ लोग मिलकर करते है तो उसी काम को करना हमारे लिए बहुत ही आसान हो जाता है और हम लोगों के साथ एकता के साथ काम करके उस काम में बहुत ही जल्द सफल भी हो जाते।

दोस्तों एकता का महत्व वास्तव में हमारे जीवन में बहुत ही ज्यादा है और हमें सदैव एकता के साथ ही काम करना चाहिए। जीवन की हर एक मुश्किल से यदि एकता के साथ लड़ा जाए, तो वह जरूर दूर होती हैं। एकता के दम पर ही आज पूरा संसार टिका हुआ है।

जो कोई भी व्यक्ति एकता के महत्व और शक्ति को समझता है वह शख्स कार्य करके अपने जीवन में बहुत कुछ प्राप्त कर लेता है और बड़ी-बड़ी कंपनियां भी इसी एकता के शक्ति पर टिकी हुई है। एकता को लेकर हमारे भारत में ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में बहुत से उदाहरण दिए जाते हैं और जिसमें कई कंपनियों के नाम भी आते हैं।

एकता शक्ति के कारण हम अपने सभी दुश्मनों को बड़ी आसानी हरा सकते हैं और यदि हम अकेले होंगे तो कोई भी व्यक्ति आसानी से हमें डरा कर चला जाएगा और हमें हरा भी सकेगा। हमेशा एकता में ही रह कर काम करना चाहिए।

एकता के महत्व पर निबंध (850 शब्द)

प्रस्तावना

दोस्तों हम कोई भी काम करने के बारे में सोचते हैं तो वह हमें शुरुआती में तो नामुमकिन लगता है, परंतु यदि उस काम को हमारे साथ कुछ लोग मिलकर करते है तो उसी काम को करना हमारे लिए बहुत ही आसान हो जाता है और हम लोगों के साथ एकता के साथ काम करके उस काम में बहुत ही जल्द सफल भी हो जाते है।

हम सभी लोग यह समझ सकते हैं कि एकता में इतनी शक्ति है कि इसके सामने हर एक काम आसान हो जाता है। प्राचीन समय में हमारे वीर राजपूताना शासक कोई भी युद्ध लड़ने जाते थे तो अपने परिवार वालों और अपने सैनिकों की सैन्य बल शक्ति और एकता के साथ जाते थे और यही कारण था कि हमारे ज्यादातर राजपूताना शासक जीतते ही रहे।

एकता की आवश्यकता

दोस्तों दुनिया में हर एक व्यक्ति एकता की शक्ति से भलीभांति अवगत है और यही कारण है, कि ज्यादा से ज्यादा लोग एकता में ही रहना चाहते हैं। दोस्तों आपका परिवार कितना बड़ा है यह नहीं मायने रखता बल्कि मायने यह रखता है, कि आप और आपका परिवार कितना ज्यादा एकजुट है।

यदि आप अपने परिवार के साथ एकजुट होकर रहते हैं तो आप को हानि पहुंचाना किसी भी व्यक्ति के पास में नहीं है। हम आपको उदाहरण के तौर पर बताएं तो बड़े-बड़े उद्योगों में श्रमिक लोग इसी संगठन बल के कारण ही अपनी मांगों को पूरा करवाते हैं। यदि लोक संगठित नहीं होंगे तो पूंजीपति और अमीर लोग उन्हें अपना शिकार बना लेंगे और उनसे कम पैसे में ही अधिक मेहनत करवाएंगे।

इन्हीं सभी का बातों को ध्यान में रखते हुए संगठित रहना बहुत ही ज्यादा आवश्यक है। दोस्तों आपकी संस्था चाहे कोई भी हो यदि आप संगठित नहीं रहते तो आपका कोई भी कार्य पूरा नहीं हो सकता। यदि आपको अपने काम में हमेशा विजई घोषित होना है तो आपको हमेशा संगठित रहना होगा और अपने संगठन के हर एक व्यक्ति की बातों पर अमल भी करना होगा।

एकता का महत्व

एकता का महत्व बहुत ही अनमोल है इसे शब्दों में बयान नहीं किया जा सकता। जिस प्रकार जल की बूंदें एक-एक करके तालाब का रूप ले लेती हैं, ठीक उसी प्रकार यदि इंसान भी संगठित होने लगे तो वह कभी भी नहीं हारेगा।

एक एक व्यक्ति एक दूसरे के साथ जोड़कर बहुत ही बड़ा संगठन तैयार कर सकते हैं और एक संगठन किसी भी चट्टान को भी हिलाने में मददगार होगी अर्थात आप यह समझ सकते हैं कि संगठित रहकर आप सभी लोग कोई भी कार्य कर सकते हैं और बड़ी ही आसानी से उसे सफलता भी प्राप्त कर सकते।

