खुशी पर भाषण

Speech on Happiness in Hindi: खुशी मन की एक ऐसी अवस्था होती है, जिसके जरिए लोग स्वस्थ और फिट रहते हैं। खुशी हमारे लिए बहुत ही जरूरी होती है, परंतु वास्तव में इसे प्राप्त करना उतना ही मुश्किल हो गया है क्योंकि लोग बाहर से तो दिखावा करके खुशी जताते हैं, परंतु अंदर ही अंदर वह खुश नहीं होते हैं। उन्हें ऐसे मार्ग पर चलने की आवश्यकता है जिसके जरिए वह अंदर से खुश रहे। अगर अंदर से खुश रहेंगे तो इसके जरिए वह आंतरिक खुशी प्राप्त कर पाएंगे और स्वस्थ रहेंगे। ऐसे में आज हम आपके लिए खुशी पर भाषण लेकर आए हैं, जिसके जरिए आप लोगों को प्रभावित कर सकते हैं।

Speech-on-Happiness-in-Hindi-
Image : Speech on Happiness in Hindi

खुशी पर भाषण | Speech on Happiness in Hindi

खुशी पर भाषण (500 शब्द)

माननीय अतिथि गण, प्रिंसिपल, शिक्षक गण, एवं मेरे प्यारे मित्रों, आप सभी को सुप्रभात। आज इस विशेष दिवस पर आप सभी के सामने मैं आप को संबोधित करने जा रहा हूं क्योंकि आज अंतर्राष्ट्रीय दिवस है और आज हम उसी पर बात करने जा रहे हैं।

जैसा कि आप सभी जानते हैं खुशी हमारे लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होती है। जो खुशी को महसूस करते हैं वह बहुत ही भाग्यशाली होते हैं। खुशी सभी के लिए अलग-अलग तरह की होती है। सभी के लिए उसकी अलग अलग परिभाषाएं होती है। किसी को धन दौलत में खुशी मिलती है, तो किसी को सुख सुविधाओं में खुशी मिलती है, किसी को पार्टनर के साथ खुशी मिलती है, किसी को दूसरों को दुख में देखकर खुशी मिलती है, इसीलिए खुशी की परिभाषा सभी के लिए अलग होती है।

परंतु असली खुशी वह होती है जहां पर आप दूसरों लोगों को खुश देख कर खुश होते हैं, वह असली खुशी होती है। किसी के चेहरे पर मुस्कान लाना आसान नहीं होता है। यह बहुत ही मुश्किल काम होता है जो हर किसी के बस में नहीं होता।

हमें निरंतर अपने जीवन में ऐसा कुछ करते रहना चाहिए, जिसके जरिए हम दूसरों की मुस्कुराहट का कारण बन सके। खुशी को हमेशा बढ़ाते रहना चाहिए। इसी के साथ जब हम दूसरों के साथ उन्हें साझा करने की कोशिश करते हैं, तो हमें और भी ज्यादा खुशी मिलती है।

हमें उन लोगों की खुशी का ज्यादा ध्यान रखना चाहिए, जो लोग बेघर है, जिनके पास भोजन नहीं है, इत्यादि सुविधाओं की कमी है, उनको सुविधाएं देकर उनके चेहरे पर खुशी लेकर आए, इसके जरिए आपको बहुत ही अच्छा महसूस होगा। मनुष्य को केवल अपने तक ही सीमित नहीं होना चाहिए, बल्कि अन्य जीवित प्राणियों का भी ध्यान रखना चाहिए।

आज जो सबसे ज्यादा उदासी की बात यह है, वह स्कूल और माता पिता के लिए है क्योंकि इस समय छात्र-छात्राओं पर अध्ययन का दबाव बढ़ता ही जा रहा है, जिसकी वजह से कभी कभी बच्चे आत्महत्या तक कर लेते हैं। परंतु हमें यह समझने की बहुत ही ज्यादा जरूरत है, सफलता की कुंजी केवल खुशी है और खुशी की वजह से ही सफलता मिलती है परंतु हमें अपने जीवन में धूप और छांव दोनों की आवश्यकता होती है, इसीलिए हमें अगर दुख मिलता है, तो सुख भी मिलता है और सुख मिलता है, तो हमें दुख से भी मुंह नहीं मोड़ना चाहिए, बल्कि उनका सामना करना चाहिए।

आपको यह निश्चित करना चाहिए कि हम बुरे हालातों में भी सुख को कैसे प्राप्त कर सकते हैं। अपनी सभी कठिनाइयों को किस प्रकार मुस्कान के साथ हरा सकते हैं। जीवित प्राणियों के बीच खुशी को फैलाना एक बहुत ही अच्छा काम होता है, जो आप जीवन भर कर सकते हैं। इसके लिए आपको कभी भी हार नहीं माननी चाहिए क्योंकि इसके जरिए आपको और भी ज्यादा खुशी मिलती है।

अंत में केवल इतना ही कहना चाहूंगा कि आप सभी खुश रहें और अपनी खुशी के जरिए दूसरों को भी खुश रखने का प्रयत्न करें। इसी के साथ में अपने भाषण की समाप्ति करता हूं। आप सभी का तहे दिल से धन्यवाद और मुझे बहुत ही गर्व है, कि मुझे इतने बड़े उत्साह में संबोधित करने का अवसर प्राप्त हुआ।

धन्यवाद!

