महाराणा प्रताप की पहली पत्नी कौन थी?

Maharana Pratap Ki Pehli Patni Kaun Thi?: महाराणा प्रताप का नाम भारतीय इतिहास में एक शौर्य वीर तथा पराक्रमी योद्धा के तौर पर लिया जाता है क्योंकि महाराणा प्रताप 15 वीं शताब्दी के दौरान राजस्थान के एक छोटी सी रियासत मेवाड़ के राजा थे। जबकि उनका सामना संपूर्ण भारत की मुगलिया सल्तनत के शासक अकबर से हुआ।

अकबर ने लगभग संपूर्ण भारत पर अपना अधिपत्य स्थापित कर दिया था तथा भारत के बड़ी-बड़ी रियासतों के हिंदू और राजपूत राजाओं को भी अपनी तरफ घेर लिया था। फिर भी अकबर अंतिम समय तक एक छोटी सी रियासत मेवाड़ और महाराणा प्रताप को नहीं झुका सका।

Maharana Pratap Ki Pehli Patni Kaun Thi
Image: Maharana Pratap Ki Pehli Patni Kaun Thi

इतिहास में महाराणा प्रताप का नाम सुनहरे अक्षरों में लिखा गया है। महाराणा प्रताप अपने पराक्रम के लिए जाने जाते हैं। महाराणा प्रताप के जीवन पर विभिन्न प्रकार के निबंध, कथाएं, कविताएं, कहानियां, इतिहास, पुस्तकें इत्यादि लिखी गई है।

महाराणा प्रताप के चर्चे भारत ही नहीं बल्कि दुनियाभर में प्रचलित है। भारत का बच्चा-बच्चा महाराणा प्रताप के स्वाभिमान को जानता है। इसलिए आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि महाराणा प्रताप की पहली पत्नी का क्या नाम है?

महाराणा प्रताप की पहली पत्नी कौन थी? | Maharana Pratap Ki Pehli Patni Kaun Thi

महाराणा प्रताप की पहली पत्नी का नाम

मेवाड़ के राजा महाराणा प्रताप की पहली पत्नी का नाम अजबदे पंवार था। महाराणा प्रताप ने पहला विवाह बिजोलिया के गढ़ पैलेस में राजकुमारी अजबदे पंवार के साथ रचाया था। महाराणा प्रताप की पहली शादी के समय उनकी उम्र 17 वर्ष थी जबकि अजबदे कि विवाह के समय आयु 15 वर्ष थी।

महाराणा प्रताप और अजबदे दोनों से एक पुत्र रत्न की प्राप्ति हुई, जिनका नाम अमर सिंह इतिहास के पन्नों में दर्ज है। गढ़ पैलेस का पुराना महल महाराणा प्रताप की पहली पत्नी अजबदे पंवार के नाम से जाना जाता है।

महारानी अजबदे पंवार कौन थी?

राजस्थान और मध्य प्रदेश के बीच बिजोलिया नगर रियासत की राजकुमारी अजबदे अब मेवाड़ रियासत की महारानी अजबदे पंवार बन चुकी थी। महारानी मेवाड़ को अपना घर समझती और उन्होंने अपने जीवन काल में विभिन्न प्रकार के निर्णय लिए तथा विभिन्न प्रकार के कार्य करवाए थे।

इतिहास के पन्नों में महाराणा प्रताप की पहली पत्नी अजबदे का भी विशेष योगदान लिखा गया है। उन्होंने बुरे समय में महाराणा प्रताप का बखूबी साथ निभाया था तथा मुगलों से युद्ध के दौरान विभिन्न प्रकार का सहयोग प्रदान किया था। अजबदे पंवार के पिता का नाम रामरख पंवार था, जो बिजोलिया रियासत के राजा थें।

रानी मीराबाई जैसा सम्मान

इतिहासकारों के अनुसार महाराणा प्रताप की पहली पत्नी बिजोलिया रियासत की राजकुमारी अजबदे पंवार को विवाह के पश्चात मेवाड़ में खूब मान सम्मान मिला। मेवाड़ में महारानी अजबदे को रानी मीराबाई जैसा सम्मान मिला था।

यह सम्मान महारानी के लिए काफी महत्व रखता था क्योंकि महारानी भी मेवाड़ के प्रति हमेशा प्रतिबंध रहती थी तथा उन्होंने अपने पति महाराणा प्रताप और मेवाड़ के लिए बुरे समय में विशेष योगदान दिया था। इसीलिए मेवाड़ के लोगों ने महारानी अजबदे को मीरा बाई जैसा सम्मान दिया था।

इतिहासकार लिखते हैं कि पूरे मेवाड़ क्षेत्र में अजबदे पंवार को रानी मीराबाई जैसा सम्मान प्राप्त था। उन्होंने महाराणा प्रताप के साथ खुशी खुशी से अपना जीवन जंगलों में बिताया था।

इसीलिए उनके धैर्य, साहस, सम्मान और मेवाड़ के प्रति अपनी प्रतिबद्धता देखते हुए लोगों ने उनको इतना मान सम्मान दिया। मेवाड़ में उस समय महारानी अजबदे को रानीसा एवं रानी भटियाणी सा कह कर संबोधित करते थे। यहां एक प्रकार की सम्मान वाली उपाधि है।

निष्कर्ष

महाराणा प्रताप की पहली पत्नी का नाम अजबदे था। अजबदे पंवार राजस्थान और मध्य प्रदेश के बीच स्थित बिजोलिया रियासत की राजकुमारी थी, जो महाराणा प्रताप से विवाह करने के बाद महाराणा प्रताप की पहली पत्नी और मेवाड़ की महारानी बन गई। मेवाड़ के लोगों ने उनके योगदान को देखते हुए उन्हें रानी मीराबाई के जैसा सम्मान दिया था।

इतिहास के पन्नों में अजबदे का भी योगदान चिन्हित किया गया है। इस आर्टिकल में हम आपको बता चुके हैं कि राणा प्रताप की पहली पत्नी का क्या नाम था? (Maharana Pratap Ki Pehli Patni Kaun Thi)। हमें उम्मीद है यह जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित हुई होगी। अगर आपका इस आर्टिकल से संबंधित कोई भी प्रश्न है? तो नीचे कमेंट करके बता सकते हैं।

यह भी पढ़ें

हल्दीघाटी का युद्ध कब हुआ था?

परशुराम किस जाति के थे?

बाबा रामदेवजी का भादवा मेला कब है?

केतकी का फूल कैसा होता है?, सम्पूर्ण जानकारी