रेलवे स्टेशन पर निबंध

Essay on Railway Station in Hindi: नमस्कार दोस्तों, आज हम बात करने जा रहे हैं रेलवे स्टेशन के बारे में। रेलवे स्टेशन तो हर कोई जाता ही होगा, क्योंकि घूमना सभी को पसंद होता है। तो आइए रेलवे स्टेशन के बारे में कुछ रोचक तथ्य जानते हैं, जो शायद आपने पहले कभी नहीं सुने होंगे।

Essay on Railway Station in Hindi
Image: Essay on Railway Station in Hindi

Read Also: हिंदी के महत्वपूर्ण निबंध

रेलवे स्टेशन पर निबंध | Essay on Railway Station in Hindi

रेलवे स्टेशन पर निबंध (200 शब्द)

रेलवे स्टेशन एक ऐसी जगह होती है, जहां पर ट्रेनों की आवाजाही लगी रहती है। ट्रेन का काम होता है, यात्रियों को इधर से उधर ले जाना, उनके गंतव्य स्थान पर पहुंचाना। ट्रेन सामान ढोने का काम भी करती है। रेलवे स्टेशन एक ऐसी जगह होती है, जहां पर हमें छोटी-छोटी दुकानें भी देखने को मिलती है।

रेलवे स्टेशन पर एक वेटिंग रूम भी होता है, जहां पर लोग ट्रेन के आने का वेट कर सकते हैं। जब भी हम रेलवे स्टेशन के बारे में सोचते हैं तो हमारे मन में एक चलचित्र बन जाता है, जिसमें हमें पूरा स्टेशन दिखाई देने लगता है। रेलवे स्टेशन पर अक्सर हमें अलग-अलग तरह के लोग दिखते हैं। यहां पर हर वक्त सामान बेचने वाले और फेरी वालों को चिल्लाते हुए देखने को मिल जाते हैं।

रेलवे स्टेशन पर खाने, उपयोगी सामान और विभिन्न चीजों की लगातार बिक्री होती है। रेलवे स्टेशन एक ऐसी महत्वपूर्ण जगह है, जहां से लोगों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाने की सुविधा प्रदान की जाती है। यहां पर एक टिकट काउंटर भी होता है, जहां से आप अलग-अलग जगह पर जाने के लिए टिकट को बुक करवा सकते हैं।

ज्यादातर रेलवे स्टेशनों पर हमें छोटी-छोटी दुकानें दिखाई देती हैं। जैसे चाय की दुकान, किताबों की दुकान, रेलवे स्टेशन पर किताबों की दुकान इसलिए खोली जाती है, क्योंकि कई लोग सफर के दौरान पढ़ना पसंद करते हैं, तो वहां से बुक ले कर गए पढ़ सकते हैं और सफर को आराम से बिता सकते हैं। रेलवे स्टेशन पर चाय, नाश्ते की दुकानें भी होती हैं, जिससे यात्रियों को खाने पीने की दिक्कत नहीं होती।

एक रेलवे स्टेशन से कई मार्ग की ट्रेनें होकर गुजरती हैं, जिस मार्ग की ट्रेन होगी उसी ट्रेन में लोग सफर करके अपने गंतव्य स्थान पर पहुंचते हैं। दूसरी ओर कुछ लोग अपने घर आने वाले मेहमानों की प्रतीक्षा कर रहे होते हैं या अपने परिवार वालों की प्रतीक्षा करते हैं, उनको रेलवे स्टेशन पर लेने आते हैं। इसी तरह से रेलवे स्टेशन पर अलग-अलग स्तिथी अलग-अलग नजारे देखने को मिलते हैं। इन सब नजरों से लोगों को बहुत आनंद मिलता है।

रेलवे स्टेशन पर निबंध (850 शब्द)

प्रस्तावना

आजकल हमें हर जगह छोटे या बड़े शहरों में या गांव में भी रेलवे स्टेशन देखने को मिल जाते हैं। सरकार ने सभी की सहूलियत को समझते हुए हर जगह रेलवे स्टेशन ट्रेनों की व्यवस्था की हुई है। इन रेलवे स्टेशन पर उनके मर्यादा अनुसार प्लेटफार्म भी बने होते हैं, जहां छोटे रेलवे स्टेशन होते हैं। वहां पर कम प्लेटफार्म होते हैं और जहां पर बड़े रेलवे स्टेशन होते हैं, वहां पर ज्यादा प्लेटफार्म होते हैं।

ट्रेन स्टेशन पर आजीविका

यह एक ऐसी जगह है, जहां पर भिन्न प्रकार के लोग दिखाई देते हैं। यहां आप किसी भी समय विक्रेताओं को देख सकते हैं, यहां पर आपको हर प्रकार की खाने की चीजें भी मिल सकती है। कुछ वस्तुए ऐसी होती हैं, जिनकी निरंतर बिक्री होती रहती है अर्थात रेलवे स्टेशन पर लोगों की आजीविका बहुत ही आरामदायक होती है। वहां पर लोगों को किसी भी चीज की परेशानी नहीं होती है।

कई ट्रेनों को यात्रियों के हिसाब से इस तरह से तैयार किया जाता है कि ट्रेन में हर तरह की सुविधा मिल जाती है। जैसे कोई लंबे सफर की ट्रेन है तो हमें उसमें खाने पीने की, सोने की हर तरह की व्यवस्था उपलब्ध कराई जाती है, जिसकी वजह से यात्रियों को सफर करने में दिक्कत नहीं होती है।

