डिटर्जेंट पाउडर बनाने का बिजनेस कैसे करें?

Detergent Powder Making Business In Hindi: डिटर्जेंट पाउडर से तो हर कोई वाकिफ होगा। यह एक ऐसा सामान है, जिसका इस्तेमाल सभी के घरों में कपड़े धोने के लिए होता है। आज बाजार में विभिन्न प्रकार की डिटर्जेंट पाउडर के ब्रांड है। आप चाहे तो उन ब्रांडो के बीच मार्केट में अपनी खुद की ब्रांड स्थापित कर सकते हैं। यदि आप डिटर्जेंट पाउडर बनाने के व्यवसाय को शुरू करना चाहते हैं तो बिल्कुल सही लेख पर आए हैं।

Detergent Powder Making Business In Hindi
Image: Detergent Powder Making Business In Hindi

क्योंकि आज के लेख में हम इसी बात पर चर्चा करेंगे कि किस तरीके से आप डिटर्जेंट पाउडर बनाने के व्यवसाय को शुरू कर सकते हैं, इसमें कितनी लागत लगेगी, इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए कौन-कौन सी मशीनों की आवश्यकता पड़ेगी, साथ ही आवश्यक कच्चे माल, पंजीकरण, इसकी मार्केटिंग, इसमें होने वाली कमाई इत्यादि सभी बातों पर चर्चा करेंगे इसीलिए लेख को अंत तक पढ़े।

डिटर्जेंट पाउडर बनाने का बिजनेस कैसे करें? | Detergent Powder Making Business In Hindi

विषय सूची

डिटर्जेंट पाउडर बनाने के व्यवसाय की मार्केट संभावना

डिटर्जेंट पाउडर का साफ-सफाई में उपयोग होता है और साधारण तौर पर यह कपड़े धोने के लिए उपयोग में लाए जाते हैं। डिटर्जेंट पाउडर की जरूरत हर घर में होती है। जानकारी से पता चला कि प्रतिवर्ष भारत में डिटर्जेंट पाउडर की खपत 25 से 30 किलोग्राम प्रति व्यक्ति है।

इस तरीके से इसकी डिमांड बाजार में काफी है और आने वाले समय में और भी बढ़ सकती है। ऐसे में यह व्यवसाय हमेशा ही फायदेमंद व्यवसाय बना रहेगा। आज बाजार में विभिन्न ब्रांड के डिटर्जेंट पाउडर बीके जाते हैं, जिनमें से कुछ ब्रांड काफी प्रख्यात हो चुके हैं और वह काफी ऊंचे लेवल पर पहुंच चुके हैं।

हालांकि बाजार में कंपटीशन काफी है लेकिन यदि आप अच्छी क्वालिटी का डिटर्जेंट पाउडर बनाएंगे और अच्छी योजना के साथ व्यवसाय को शुरू करेंगे तो आपका व्यवसाय जरुर सफल होगा और आप इसमें काफी ज्यादा मुनाफा कमा पाएंगे हैं।

डिटर्जेंट पाउडर का व्यवसाय कैसे शुरू करें?

जब आप किसे भी व्यवसाय को अपने घर से या निम्न स्तर से शुरु करते हैं तो ज्यादा विचार करने की जरूरत नहीं पड़ती। लेकिन जब आप उसी व्यवसाय को बड़े स्तर पर ज्यादा निवेश के साथ शुरू करते हैं तो आपको उसके लिए एक अच्छी योजना बनानी जरूरी है।

ठीक उसी प्रकार डिटर्जेंट पाउडर के व्यवसाय के लिए भी आपको एक अच्छी योजना बनानी पड़ेगी। जैसे कि जगह का विश्लेषण करना, जगह का चयन करना, व्यवसाय को शुरू करने में लगने वाली लागत, पंजीकरण, लोन, कच्चे माल की आवश्यकता, इसमें होने वाले फायदे इत्यादि चीजें।

डिटर्जेंट पाउडर बनाने के बिजनेस के लिए जगह का चयन

डिटर्जेंट पाउडर बनाने के व्यवसाय शुरू करने के लिए आपको मशीनो को सेटअप करने के लिए एक अच्छी लोकेशन पर जगह की आवश्यकता पड़ेगी, जहां पर आप अपने प्लांट को लगा सकते हैं।

आप जब जगह का चयन करें तो इस बात का भी ध्यान रखें कि क्या उस जगह पर बिजली, पानी की अच्छी सुविधा है। इसके अतिरिक्त रोड की भी अच्छी सुविधा हो ताकि कच्चे माल को आसानी से मंगवाया जा सके। यदि आपके पास निवेश कम हो तो आप शहर से दूर किसी इलाके में जगह का चयन कर सकते हैं।

यह भी पढ़े: सोयाबीन बड़ी बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें?

