वक्रतुंड महाकाय मंत्र हिंदी अर्थ सह‍ित

Vakratunda Mahakaya Mantra in Hindi: “वक्रतुंड महाकाय मंत्र” एक ऐसा मंत्र है, जिसका प्रयोग सभी देवताओं और देवताओं की पूजा, आरती और हवन में अवश्य किया जाता है। क्योंकि इस मंत्र के द्वारा सबसे पहले पूजे जाने वाले भगवान गणेश का ध्यान करके उनसे पूजा को सफल बनाने की प्रार्थना करने के साथ ही जीवन में सभी कार्य सुचारु होने की प्रार्थना करते हैं।

इसके बिना मंत्र की पूजा अधूरी रहती है, इसलिए इस मंत्र का विशेष स्थान है। इस भगवान गणेश मंत्र का जाप सबसे पहले किया जाता है। इस मंत्र का जाप करते समय अपने हृदय में श्री गणेश जी के रूप में ध्यान करना चाहिए और इसे दृश्यमान समझकर भक्ति के साथ इस मंत्र का पाठ करना चाहिए।

इस मंत्र का जाप करते समय भक्ति भाव से जप करने से मंत्र का प्रभाव बढ़ जाता है। मंत्र का अर्थ जानने से सम्मान उत्पन्न होता है। यदि आप समय की कमी के कारण प्रतिदिन गणेश जी की आरती नहीं कर पाते हैं तो भी कोई भी पूजा पाठ करने से पहले इस गणेश जी मंत्र का पाठ अवश्य करें।

वक्रतुंड महाकाय मंत्र हिंदी अर्थ सह‍ित | Vakratunda Mahakaya Mantra in Hindi

वक्रतुण्ड महाकाय मंत्र (Vakratunda Mahakaya Shloka)

वक्रतुण्ड महाकाय, सूर्यकोटि समप्रभ।
निर्विघनम कुरु मे देव, सर्वकार्येषु सर्वदा।।

Vakratunda Mahakaya Mantra in Hindi
Image: Vakratunda Mahakaya Mantra in Hindi

वक्रतुण्ड महाकाय मंत्र हिंदी अर्थ

हे घुमावदार सूंड है, विशाल शरीर है, वह एक लाख सूर्यों के समान है। हे भगवान, आप हमेशा मेरे सभी कार्य बिना किसी बाधा के पूर्ण करें, मुझ पर अपनी कृपा बनाए रखें।

वक्रतुण्ड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभ।
निर्विघ्नं कुरु मे देव सर्वकार्येषु सर्वदा।।

भावार्थ: “हे हाथी के समान विशाल गणेश, जिनका तेज सूर्य की एक हजार किरणों के समान है, मेरे सभी कार्यों को हमेशा बिना किसी बाधा के पूरा करें।”

मंत्र के लाभ

  • इस मंत्र का जाप करने से आपके सभी कार्य पूर्ण होते हैं और आपको यश की प्राप्ति होती है।
  • इस मंत्र का जाप करने से अपार लाभ मिलता है।
  • मां सरस्वती के वरदान के कारण भगवान गणेश को ज्ञान और बुद्धि का देवता भी कहा जाता है और वे बुद्धि का विकास करते हैं।
  • भगवान गणेश सबसे पहले पूजे जाने वाले देवता हैं और सुबह सबसे पहले श्री गणेश के इस मंत्र का जाप करने से सभी काम पूरे हो जाते हैं।
  • भगवान गणेश के इस मंत्र का जाप करने से भय, शंका और अनिष्ट शक्तियां दूर रहती हैं।
  • भगवान गणेश भी मनुष्य को सफलता और वृद्धि के लिए शक्ति प्रदान करते हैं।

यह भी पढ़े

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here