रेलवे स्टेशन की सुविधा

आजकल रेलवे स्टेशन पर हमें हर तरह की सुविधा उपलब्ध होती है, छोटी से लेकर बड़ी तक, चाहे कोई छोटा रेलवे स्टेशन हो या बड़ा रेलवे स्टेशन। हमें चाय की दुकान तो हर स्टेशन पर मिल ही जाती है। किसी तरह से बड़े स्टेशनों पर हमें कई प्रकार की सेवाएं उपलब्ध होती हैं जैसे कि वेटिंग रूम बैठने के लिए, बेंच, एटीएम मशीन, खाने की सभी वस्तुएं इत्यादि कई तरह की सेवाएं आसानी से उपलब्ध होती हैं।

हर दिन लाखों लोग सफर करते हैं। उनके सफर को आरामदायक बनाने के लिए सरकार ने ट्रेन को अच्छी तरह से सुसज्जित और व्यवस्थित कर रखा है।

ट्रेन स्टेशन सेवा में प्रगति डिजिटलकरण की ओर बढ़ती है

देखा जाए तो आज कल की ट्रेन स्टेशन सेवा में बहुत ही प्रगति हो चुकी है। सरकार ने बहुत-सी ऐसी नई तकनीकी की शुरुआत की है, जिससे लोगों को आवाजाही करने में दिक्कत नहीं होती है। सरकार ने पर्यटकों को अच्छी से अच्छी सुविधाएं प्रदान की हुई हैं, जिसमें पहली स्थिति में वर्तमान स्थितियों और सेवाओं में कई सुधार आ चुका है।

भारतीय रेलवे लोगों की यात्रा आसान बनाने के लिए बहुत अच्छी सुविधाएं उपलब्ध कराई हुई है। हमें ट्रेन में शौचालय, खाने पीने की चीजें, इत्यादि हर तरह की सुविधा मिल जाती है, जिससे लोगों का सफर आसान रहता है और सरकार निरंतर प्रयास करके वर्तमान स्थितियों में सुधार लाकर सुविधा को डिजिटलकरण बनाने में लगी हुई है।

भारतीय रेलवे का निजीकरण होने का लाभ

  • सरकार ने भारतीय रेलवे को और बेहतर बनाने के लिए निजी करण कंपनियों को सौंप दिया है, जिससे उन पर बेहतर ढंग से काम किया जा सके और भारतीय रेलवे प्रणाली में सुधार आ सके।
  • रेलवे स्टेशन को बहुत साफ सुथरा रखा जाता है।
  • यात्रियों को अधिक सुविधाएं और सुरक्षा दी जाती है।
  • जैसे-जैसे बुनियादी ढांचों में सुधार होगा, यह ट्रेनों को समय पर आने में मदद करती है।

भारतीय रेलवे का निजीकरण होने के नुकसान

  • जब से सरकार ने भारतीय रेलवे को निजी करण कंपनियों को सौंपा है। तब से सरकारी नौकरियां खत्म सी हो गई हैं, क्योंकि जितनी भी निजी कंपनियां होती हैं। वह लोगों को अधिक पैसा देकर रोजगार देने में विश्वास रखती हैं।
  • ज्यादा किराया एक आम आदमी और गरीब लोगों के लिए बहुत मुश्किल से हो जाता है।
  • यह भी होगा कि सरकारी रेल में देरी हो सकती है, क्योंकि निजी रेलगाड़ियों को पहले निकलने के लिए सिग्नल दिया जाएगा।

अब सौर ऊर्जा का इस्तेमाल करके रेलवे स्टेशन पूरी तरह से विद्युत विकृत हो जाएंगे

90 साल से भारतीय रेलवे को बिजली के द्वारा चलाया जा रहा है। इससे पहले भारतीय रेल को कोयले के द्वारा चलाया जाता था। लेकिन अब नई तकनीकी के कारण भारतीय रेलवे को सौर ऊर्जा के द्वारा चलाया जाता है। इससे बहुत ज्यादा लाभ होते हैं और भारतीय रेलवे ने बहुत से विकास कर लिए हैं। सौर ऊर्जा के इस्तेमाल से कार्बन उत्सर्जन भी कम हो जाता है और लोगों को हानि भी नहीं पहुंचती है।

निष्कर्ष

इस तरह से हमारे भारतीय रेलवे ने बहुत प्रगति कर ली है, जिसके चलते यात्रियों को ट्रेन में सफर करना बहुत ही आसान हो गया है। टिकट प्रणाली भी ऑनलाइन मीडिया में परिवर्तित की जा चुकी है। अब कहीं भी ऑनलाइन मीडिया के साथ बहुत सरलता से आदेश दिया जा सकता है। आज के ट्रेन आगमन और प्रस्थान की स्थिति के बारे में जानकारी स्टेशन पर बड़ी स्क्रीन पर उपलब्ध होना आसान है।

अंतिम शब्द

हम उम्मीद करते हैं कि आपको यह “रेलवे स्टेशन पर निबंध (Essay on Railway Station in Hindi)” पसंद आया होगा, इसे आगे शेयर जरुर करें। आपको यह निबन्ध कैसा लगा, हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

यह भी पढ़े

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here