जन धन योजना पर निबंध

Essay on Jan Dhan Yojana in Hindi: भारत देश में बहुत सारी योजनाएं दिन प्रतिदिन चलाई जा रही है। जिसमें एक प्रमुख योजना जनधन योजना भी शामिल है, जो प्रधानमंत्री द्वारा साल 2015 में चलाई गई। हम यहां पर जन धन योजना पर निबंध शेयर कर रहे है। इस निबंध में जन धन योजना के संदर्भित सभी माहिति को आपके साथ शेअर किया गया है। यह निबंध सभी कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए मददगार है।

Essay on Jan Dhan Yojana in Hindi

Read Also: हिंदी के महत्वपूर्ण निबंध

जन धन योजना पर निबंध | Essay on Jan Dhan Yojana in Hindi

जन धन योजना पर निबंध (250 शब्द)

भारत के हर क्षेत्र में लोग पूंजी बचाने के लिए जागरूक हो, इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा जन धन योजना की शुरुआत हुई। 28 अगस्त 2014 को इस योजना की शुरुआत मुद्रा बचाने के उद्देश्य में किया गया। गरीब और छोटे क्षेत्र में रहने वाले व्यक्ति को पैसा बचने के लिए ये कार्यक्रम चालू किया गया।

प्रधानमंत्री द्वारा भारत को स्वतंत्र और आत्मनिर्भर बनाने के लिए, यह योजना बहुत काम आती है। जन धन योजना में जुड़े हर व्यक्ति को खराब परिस्थिति में आर्थिक मदद की जाती है। गांव के लोग और गरीब लोग अपना खाता बैंक में नहीं खुलवा पाते हैं और उनकी जमा पूंजी भी इतने ही होती है कि वह मुद्राओं को जमा कर सकें। परंतु प्रधानमंत्री द्वारा निकाले गए इस योजना में अपनी स्थिति के अनुसार मुद्रा जमा किया जा सकता है। भारत के लोगों को इससे बहुत फायदा हुआ है। इस योजना का उद्देश्य यह है कि सभी भारतीय लोगों के पास अपना एक बैंक खाता होगा तो सब पैसों की बचत को समझ पाएंगे।

इस योजना के बारे में हर किसी को पता हो इसलिए प्रधानमंत्री 15 अगस्त 2015 में लाल किले में तिरंगा फहराने के बाद लोगों को संबोधित करते हुए इसके बारे में सभी को बताया था। प्रधानमंत्री जन धन योजना लोगों के हित में बनाया गया कार्यक्रम है। इस योजना के शुरुआती दिन में ही करोड़ों बैंक खाते लोगो के लिए खोले गए। यह योजना सभी भारतीय को एक साथ जोड़ने का कार्य करती है। इसकी मदद से भारत की आर्थिक परिस्थिति में सुधर आया है।

जन धन योजना पर निबंध (800 शब्द )

प्रस्तावना

जन- धन योजना को प्रधानमंत्री जन- धन योजना भी कहा जाता हैं। बैंक खाता और बचत के लिए भारत के सभी लोग को जोड़ने के लिए लोगों की एक मुद्रा स्कीम के रूप में 28 अगस्त 2014 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा इसकी शुरुआत की गई। लोगों की मुद्रा बचत योजना जन- धन योजना हैं।

यह वास्तव में ग्रामीण क्षेत्र मैं रहने वाले आम लोगों के लिए कुछ अवसर बनाने के लिए लोगों की एक संपत्ति योजना प्रधानमंत्री द्वारा शुरू कि गई योजना हैं। यह जन धन योजना गरीब लोगों को धन को बचाने के लिए सक्षम बनाने वाली योजना हैं। यहां रहने वाले लोगों को सही मायने में स्वतंत्र बनाना ही स्वतंत्र भारत का उद्देश्य हैं।

जनधन योजना का उद्देश्य

भारत जो कि अपने ग्रामीण क्षेत्रों में पिछडे लोगों के कारण अभी तक विकासशील देशों में गिना जा रहा हैं। उच्च शिक्षा का अभाव, असमानता तथा सामाजिक भेदभाव आदि सामाजिक मुद्दों के कारण भारत में गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले लोगों की संख्या उच्च हैं। यह बहुत जरूरी है कि हमारे मैं पैसे बचाने की आदत होनी चाहिए। इसके बारे में लोगों में जागरूकता उत्पन्न करना ताकि आने वाले समय में कुछ बेहतर करने के लिए हमारे पास धन हो।बचत हम इसलिए करते हैं ताकि हमारे बुरे समय में हमें किसी के सहारे की जरूरत ना पड़े। सभी भारतीय लोगों के के पास यदि अपना खाता होगा तो हममें बचत की भावना बढ़ेगी।

जन धन योजना की शुरुआत

इसके लिए जन-धन योजना बनाई गयीं। सुरक्षित तरीके से पैसे की बचत करने के उद्देश्य से नरेंद्र मोदी ने जनधन योजना प्रारंभ किया। लाल किले पर राष्ट्र को संबोधित करने के दौरान 15 अगस्त 2015 को उन्होंने इस योजना की घोषणा की हालांकि इसकी शुरुआत 2 हफ्ते बाद हुई। इस योजना के प्रारंभ वाले दिन ही एक करोड़ से ज्यादा खाते खोले गए।

