भारत की संस्कृति पर निबंध

Essay on Indian Culture in Hindi: भारतीय संस्कृति पूरे विश्व में काफी पसंद की जाती हैं। भारत की कला और संस्कृति देखने के लिए लोग दूसरे देशों से आते हैं।

Essay on Indian Culture in Hindi
Image: Essay on Indian Culture in Hindi

हम यहां पर अलग-अलग शब्द सीमा में भारत की संस्कृति पर निबंध (Essay on Indian Culture in Hindi) शेयर कर रहे हैं। यह निबन्ध सभी कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए मददगार साबित होंगे।

Read Also: हिंदी के महत्वपूर्ण निबंध

भारत की संस्कृति पर निबंध | Essay on Indian Culture in Hindi

भारत की संस्कृति पर निबंध (250 शब्द) 

जिस तरह से हमारा भारत महान हैं, उसी तरह हमारे देश की संस्कृति भी महान हैं और विश्व में इस संस्कृति को काफी पसंद किया जाता हैं। हमारे देश की संस्कृति आज की नहीं वरन काफी पुरानी हैं। लगभग 5000 हजार से भी अधिक पुरानी हैं हमारे देश की संस्कृति। विविधता में एकता यह कथन हमारी संस्कृति के लिए काफी आम हैं। इस कथन को हम काफी बोलते, सुनते हैं।

हमारे देश में विभिन्न धर्म और जाति के लोग रहते हैं, उसके बावजूद हामारी देश की संस्कृति एक है और यहां पर सभी धर्मो के त्यौहार सब धूम-धाम से मनाते हैं। भारत में हम सब हमारी देश की संस्कृति का सम्मान करते हैं।

भारत की संस्कृति का गुणगान तो सात समुन्द्र पार विदेशों में भी किया जाता हैं। वहां के लोग हमारी संस्कृति, वेशभूषा इत्यादि काफी पसंद करते हैं। विदेशों में लोग हमारे यहां के कपड़े विशेषतौर पर हमारे देश की साड़ी को भी विदेश में काफी पसंद करते हैं।

हमारे देश में घूमने और भारत की संस्कृति को देखने के लिए लोग विदेशों से आते हैं। मुख्यतौर पर अमेरिका, कनाडा इत्यादि देश। भारत में कई देशों से पर्यटक आते हैं।

भारत की संस्कृति पर निबंध (800 शब्द) 

प्रस्तावना

भारत की संस्कृति पुरे विश्व में मशहूर हैं। हमारे देश की संस्कृति, यहां की वेशभूषा और रहन- सहन काफी अच्छे हैं, जिसे देश के लोग और विदेश से आने वाले लोग भी काफी पसंद करते हैं। भारतीय संस्कृति के बारे में इतना ही कहना काफी नहीं हैं कि यह केवल एक संस्कृति हैं। यह एक संस्कृति मात्र नहीं हैं बल्कि यह भारत की एक विशेष पहचान हैं।

भारत की संस्कृति में यहां का लोक संगीत, देश भर में फैली खूबसूरत वादियाँ और यहां के लोगों का रहन-सहन ही हमारे देश की संकृति की पहचान हैं। हमें एक भारतीय होने के नाते हमारे देश की इस संस्कृति पर हमें गर्व हैं। हम हमारे देश की संस्कृति पर गर्व करते हैं। हमारे देश की संस्कृति को बनाये रखने के लिए यहां के लोगों ने आजादी से पूर्व काफी संगर्ष किये है। हम आज भी प्रयासरत हैं कि हमारे देश की संस्कृति की दुनिया में और भी पहचान बने।

भारत की संस्कृति की विदेश में हैं विशेष पहचान

भारत की संस्कृति के बारे में यह कहना सही नहीं हैं, यह केवल भारत की ही संस्कृति हैं। भारत की संस्कृति को विदेश में भी लोग काफी पसंद करते हैं। भारत की संस्कृति की पहचान तो विदेश में भी हैं। अमेरिका, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया जैसे देश के लोग भारत में भारत की संस्कृति देखने आते हैं।

