राजपूत को काबू कैसे करें?

Rajput ko Kabu Mein Kaise Karen: आज लोग इंटरनेट पर कुछ भी उल्टा सीधा सर्च करते रहते हैं। अगर आप राजपूत के बारे में गूगल पर जानकारी ढूंढ रहे हैं तो आपको बता दें कि राजपूत एक प्रतिष्ठित और पराक्रमी जाति है। आप को राजपूत को काबू कैसे करें के बारे में गूगल पर सर्च करने से पहले राजपूतों के बारे में जानना चाहिए।

इस तरह के सवाल केवल उस व्यक्ति को पूछने चाहिए, जिन्हें राजपूतों के बारे में जानकारी हो। अगर आपको ऐसा लगता है कि आप उनमें से एक है तो नीचे बताई गई जानकारी को ध्यानपूर्वक पढ़ें। 

राजपूत भारत की एक प्रतिष्ठित जाती है, जो कई सालों से भारत में रह रही है। राजपूत एक ऐसी जाती है, जो मातृभूमि पर मरने मिटने के लिए जानी जाती है। राजपूत जाति सदैव अपने मातृभूमि और देश की रक्षा के लिए खुद को समर्पित किया है।

राजपूत जाति का इतिहास बहुत गौरव भरा है। आप को राजपूत को काबू कैसे करें? के बारे में जानने से पहले यह समझना चाहिए कि आखिर इस जाति को काबू करना कौन चाहता है? और क्या वाकई में इसकी जरूरत है, जिसके बारे में आज के लेख में हमने विस्तार पूर्वक बात किया है। 

राजपूत को काबू कैसे करें? | Rajput ko Kabu Mein Kaise Karen

राजपूत कौन है?

अगर आप इतिहास पढ़ेंगे तो, मोहनजोदड़ो और हड़प्पा जैसी सभ्यता के बाद वेद सभ्यता ने जन्म लिया, जहां ऋग्वेद यजुर्वेद जैसे अलग-अलग ग्रंथों का निर्माण हुआ। इस प्रचलित वेद में लोगों के कार्य के अनुसार जाति को विभाजित किया गया। जो लोग ज्ञान का दान देते थे या दूसरों को शिक्षा देने का कार्य करते थे, उन्हें ब्राम्हण जाति में रखा गया। जिसे समाज का सबसे प्रतिष्ठित जाती माना गया है क्योंकि वह समाज को अलग-अलग चीजों के बारे में जानकारी देने का कार्य करता था।

इसके बाद जो व्यक्ति अपने मातृभूमि के लिए और अपने परिवार की रक्षा के लिए खुद का बलिदान देने को तैयार रहें आने वाली अलग-अलग परेशानी और समस्या से सबसे आगे खड़ा होकर लड़ता हो उसे राजपूत जाति का नाम दिया गया।

पहले समाज बहुत छोटे हुआ करते थे, जिनमें आसपास के समाज एक दूसरे पर हमला करते थे। कुछ जानवरों के भी हमले होते थे। जिससे लोगों को बचाने के लिए कुछ मजबूत लोगों का गुट बनाया जाता था। जिस ताकतवर गुट का कार्य समाज की रक्षा करना और समाज में हो रहे गलत चीजों पर काबू पाना था। उस जाति को राजपूत का नाम दिया गया।

आगे चलकर वेद में लिखे गए इन सभी बातों को तोड़ा मरोड़ा गया और आपने फायदे के अनुसार जाति का विभाजन कर दिया गया। अगर वेद और पुराण के वक्त में हुए अनुसंधान और विभिन्न प्रकार के प्रचलित भारतीय इतिहास की किताबों को पढ़ेंगे, तो आप पाएंगे कि पहले एक परिवार में कई तरह के जाति के लोग रहते थे। मगर धीरे-धीरे लोगों में मानसिकता का बदलाव हुआ और एक परिवार में एक तरह की जाती धीरे धीरे एक खानदान को एक तरह की जाति में बदल दिया गया।

जिस जाति ने सालों से समाज की रक्षा की हो, उसके पूर्वजों ने अपना सर कटवा कर समाज में रहने वाली स्त्रियों को बचाया होगा। आपको उसके प्रति कुछ भी गलत बोलने से पहले सोचना चाहिए। राजपूत भारत के प्रतिष्ठित जाति में से एक है।

जिसके उदाहरण में आपको राणा सांगा, महाराणा प्रताप और पृथ्वीराज चौहान जैसे ऐसे महारथी मिलेंगे, जो विदेशी आक्रमण के वक्त अपना सर लेकर बीच मैदान में खड़े रहे और डटकर उन लोगों का सामना किया। अगर आप भारतीय इतिहास में राजपूतों की वीरता को देखेंगे तो पाएंगे कि राजपूत वीरता के इतने किस्से हैं कि जो खत्म नहीं होने वाले कई जगहों पर राजपूत की हार हुई, जिसमें केवल और केवल धोखेबाजी कारण थी।

राजपूत को काबू कैसे करें ?