डिटर्जेंट पाउडर बनाने के बिजनेस मार्केट रिसर्च

आप जब डिटर्जेंट पाउडर बनाने के व्यवसाय को शुरू करने की योजना बनाते हैं तो क्षेत्र विश्लेषण बहुत ज्यादा मायने रखता है। क्योंकि आप जिस भी जगह पर अपना प्लांट लगाना चाहते हैं, उसके आसपास के एरिया का विश्लेषण करके यह जानकारी लेना जरूरी है कि पहले से उस एरिया में कितने प्लांट लगे हुए हैं साथ ही उस एरिया में डिटर्जेंट पाउडर की कितनी मांग है।

आप इस बात का भी पता लगा सकते है कि दूसरे प्लांट वाले अपने प्रोडक्ट को किस कीमत पर बेचते हैं ताकि आप उनकी तुलना में अलग कीमत रखकर लोगों को आकर्षित कर सकें। इसके अतिरिक्त दूसरे प्रतिरोधियो के द्वारा बनाए जाने वाले डिटर्जेंट पाउडर की क्वालिटी के बारे में भी जाने।

डिटर्जेंट पाउडर बनाने के बिजनेस के लिए आवश्यक जमीन

डिटर्जेंट पाउडर बनाने के व्यवसाय को शुरू करने के लिए आपको प्लांट लगाने पड़ेंगे, जिसके लिए जमीन की आवश्यकता पड़ेगी। जहां पर आप अपने मशीनों का अच्छे से सेटअप कर सके साथ ही कच्चे माल को रखने के लिए आपको गोडाउन भी बनाना पड़ेगा। इन सब को ध्यान में रखते हुए आपको 1000 से 1500 स्क्वायर फिट जमीन की आवश्यकता पड़ सकती है।

डिटर्जेंट पाउडर बनाने के लिए आवश्यक सामग्री

डिटर्जेंट पाउडर बनाने के लिए बहुत सारी चीजों की आवश्यकता होती है, जिसमें से कुछ चीजें रासायनिक सामग्री होती है। डिटर्जेंट पाउडर को बनाने के लिए आवश्यक कच्चे माल निम्नलिखित है।

  • ग्लौबर साल्ट
  • कलर साल्ट
  • एसिड स्लरी
  • एओएस
  • सोडा ऐश
  • डोलोमाइट
  • ट्राईसोडियम फॉस्फेट
  • सोडियम ट्राई पोली फॉस्फेट
  • डी कोल
  • CBX
  • कार्बोक्ज़ी मिथाइल
  • परफ्यूम और ब्राईटनर

डिटर्जेंट पाउडर बनाने के लिए मशीनरी

डिटर्जेंट पाउडर को बनाने के लिए जो मशीनें आवश्यक होती है, वह निम्नलिखित है।

  • मिक्सर मशीन
  • स्क्रेमिंग मशीन
  • सीलिंग मशीन

इन मशीनों के अतिरिक्त आपको वजन करने की भी एक मशीन लेनी पड़ेगी ताकि आप डिटर्जेंट पाउडर की सही मात्रा को पैकेट में भर सके। इन सभी मशीनों को आप अपने एरिया के किसी भी लोकल बाजार से खरीद सकते हैं। आप चाहें तो इसे ऑनलाइन भी खरीद सकते हैं या किसी डीलर से संपर्क करके भी खरीद सकते हैं। लेकिन मशीन खरीदते वक्त अच्छे से मशीन की जांच कर ले।

डिटर्जेंट पाउडर बनाने के बिजनेस के लिए कर्मचारियों की नियुक्ति

जब आप डिटर्जेंट पाउडर बनाने के व्यवसाय को बड़े स्तर पर शुरू करते हैं तो अकेले इस व्यवसाय को संभालना संभव नहीं। क्योंकि इस व्यवसाय में आपको विभिन्न प्रकार के कामों को करना पड़ेगा जैसे मशीन को ऑपरेट करना, डिटर्जेंट पाउडर को बनाना, पैकेट में डिटर्जेंट पाउडर को भरना, पैकिंग करना, उसे बाजार में पहुंचाना इत्यादि जैसे कई काम होंगे, जिसके लिए आपको सात से आठ कर्मचारियों को नियुक्त करने की आवश्यकता होगी।