भारत की संस्कृति विदेशों में काफी पसंद की जाती हैं। विदेश में महिलाएँ भारतीय साड़ी पहनती हैं तो लोग भारतीय पोषक विशेष राजस्थानी विशेष पहन कर भारत की संस्कृति के प्रति प्यार दिखाते हैं।

भारत की संस्कृति प्राचीन समय से ही जानी जाती हैं। भारत की संस्कृति कृषि प्रधान देश हैं। विश्व में जब प्राचीन संस्कृतियों की खोज चल रही थी, उस समय और उससे पहले भी भारत की संस्कृति विद्यमान थे।

कई मेलों और त्योहारों का संगम हैं हमारा देश

भारतीय संस्कृति की सबसे खूबसूरत बात तो हमें इस बात में देखने को मिलती हैं कि हमारे देश में कई त्यौहार बड़े धूम धाम से और एकता के साथ मनाये जाते हैं। ईद, दिवाली, क्रिशमस, लोहड़ी, पोंगल इत्यादि और भी कई त्यौहार हम एक साथ और सामाजिक सद्भावना के साथ मानते हैं। होली के दिन हम सभी एक साथ रंगों से खेलते हैं और हमारे साथ देश का हर एक नागरिक होली खेलता हैं फिर चाहे वो किसी भी धर्म से हो। इन सब के साथ और भी कई त्योहारों को हम साथ-साथ मानते हैं।

दिसम्बर के महीने में हम क्रिश्मस भी सब के साथ मानते हैं और साल की अंतिम रात नए साल का इन्तजार भी बड़ी बेसब्री से करते हैं। हिन्दुस्तान में कई त्यौहार और पर्व एक साथ मानते हैं। साथ खाते हैं और जीवन का आनंद लेते हैं। यही हमारे देश की संस्कृति की ख़ूबसूरती हैं।

कला और नृत्य के लिए विश्व प्रशिद्ध

हमारे देश में कला और संस्कृति के कलाकारों की कमी नहीं हैं। हम जिस देश में निवास करते हैं, उसे भारत कहते हैं। भारत यानी भरत का देश। हमारे राष्ट्र में कलाकरों को काफी सम्मान दिया जाता हैं। देश में कई ऐसे कलाकार हैं जिन्होंने अपनी स्किल से अपनी पहचान विदेश तक बनाई हैं।

देश के कलाकार विश्व के अन्य देशों में जाकर अपनी कला और कृति की जलख दिखाते हैं। भारत देश के नागरिक जो भी बाहर जाते है या दूसरे देशों में व्यापर करते हैं वो अपनी संस्कृति को कभी नहीं भूलते हैं। विदेश में भी अपनी संस्कृति की कला के बारे में लोगों को अवगत करते हैं।

हिन्दुस्तान की कला और संस्कृति देखने के लिए लोग काफी दूर विदेशों से आते हैं। विदेश से आने वाले पर्यटक भी हमारा देश की संस्कृति में इस कदर घूल जाते हैं जैसे की मानो वो यही के निवासी हो। यहां आने के बाद वे यहा की संस्कृति को जानने और समझने का प्रयास तो करते हैं, इसके साथ ही वे यहां का रंगढंग और वेशभूषा को भी काफी पसंद करते हैं।

निष्कर्ष

हमारे देश की संस्कृति पुरे विश्व में प्रशिद्ध हैं। विश्व में काफी देशों में से लोग भारत में भारत की संस्कृति देखने के लिए यहा आते हैं। भारत की संस्कृति में मुख्यरूप से भारत का रहन-सहन और खान-पीन मुख्य हैं। भारत की संस्कृति को काफी देशों में अपनाया भी जा रहा हैं, जो हमारे लिए गर्व की बात है।

अंतिम शब्द  

हमने यहां पर “भारत की संस्कृति पर निबंध (Essay on Indian Culture in Hindi)” शेयर किया है। उम्मीद करते हैं कि आपको यह निबंध पसंद आया होगा, इसे आगे शेयर जरूर करें। आपको यह निबन्ध कैसा लगा, हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

Read Also

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here