भारत में अंतिम स्तर तक विकास लाने के लिए मुद्रा बचत योजना बहुत ज्यादा जरूरी हैं। जिससे कि ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले लोगों में बचत की भावना उत्पन्न करने तथा उन्हें प्रोत्साहित करके प्राप्त की जा सकती हैं। खास तौर से भारत के गरीब लोगों को खोले गए खाते के सभी लाभ को देना। बैंक खाते से उनको जोड़ने के लिए पैसा बचत के लिए जन धन योजना प्रारंभ की गई।

भारतीय स्वतंत्रता दिवस के बाद 28 अगस्त को पीएम मोदी ने इस योजना की शुरुआत की गई। बैंक से उसके लाभ से सभी भारतीय लोगों को जोड़ने के लिए एक राष्ट्रीय चुनौती के रूप में खाता खोलने वाली मुद्रा बचत योजना का प्रारंभ किया गया। इस योजना को सफल बनाने के लिए बहुत सारे कार्यक्रमों को लागू किया गया हैं।

बैंक खातों के महत्व के बारे में जागरूक बनाने के लिए बैंक खाता खोलने के फायदे और प्रक्रिया के बारे में उनको समझाने और लोगों के दिमाग को इस ओर खींचने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में लगभ 60,000 नामांकन कैंप लगाये गए।

जन धन योजना की हानियाँ

हर प्रकार की योजना जिसका फायदा होता है, तो उसका उल्टा नुकसान भी होता है। प्रधानमंत्री जन धन योजना के भी कुछ दुष्प्रभाव सामने आए हैं। जो नीचे निम्नलिखित रुप से दिए गए हैं।

1.जन धन योजना के माध्यम से करोड़ों लोग एक साथ जुड़ गए इसकी वजह से सभी लोगों का डाटा बैंक द्वारा रखना भी काफी मुश्किल हो रहा है।

2.जन धन योजना के माध्यम से होने वाले ट्रांजैक्शन का भी के नियम रखना काफी मुश्किल हो रहा है। यह इस योजना का दुष्प्रभाव है।

3.जनधन योजना का देश की अर्थव्यवस्था पर काफी बुरा प्रभाव पड़ा है।

4.जन धन योजना के माध्यम से ऋण देने वाले लोगों को न्यूनतम राशि ऋण के रूप में प्रदान कराई जाती है।

जन धन योजना की मुख्य सेवाएं

केंद्र सरकार द्वारा चलाई जाने वाली जन धन योजना के माध्यम से खाता धारक के बैंक अकाउंट में ₹30000 की न्यूनतम राशि का जीवन बीमा प्रदान कराया जाता है। साथ ही साथ इस योजना के माध्यम से ₹100000 का दुर्घटना बीमा भी उपलब्ध करवाया जाता है।

सरकार द्वारा चलाई गई योजना का मुख्य फायदा गरीबों को हुआ है। गरीबों को इस योजना के माध्यम से हर 6 महीने के अंतराल में ₹5000 की लोन राशि उनकी बैंक अकाउंट में उपलब्ध करवाई जाती है। यदि लाभार्थी लोन लेना चाहता है। तो वह जन धन योजना के माध्यम से इस धनराशि को उठा सकता है।

प्रधानमंत्री जनधन योजना का एक और मुख्य फायदा यह है। कि इस योजना के तहत 10 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों का भी बैंक अकाउंट खोला जा सकता है और बैंक में न्यूनतम बैलेंस के रूप में आपको जीरो राशि रखनी जरूरी है।

निष्कर्ष

प्रधानमंत्री द्वारा चलाई जाने वाली जन धन योजना के माध्यम से करोड़ों लोगों का बैंक अकाउंट खुला है। जन धन योजना चलने से पहले देश की आधी जनसंख्या जिनका बैंक में खाता नहीं था। लेकिन जन धन योजना चलाने के पश्चात देश के अधिकतम लोगों का बैंक में खाता रजिस्टर हो गया है। जन धन योजना बैंक अकाउंट के माध्यम से लोगों को सरकारी योजनाओं का फायदा डायरेक्ट मिलता है।

अंतिम शब्द

जनधन योजना का बहुत ज्यादा फायदा देश की जनसंख्या को मिला है। देश में रहने वाले गरीब लोगों को इस योजना का मुख्य रूप से फायदा मिला है। आज का यह आर्टिकल जिसमें हमने जन धन योजना पर निबंध ( Essay on Jan Dhan Yojana in Hindi) के बारे में जानकारी आप तक पहुंचाई है। हमें उम्मीद है, कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी। यदि किसी व्यक्ति को इस आर्टिकल से जुड़ा कोई सवाल है। तो वह हमें कमेंट के माध्यम से बता सकता हैं।

Read Also:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here