स्नो व्हाइट और रोज रेड की कहानी

स्नो व्हाइट और रोज रेड की कहानी | Snow White And Red Rose Story In Hindi

एक समय की बात है, एक गाँव मे एक विधवा महिला अपनी दो बेटियां स्नो वाइट और रेड रोज के साथ रहती थी। स्नो व्हाइट बहुत शांत और शर्मीली थी, जबकि रेड रोज बड़ी शरारती और नटखट थी।

दोनों बहिनें अपनी माँ की मदद करती थी। उनका जीवन खुशहाली से बीत रहा था।

जब शाम होती, तो माँ दोनों बेटियों को परी की कहानी सुनाया करती थी। उनकी हर शाम ऐसे ही बीतती थी और देखते देखते मौसम बदलने लगा।

अब सर्दी का मौसम आ गया, एक शाम माँ दोनों को कहानी सुना रही थी, तभी सर्दी की कड़कती ठंड में उनके दरवाजे पर एक दस्तक हुई, ये देख तीनों बहुत डर गई कि इस वक्त कौन हो सकता है।

snow-white-and-red-rose-story-In-Hindi-
Image : snow white and red rose story In Hindi

बच्चियों के डरने पर माँ उन्हें दिलासा देती हुई कहती है कि “डरो मत शायद कोई यात्री है जो रास्ता भटक गया होगा।” तब जाकर दोनों बहिनों का डर कुछ कम होता है।

स्नो व्हाइट- “माँ मैं दरवाजा खोलती हूँ।”

जैसे ही वह दरवाजा खोलती है, तीनों माँ बेटियां चौक जाती है, क्योंकि उनके सामने एक घने बालों वाला भालू खड़ा था।

वे चिल्लाने लगती है, तभी वह भालू उनसे आग्रह करता है कि “प्लीज डरो मत और चिल्लाना बन्द करो, मै यहाँ मदद के लिए आया हूँ और कई दिनों से भूखा हूँ, मुझे खाना चाहिए। क्या आप लोग मेरी मदद करेंगी।”

एक भालू को इंसान की आवाज में बोलते हुए देख उन्होंने चिल्लाना बन्द कर दिया।

माँ ने भालू को अंदर आने की इजाजत दे दी।

भालू अंदर आया और अच्छे से खाना खाने लगा, क्योंकि वह कई दिनों का भूखा था। भालू बहुत अच्छा था, इसलिए स्नो व्हाइट और रोज रेड की भालू से दोस्ती हो गई।

यह भी पढ़े : स्नो व्हाइट और सात बौनों की कहानी

अब भालू रोज उनके घर आने लगा, वे तीनों एक साथ खेलते और मस्ती करते थे। भालू उनके लिए उपहार भी लाता था। अब सर्दियों का मौसम खत्म हो गया तो भालू उनके घर से चला गया।

एक दिन स्नो व्हाइट और रेड रोज दोनों फल लेने जंगल जाती है, कुछ फल तोड़ने के बाद उन्हें अचानक किसी के चिल्लाने की आवाज सुनाई देती है।

दोनों इधर उधर देखती है, तब उन्हें एक छोटे कद वाला आदमी दिखाई देता है जिसकी दाढ़ी बहुत लम्बी थी और उसकी दाढ़ी एक पेड़ के नीचे दब गई थी इसलिए वह चिल्ला रहा था।

छोटे आदमी ने उन्हें मदद के लिए पुकारा तो दोनों बहिनें पास जाकर उसकी मदद करने की कोशिश करती है लेकिन बहुत प्रयास के बाद भी वे उसकी दाढ़ी निकाल नही पाती है।

तभी रोज रेड को एक तरकीब सूझी, उसके पास एक कैंची थी। रोज रेड वह कैंची निकालती है और आदमी की दाढ़ी को काट देती है। आदमी के बहुत मना करने के बाद भी वह नही रुकी। इस पर उस आदमी को बहुत गुस्सा आता है, और वह बिना धन्यवाद कहे बड़बड़ाता हुआ वहाँ से चला जाता है। दोनों बहिनों को ये देख बड़ा मजा आया।