दोस्तों सफलता पाने के लिए हम सभी लोगों को हमेशा एकजुट होकर रहना चाहिए और एकता के बल को लोगों तक पहुंचाना भी चाहिए।

एकता के कुछ उदाहरण

उदाहरण 1

एक बार कबूतरों का एक झुंड भोजन की तलाश में उड़ता हुआ जा रहा था। कहीं पर एक जगह शिकारी ने पक्षियों को पकड़ने के लिए जाल बिछाकर वहां पर दाने डाले थे। कबूतरों की नजर अचानक दानों पर पड़ती है और वे सब अपनी भूख मिटाने के लिए दाने चुगने के लिए आ जाते हैं।

उन्हें यह नहीं पता था कि उन्हें पकड़ने के लिए जाल बिछाया गया है। दाने चुगते हुए सभी कबूतर जाल में फंस जाते हैं और वह फड़फड़ाने लगते हैं। अनेकों कोशिशों के बाद भी वहां से नहीं निकल सके और फिर उनके सरदार ने सबसे कहा कि यदि हम सभी लोग एक साथ मिलकर उड़ान भरेंगे, तो हम इस जाल को भी लेकर उड़ सकेंगे।

सभी लोगों ने उस पर अमल की और एक साथ ही उड़ान भरी और जाल लेकर उड़ गए वह शिकारी देखता ही रह गया। पता इस कहानी से सीख मिलती है कि एकता में इतनी बल है कि हम कोई भी काम आसानी से कर सकते हैं।

उदाहरण 2

मिलजुल कर कार्य करना और रहना शक्ति को ही संकेत करता है और यह एक तरह से एकता का ही उदाहरण है। एक गांव में बूढ़ा व्यक्ति रहता था, जो लकड़ी का काम किया करता था। एक बार अचानक से उस व्यक्ति की तबीयत बिगड़ जाती है और वह बिस्तर पर पड़ जाता है। उस व्यक्ति के पांच बेटे होते हैं, जो हमेशा आपस में लड़ा करते थे। उन सभी के पिता इन से परेशान होकर उन्हें सबक सिखाने के लिए एक बार अपने पास बुलाता है और पांचों को जंगल से जाकर दो दो लकड़ी लाने को कहता है।

सभी लड़के लकड़िया लेकर आते हैं और बूढ़ा आदमी उनसे कहता है सभी लोग एक-एक लकड़ियां तोड़ो। सभी अपना जोर दिखाने लगते हैं और लकड़ियों को तोड़ देते हैं। अब बूढ़े आदमी ने पांचों लकड़ियों को एक साथ लगा दिया और फिर एक एक को उसे तोड़ने को कहा, परंतु वह लकड़ी का गट्ठर किसी से भी नहीं टूटा।

बूढ़े आदमी ने फिर उन्हें बताया कि ठीक इसी प्रकार यदि तुम आपस में ही लड़ते रहोगे तो कोई भी तुम्हें आसानी से दौड़ सकेगा और यदि तुम सब एक साथ मिलजुल कर रहोगे तो तुम्हें हराना किसी के भी बस में नहीं होगा। अतः इस कहानी से हमें यह सीख मिलती है, कि मिलजुल कर रहने से हम बड़े से बड़ा दुश्मन भी हमारा कुछ नहीं कर पाएगा।

निष्कर्ष

दोस्तों इस निबंध को पढ़ने के बाद हमें यही सीख मिलती है, कि एकता में ही बल है, अर्थात यदि हम सभी लोग एक साथ मिलकर रहेंगे तो पड़ोसी देश या फिर कोई भी हम पर आक्रमण करने से डरेगा। किसी भी जंग को जीतने के लिए हमें सैन्य बल की नहीं बल्कि एकता की आवश्यकता होती है और एकता से हम किसी भी जंग को बड़ी ही आसानी से जीत सकते हैं।

अंतिम शब्द

हम आप सभी लोगों से उम्मीद करते हैं, कि आप सभी लोगों को हमारे द्वारा लिखा गया यह महत्वपूर्ण निबंध अवश्य ही पसंद आया होगा, यदि आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह महत्वपूर्ण निबंध वाकई में पसंद आया हो, तो कृपया इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना बिलकुल भी ना भूलें और यदि आपके मन में इस आर्टिकल को लेकर किसी भी प्रकार का कोई सवाल या फिर सुझाव है, तो कमेंट बॉक्स में हमें जरूर बताएं।

Read Also :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here