Read Also: सफलता पर भाषण

खुशी पर भाषण (500 शब्द)

देवियों और सज्जनों आप सभी को मेरा प्यार भरा नमस्कार। जैसा कि आप जानते हैं आज अंतर्राष्ट्रीय खुशी दिवस है। इस उत्सव को मनाने के लिए हम सब यहां पर एकत्रित हुए हैं। ऐसे में आज आपने मुझे आप सभी को संबोधित करने के लिए चुना आप सभी का तहे दिल से धन्यवाद मैं आप सब का बहुत ही आभारी हूं।

जैसा कि आप जानते हैं हमें अपनी सभी आवश्यकताओं को पूरी करने के लिए बहुत ही ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है। हमारी खुशी का कारण हमारी जरूरत है। अगर हमारी सभी जरूरतें पूरी हो जाती हैं तो हम बहुत ही ज्यादा प्रसन्न होते हैं क्योंकि हमें उस से संतुष्टि मिलती है। परंतु जो अपनी जरूरतों को पूरा नहीं कर पाते हैं उन्हें दुख मिलता है क्योंकि वह संतुष्ट नहीं हो पाते हैं।

कुछ लोग ऐसे होते हैं जो कल के बारे में चिंता करके बेवजह परेशान होते हैं और वर्तमान की ना सोच कर भविष्य की सोचते रहते हैं। हालांकि खुशी होती क्या है ? क्या आप में से कोई जानता है कि खुशी होती क्या है? हमें कौन सी खुशी ज्यादा खुश रख सकती है। जी नहीं यह बताना बिल्कुल असंभव है, कि आखिर में कौन सी चीज से हमें ज्यादा खुशी मिलती है। कौन सी चीज से हमें खुशी नहीं मिलती है, परंतु इन सब के बावजूद हमें केवल खुश रहना चाहिए।

चाहे परिस्थिति जैसी भी क्यों ना हो अगर आप अपने जीवन में खुश रहेंगे तो सभी चीज को हासिल कर सकेंगे। सफलता की कुंजी सबसे बड़ी खुशी ही होती है।

हमें अपने जीवन में बहुत सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है, परंतु कुछ लोग बहुत ही जल्दी हार मान जाते हैं और कुछ लोग ऐसे होते हैं जो आखिरी सांस तक प्रयास करते रहते हैं। आपको जीवन में यह बात हमेशा याद रखनी चाहिए कि ऐसी कोई भी समस्या ऐसी नहीं होती है, जिसका समाधान नहीं होता है। अगर आप मेहनत करेंगे तो, आपको सभी समस्याओं का हल जरूर मिल जाएगा।

हमें केवल समाधान खोजने के लिए मेहनत करनी पड़ती है। कई लोगों के पास खुद की जरूरतें पूरी करने के लिए उचित सुविधाएं नहीं होती हैं। उन्हें दो समय का भोजन भी नहीं मिल पाता है। उसके बावजूद भी वह संतुष्ट रहने की कोशिश करते हैं और अपने जीवन का आनंद लेते हैं। असल में यही खुशी होती है, जो हर परिस्थिति में खुश रहता है वही खुशी होती है, जो लोग सफलता का पीछा करते-करते अपनी वर्तमान जिंदगी को भूल जाते हैं। यह जीवन में कभी भी सफल और खुश नहीं हो सकते हैं।

अगर आप वाकई में अपने जीवन में खुश रहना चाहते हैं, तो इसके लिए बहुत सारी चाबियां होती है। हमें किसी को देखकर दुखी नहीं होना चाहिए। हमें उसकी खुशी में खुश होना चाहिए, चाहे हम किसी भी परिस्थिति में क्यों ना हो। हमें कभी किसी से अपनी तुलना नहीं करनी चाहिए।

अगर उसके पास गाड़ी है तो हमें और भी बेहतर गाड़ी चाहिए, ऐसा नहीं सोचना चाहिए क्योंकि यही ऐसी कुछ चीजें होती है, जो हमारे अंदर नकारात्मकता पैदा करती हैं, जिसकी वजह से हम खुश होने की वजह दुखी होने लगते हैं और अंदर ही अंदर घुट जाते हैं।

इसकी वजह से हमारे स्वास्थ्य पर प्रभाव पड़ता है, परंतु अगर आप दूसरों के चेहरे पर अगर मुस्कुराहट लाते हैं, तो उसके जरिए आपको बहुत ही ज्यादा खुशी मिलती है। हमें हर परिस्थिति में खुश रहना चाहिए। सबसे बड़ी बात यही होती है अगर आप हर परिस्थिति में खुश रहेंगे तो, आप जीवन में हर प्रकार की सफलता प्राप्त कर पाएंगे।

अंत में मैं केवल इतना ही कहना चाहूंगा, अपने स्वभाव को नरम रखें जितना हो उतने में खुश रहने का प्रयत्न करें। इसी के साथ में अपने भाषण की समाप्ति करता हूं।

धन्यवाद!

निष्कर्ष

इस आर्टिकल के जरिए हमने आपको खुशी पर भाषण ( Speech on Happiness in Hindi) दिया है। अगर आप किसी स्कूल या कॉलेज की छात्रा है या किसी समारोह में आपको खुशी पर भाषण देना है, तो यह आपके लिए लाभदायक सिद्ध होगा।

Read Also:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here