राजपूत को काबू कैसे करें? अगर आप यह सवाल पूछ रहे हैं, तो इसका मतलब है कि आपके इलाके में राजपूत जाति के लोग रहते हैं। आप उन्हें काबू करना चाहते है। हम मानते हैं कि आज के समय में राजा का वक्त नहीं चल रहा, जिसके पूर्वजों ने राजा बनकर समाज के रक्षा की है।

उस के वंशज में थोड़ा सा अकड होगा और आज राजनेता का कार्य चल रहा है, जिस वजह से अलग-अलग तरह के लोग अपने राजनेता खड़ा करना चाहते हैं और राजपूतों पर अत्याचार करना चाहते हैं। अगर आप इस तरह का विचार रखे हैं और किसी भी तरह से राजपूत को परेशान करना चाहते हैं, तो एक बार इतिहास का पन्ना उठाकर देख ले।

राजपूतों ने हमेशा सर काटना सीखा है। अगर आप राजपूत जैसी जाति से लड़ने के बारे में विचार कर रहे हैं, तो ऐसी परिस्थिति में आप बहुत बड़ी परेशानी से गले मिल रहे हैं। राजपूत को काबू करने का कोई तरीका नहीं है और केवल राजपूत ही नहीं भारत में मौजूद किसी भी जाति को आज तक कोई काबू नहीं कर सका।

आप चाहे कुछ भी करें आप किसी भी जाति या समुदाय को काबू नहीं कर सकते। इसके हजारों उदाहरण हमारे आसपास मौजूद हैं। अगर आप पश्चिमी देशों में भी देखें तो यहूदी एक ऐसा धर्म है, जिसे काबू करने के लिए हिटलर ने अपना पूरा प्राण लगा दिया। मगर आज वही यहूदी जाती यूरोप की सबसे प्रतिष्ठित और ताकतवर जाति में से एक मानी जाती है।

राजपूत जाति का इतिहास हमेशा से ताकत और पराक्रम भरा है। अगर आप किसी भी तरीके से इस जाति को काबू करना चाहेंगे और इस पर अत्याचार का तरीका अपनाएंगे, तो परिणाम स्वरूप आप मुंह की खाएंगे और इस जाति को काबू नहीं कर पाएंगे। ना जाने कई राजाओं ने भारत में कदम रखा, मगर राजपूत राजाओं को काबू करना किसी के बस में नहीं रहा।

राजपूत कहां से आए?

हमने इस लेख में आपको ऊपर बताया कि आज से कई साल पहले जब लोग अपना समाज बनाकर रहना शुरू किए तो ऐसी परिस्थिति में उन्हें कुछ लोगों को अपने समाज अपने गांव और घर के रक्षा की आवश्यकता थी। उस वक्त बहुत अधिक आक्रमण हुआ करता था। आसपास के समाज और जानवर रोजाना आक्रमण किया करते थे। उस वक्त समाज के कुछ ऐसे ताकतवर और बहादुर लोग जो आगे चलकर समाज पर आने वाली परेशानियों को लेने के लिए खड़े हुए, उन्हें राजपूत का नाम दिया गया।

यही कारण रहा कि अपने जीवन की परवाह किए बिना जब उन्होंने अपने आसपास मौजूद समाज की रक्षा की तो उन्हें समाज का एक ताकतवर हिस्सा माना गया और राजा की उपाधि दी गई। राजा समाज का रक्षा और समाज के विकास के बारे में सोचता था।

जिसके बाद भारत में विदेशी आक्रमण शुरू हुआ, जिसमें यूरोप और मध्य एशिया के कई राजा भारत पर आक्रमण करने आए। उस वक्त भी भारत के राजपूतों ने बढ़ कर उनका सामना किया और बड़ी बहादुरी से अपने अस्तित्व की रक्षा की।