अगले दिन दोनों नदी के किनारे घूमने निकली तो उन्हें फिर से किसी के चिल्लाने की आवाज सुनाई दी, उन्होंने देखा कि एक बड़ी मछली ने उस दिन वाले छोटे कद के आदमी की दाढ़ी को मुँह में दबा रखा था।

दोनों मदद के लिए गई और बहुत कोशिश करने पर भी वे मछली से दाढ़ी को छुड़ा नही पाती है, तो रोज रेड फिर से कैंची का इस्तेमाल करती है।

उसकी दाढ़ी को काट देती है इस बार भी वह आदमी बिना धन्यवाद कहे गुस्से में बड़बड़ाता हुआ आगे बढ़ जाता है। दोनों बहिनें हँसने लगती है ।

तभी उनकी नजर सामने पड़े पत्थर के पास एक बेहोश व्यक्ति पर पड़ी। वो उसके सामने आई तो देखा कि आदमी के सिर पर चोट लगी थी।

उसी वक्त आदमी को होश आया गया।

यह भी पढ़े :तीन बौनों और मोची की कहानी

लड़कियों ने उससे पूछा कि “तुम कौन हो?”

उसने कहा कि “मेरा नाम एडम है और मैं एक राजकुमार हूँ।”

उसने आगे कहा “मैं अपने भाई जोसेफ को ढूंढ रहा हूँ। मेरा भाई जेवरों का बैग लेकर इस जंगल मे आया था लेकिन वह सर्दियों से ही गायब है।”

“अभी मैने जेवर के बैग के साथ एक आदमी को देखा, लेकिन मैं कुछ कर पाता उस आदमी ने मुझ पर जादू कर दिया और मैं बेहोश हो गया।”

स्नो व्हाइट और रेड रोज ने राजकुमार को अपना परिचय देते हुए उसकी मदद करने का फैसला लिया ।

तभी उन्होंने जंगल मे एक जानवर और एक आदमी की आवाज सुनी। वे भाग कर वहाँ गए तो उन्होंने देखा कि यहाँ वही छोटा आदमी था, जिसकी दाढ़ी निकालने में उन्होंने मदद की थी और वही भालू जो उनके घर मेहमान बनकर आया था और उनका अच्छा दोस्त भी बन गया था।

राजकुमार- “अरे! यह वही आदमी था जिसने मुझे बेहोश किया था और मैने इसके पास एक जेवर का बैग भी देखा था।”

राजकुमार लड़कियों से कहता है कि “तुम रुको और मैं तलवार लेकर आगे बढ़ता हूँ।”

वह आदमी चिल्लाने लगा तभी भालू ने कहा तुमने बहुत परेशान कर रखा था अब तुम्हे सबक मिलेगा।

इतने में वह छोटा आदमी अचानक से बड़ा होने लगा और उसने झटके से राजकुमार की तलवार फेंक दी। जैसे वह उन सब को मारने के लिए आगे बढ़ने लगा तो स्नो व्हाइट ने होशियारी से तलवार राजकुमार को वापस पकड़ा दी।

भालू बोला कि “उसकी दाढ़ी काटो उसकी सारी शक्तियां उसी में है।”

राजकुमार ने ये सुनते ही उसकी दाढ़ी पर निशाना लगाया और उसकी दाढ़ी कट गई और आदमी फिर से छोटा हो गया। राजकुमार उसे पकड़ने के लिए आगे बढ़ा लेकिन वह वहाँ से भाग खड़ा हुआ।

और उस आदमी के जाते ही भालू भी इंसान के रूप में आ गया।

वह भालू राजकुमार एडम का भाई जोसेफ था, जिसे उस आदमी में जादू से भालू में बदल दिया और जोसेफ से सारे जेवर ले लिए।

जोसेफ ने बताया कि “स्नो व्हाइट और रेड रोज ने भालू के रूप में मेरी काफी मदद की थी।”

अब जोसेफ को रेड रोज से और एडम को स्नो व्हाइट से प्यार हो गया और वे सब खुशी से रहने लगे।

सीख: कभी भी किसी को परेशान नही करना चाहिए और जरूरतमन्दो की सहायता करनी चाहिए।

यह भी पढ़े

सुंदरी और राक्षस की कहानी

नन्ही परी और राजकुमारी की कहानी

स्लीपिंग ब्यूटी की कहानी

भेड़िया और बकरी के सात बच्चों की कहानी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here