कुशल कर्मचारियों को ही नियुक्त करें साथी ही कर्मचारियों को नियुक्त करने के लिए आप अखबार में विज्ञापन दे सकते हैं।

यह भी पढ़े: कम खर्च और अधिक मुनाफे वाले बिजनेस

डिटर्जेंट पाउडर बनाने की प्रक्रिया

डिटर्जेंट पाउडर को बनाना बहुत आसान है बस जितनी भी तरह के कच्चे माल की आवश्यकता है, उन्हें बारी-बारी से मशीन में डालना है। डिटर्जेंट पाउडर को बनाने की प्रक्रिया निम्नलिखित है।

  • सबसे पहले Acid Slurry में AOS डालना होता है, उसके बाद De Cole को उसमें मिलाना होता है। इससे होता यह है कि इसके कारण पाउडर को बनाने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाली केमिकल का नकारात्मक प्रभाव कम हो जाता है।
  • अब cbs x डालकर मिक्सचर को एक कंटेनर में डालकर अच्छे से मिलाना होता है। सभी मित्र को अच्छे से मिलाने के लिए मिक्सर मशीन का प्रयोग कर सकते हैं।
  • मिक्सर में 5 किलो सैडा ऐश, 35 किलो ग्लौबेर साल्ट, 5 किलो डोलोमाइट, ट्राई सोडियम फॉस्फेट और कलर साल्ट डाले। कलर्स साल्ट डालने से पाउडर में अच्छा रंग आता है साथ ही अच्छे सुगंध के लिए उसमें परफ्यूम और व्हाइटनर भी डालें।
  • अब इसमें एसिड स्लरी घोल और सोडियम ट्राई पोली फॉस्फेट और कार्बोक्ज़ी मिथाइल सेल्युलोस भी मिश्रित करना है।
  • इस तरीके से सभी सामग्री मिक्स हो जाती है तो इसे 12 घंटे के लिए सूखने के लिए रखा जाता है, उसके बाद स्क्रीमिंग मशीन की सहायता से इसे बारिक किया जाता है। इस तरीके से डिटर्जेंट पाउडर तैयार हो जाता है।

डिटर्जेंट पाउडर की पैकेजिंग

डिटर्जेंट पाउडर बन जाने के बाद उसकी पैकेजिंग की बारी आती है। पैकेजिंग करते वक्त आप इस बात का ध्यान रखें कि पैकेट अच्छे से सील होना चाहिए। पैकेट को सीलिंग मशीन से सील कर सकते हैं।

साथ ही पैकेट में आप डिटर्जेंट पाउडर को वजन करने वाली मशीन से वजन करने के बाद भरे उदाहरण के लिए यदि 1 किलो का पैकेट है तो उसमें डिटर्जेंट पाउडर की मात्रा शुद्ध 1 किलो होना चाहिए।

उसके बाद आप पैकिंग के लिए जिस भी पैकेट का इस्तेमाल कर रहे हैं, उस पर आप के ब्रांड का नाम होना चाहिए। साथ ही पैकेट को थोड़ा आकर्षक बनवाने के लिए उस पर अलग-अलग तरह की चीजें छपवा सकते हैं।

डिटर्जेंट पाउडर बनाने के व्यापार के लिए लाइसेंस

डिटर्जेंट पाउडर बनाने के व्यवसाय के लिए आपको स्थानीय प्राधिकरण से अपने व्यवसाय को लीगल बनाने के लिए पंजीकृत करवाना पड़ेगा। साथ ही कुछ लाइसेंस बनवाने की जरूरत पड़ेगी, जो निम्नलिखित है:

  • एलएलपी, ओपीसी के अंतर्गत पंजीकरण।
  • ‘कंसेंट टू एस्टब्लिश’ और ‘कंसेंट टू ऑपरेट’ लाइसेंस जो पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड की तरफ से बनता हैं।
  • एमएसएमई उद्योग आधार पंजीकरण
  • जीएसटी पंजीकरण
  • एमएसएमई पंजीकरण
  • अपने ब्रांड का पंजीकरण और ट्रेडमार्क पंजीकरण
  • व्यवसाय के नाम से पैन कार्ड और बैंक अकाउंट

डिटर्जेंट पाउडर बनाने के व्यापार स्थापित करने के लिए कुल लागत

डिटर्जेंट पाउडर के व्यवसाय को शुरू करने में लगने वाली लागत आपके व्यवसाय के आकार पर निर्भर करती हैं। यदि आप अपने व्यवसाय को निम्न स्तर पर शुरू करते हैं तो आपका व्यवसाय 2 से 3 लाख की लागत में शुरू हो सकता है।