हम ऐसा कह सकते हैं भारत में मौजूद सबसे पुराने जाती और सबसे पुराने धर्म से राजपूत ताल्लुक रखते है। इस तरह के जाति और धर्म का सम्मान करना चाहिए। जिस धर्म से स्वयं भगवान जुड़े हो हमें उस धर्म के बारे में कुछ भी गलत नहीं बोलना चाहिए।

अगर राजपूत गुट आपको क्रूर और गुस्सैल लगता है, तो आपको राजपूत का इतिहास पढ़ना चाहिए और भारत में इनके बलिदान के बारे में जानना चाहिए। अगर हम वर्तमान समय में भारतीय फौज को देखें तो पाएंगे कि राजपूताना राइफल भारत के सबसे प्रचलित और बहादुर फौज में से एक है।

क्या कभी भारत से राजपूतों को हटाया जा सकता है?

आज भारत का नाम राजा भरत के नाम पर है, जो एक राजपूत थे। इसके अलावा आप जितनी भगवान की पूजा करते हैं, उनमें अपने भगवान राम का नाम सुना होगा। अर्थात् हिंदू धर्म के भगवान भी राजपूत से जुड़े हुए हैं। अब जो खुद सोच कर देखिए, जिस जाति का इतिहास भारत के भगवान से ताल्लुक रखता होगा और जिस जाति में रहने वाले लोग कई सालों से हमारा देश की रक्षा के लिए जाने जाते हो और उसे जाकर को कैसे यहां से हटाएंगे।

राजपूत एक बहुत ही ताकतवर और प्रतिष्ठित जाती है, जो आज भी अपने सम्मान, गरिमा और वजन की वजह से जानी जाती है। राजपूत का वर्चस्व पूरे भारत में फैला हुआ है। आप कुछ भी करके भारत के राजपूतों को काबू नहीं कर सकते। आपको यह बात समझना होगा और गूगल पर इस तरह के बेतुके सवाल पूछने से बचना होगा।

तो कैसे राजपूत को काबू किया जाएं?

आज इंटरनेट सस्ता हो चुका है, जिस वजह से लोग विभिन्न प्रकार की चीजें गूगल पर ढूंढ रहे हैं। अगर आप भी इस तरह के कुछ बेतुके सवाल गूगल पर ढूंढ रहे हैं, तो आप अपना समय जाया कर रहे हैं। इस समय का सदुपयोग आप पढ़ाई करने में लगाएंगे, तो भीमराव अंबेडकर की तरह आप दूसरी जाति से होने के बावजूद भारत के सभी नागरिकों के द्वारा पूजे जाते हैं।

अगर आप किसी दूसरे धर्म से ताल्लुक रखते हैं, तो अब्दुल कलाम आजाद को देखिए। अब्दुल कलाम आजाद एक राजपूत नहीं है लेकिन आज प्रत्येक राजपूत उनके आदर में अपना सर झुकाता है। वह भारत के महान वैज्ञानिक है। आपको इस तरह के लोगों की तरह बनने का प्रयास करना चाहिए। ना की किसी समुदाय को मिटाने के बारे में सोचना चाहिए। यह बेतुका और बेवकूफी भरा सोच है। आपको हद में रहकर गूगल पर कुछ भी सर्च करना चाहिए।

निष्कर्ष

हमने अपने आज के इस लेख में आप सभी लोगों को राजपूत को काबू कैसे करें? (Rajput ko Kabu Mein Kaise Karen) के बारे में विस्तार पूर्वक से जानकारी प्रदान की हुई है और हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा प्रस्तुत किया गया यह लेख आप लोगों के लिए काफी ज्यादा हेल्पफुल और यूज़फुल साबित हुआ होगा।

अगर आपको यह जानकारी पसंद आई हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले।

अगर आपके मन में हमारे आज के इस लेख से संबंधित कोई भी सवाल या फिर कोई भी सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं। हम आपके द्वारा दिए गए प्रतिक्रिया का जवाब शीघ्र से शीघ्र देने का पूरा प्रयास करेंगे और हमारे इस महत्वपूर्ण लेख को अंतिम तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद एवं आपका कीमती समय शुभ हो।

यह भी पढ़े:

भारत की सबसे बड़ी जनजाति कौन सी है?

फौजी को काबू कैसे करें?

जाट को काबू में कैसे करें?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here