वहीं जब आप इस व्यवसाय को बड़े स्तर पर शुरू करते हैं तो आपको प्लांट लगाने के लिए जमीन की आवश्यकता पड़ती है, जिसकी लागत पांच से 6 लाख हो सकती है। वहीं इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए आपको कुछ मशीनें खरीदनी पड़ेगी, जिसकी लागत 50000 से 200000 तक की हो सकती है।

उसके बाद आपको कच्चे माल खरीदने पड़ेंगे, जिनमें 50000 से 100000 तक की लागत लगेगी। वही व्यवसाय को संभालने के लिए आपको कुछ कर्मचारियों को भी नियुक्त करना पड़ेगा।

इस प्रकार डिटर्जेंट पाउडर बनाने के व्यवसाय को शुरू करने में लगने वाली लागत अनुमानित 10 से 12 लाख रुपए हो सकता है। लेकिन यदि आप की जमीन खुद की है तो 5 से 6 लाख रूपये की लागत में भी यह व्यवसाय शुरू किया जा सकता है।

डिटर्जेंट पाउडर बनाने के बिजनेस के लिए लोन

जब आपके पास किसी भी व्यवसाय को शुरू करने के लिए आवश्यक निवेश उपलब्ध नहीं हो पाता तब आप लोन का सहारा ले सकते हैं। हालांकि डिटर्जेंट पाउडर बनाने के व्यवसाय को आप निम्न स्तर और उच्च स्तर दोनों से शुरू कर सकते हैं।

यदि आप अपने घर से इस व्यवसाय को शुरू करना चाहते हैं तो इसमें आपको ज्यादा निवेश नहीं लगता। वहीँ यदि आप इस व्यवसाय को बड़े स्तर पर शुरू करना चाहते हैं ताकि ज्यादा मुनाफा हो। लेकिन आपके पास निवेश की कमी है तो आप इस व्यवसाय को पार्टनरशिप में शुरू कर सकते हैं और यदि आप पार्टनरशिप में नहीं शुरू करना चाहते तो अंतिम उपाय लोन है।

सरकार के द्वारा व्यवसाय करने वाले लोगों को मुद्रन लोन मुहैया कराया जाता है। सरकार द्वारा लागू इस योजना के तहत आप अपने व्यवसाय को शुरू करने के लिए आवश्यक जितने भी रकम की जरूरत है आप बैंक से लोन ले सकते हैं।

डिटर्जेंट पाउडर बनाने के व्यापार की मार्केटिंग और बिक्री

डिटर्जेंट पाउडर बनाने के व्यवसाय में यदि आपको ज्यादा मुनाफा कमाना है तो आपको ज्यादा से ज्यादा प्रोडक्ट बेचने होंगे और ज्यादा से ज्यादा प्रोडक्ट बेचने के लिए आपको अपने ब्रांड का मार्केटिंग करना पड़ेगा।

जब बाजार में आपके ब्रांड का डिटर्जेंट पाउडर का मांग बढ़ेगा तो आपके प्रोडक्ट भी ज्यादा बिकेंगे। इसीलिए ज्यादा से ज्यादा लोगों तक अपने ब्रांड का प्रचार प्रसार करें। आप न्यूज़ पेपर में भी अपने ब्रांड का विज्ञापन दे सकते हैं इसके अलावा होर्डिंग भी बनवा सकते हैं।

आप शुरुआत में ग्राहकों को अपने ब्रांड के डिटर्जेंट पाउडर की ओर आकर्षित करने के लिए कुछ ऑफर दे सकते हैं। जैसे बहुत बार कुछ ब्रांड के डिटर्जेंट पाउडर के पैकेट पर कुछ परसेंट के ऑफर होते हैं तो आप भी ऐसी कुछ योजना बना सकते हैं।

आप अपने प्रोडक्ट को रिटेल और होलसेल दोनों दुकानो में बेच सकते हैं। आपका कारखाना जिस भी क्षेत्र में है, उस क्षेत्र के जितने भी रिटेल दुकानदार हैं। उनसे जाकर बात करें और सीधे उन्हें पाउडर बेचे। इससे ज्यादा फायदा होता है। इसके अतिरिक्त आप होलसेल के तहत बड़ी दुकानों को भी डिटर्जेंट पाउडर बैच सकते हैं।

डिटर्जेंट पाउडर बिज़नेस में लाभ

किसी भी व्यवसाय में होने वाला मुनाफा आपके द्वारा बिके गए प्रोडक्ट पर निर्भर करता है। हालांकि डिटर्जेंट पाउडर बनाने के व्यवसाय में आपको 15% से 20% का मुनाफा हो जाता है। यदि आप महीने के 20 से 25 टन डिटर्जेंट पाउडर बेचते हैं तो एक से डेढ़ लाख की कमाई आपकी सभी आवश्यक खर्चों को काटकर हो जाता है।

अपना व्यवसाय शुरू करने के लिए कुछ उपयोगी टिप्स

  • डिटर्जेंट पाउडर बनाने का व्यवसाय जब भी शुरू करें तो अपने ब्रांड के साथ शुरू करें ताकि मार्केट में ग्राहक आपके ब्रांड और अन्य ब्रांडों के बीच अंतर कर सकें। ब्रांड का नाम डालने से आप का प्रोडक्ट ज्यादा से ज्यादा बिकने की संभावना होती है। क्योंकि यदि आपका डिटर्जन पाउडर अच्छा होगा तो ग्राहक ब्रांड का नाम पढ़कर हमेशा उसी ब्रांड का डिटर्जेंट लेंगे।
  • जब आप डिटर्जेंट पाउडर को बनाते हैं तो बहुत अत्यधिक मात्रा में फॉस्फेट उत्पन्न होता है, जो पर्यावरण के लिए खतरनाक होता है। इसीलिए इसका सावधानीपूर्वक निपटारा होना जरूरी है।
  • डिटर्जेंट पाउडर बनाने के व्यवसाय शुरू करने के लिए कारखाना ऐसे स्थान पर होना चाहिए, जहां पर कच्चे माल और आवश्यक वस्तुएं आसानी से पहुंचाई जा सके।
  • मार्केट में विभिन्न प्रकार के डिटर्जेंट पाउडर के ब्रांड है, इसीलिए आप अपने डिटर्जेंट पाउडर की क्वालिटी को ज्यादा से ज्यादा अच्छा रखें और शुरुआत में इसकी कीमत भी कम रख सकते हैं ताकि ज्यादा से ज्यादा ग्राहक आपकी ब्रांड की ओर आकर्षित हो।

FAQ

डिटर्जेंट पाउडर बनाने के व्यवसाय में कौन से मशीनों की आवश्यकता होती है?

डिटर्जेंट पाउडर बनाने के लिए मिक्सर मशीन, स्क्रेमिंग मशीन और सीलिंग मशीन की आवश्यकता होती है।

डिटर्जेंट पाउडर बनाने के लिए व्यवसाय को शुरू करने में कितनी लागत लगती है?

डिटर्जेंट पाउडर बनाने के व्यवसाय को शुरू करने में 10 से 12 लाख रुपए की लागत लग सकती है। यदि जगह खुद की हो तो पांच से छह लाख की लागत में भी शुरू किया जा सकता है।

डिटर्जेंट पाउडर बनाने के व्यवसाय से कितना कमाया जा सकता है?

डिटर्जेंट पाउडर के व्यवसाय में होने वाली कमाई आपके पाउडर के बिकने पर निर्भर करता है। यदि आपका व्यवसाय सही से चल रहा है और आपका पाउडर बाजार में काफी मात्रा में बिक रहा है तो आप महीने की एक से दो लाख की कमाई कर सकते हैं।

निष्कर्ष

इस तरीके से आप एक निश्चित लागत लगाकर खुद का डिटर्जेंट पाउडर बनाने का व्यवसाय शुरू कर सकते हैं और लंबे समय तक अच्छा खासा मुनाफा कमा सकते हैं। बस जरूरी है कि व्यवसाय को शुरू करने के लिए अच्छी रणनीति हो और अच्छी योजना हो।

हमें उम्मीद है कि इस लेख से आपको डिटर्जेंट पाउडर बनाने के व्यवसाय (Detergent Powder Making Business In Hindi) को शुरू करने से संबंधित सारी जानकारी मिल गई होगी। यदि लेख अच्छा लगा हो तो इसे जरूर शेयर करें और लेख से संबंधित कोई भी प्रश्न हो तो आप कमेंट सेक्शन में लिख सकते हैं।

यह भी पढ़े

फास्ट फूड का बिजनेस कैसे शुरू करें?

रोज पैसे कैसे कमाए?

दूध का व्यापार कैसे शुरू करें?

झाड़ू बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें?

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 4 वर्ष से अधिक SEO का अनुभव है और 6 वर्ष से भी अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहे है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जरूर जुड़े।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here