प्रिंटिंग प्रेस बिजनेस कैसे शुरू करें?

Printing Press Business Plan in Hindi: आप सब तो जानते हैं कि आज का समय कितना आधुनिक बन गया है और इसी आधुनिकता से जुड़े होने के कारण लगभग सभी लोग मॉर्डन सोच के बन गए हैं। आज के समय में किसी के भी घरों में कोई भी फंक्शन होता है जैसे किशादी, बर्थडे, कोई भी पूजा, भव्य समारोह इत्यादि तो लोग अपने मेहमानों को निमंत्रण देने के लिए इनविटेशन या फिर कोई भी छोटा मोटा बिज़नेस के लिए विजिटिंग कार्ड बनाना पसंद करते हैं। जिसके लिए वे प्रिंटिंग प्रेस का सहारा लेते हैं, जहां पर इस तरह के कार्ड को प्रिंट किया या छपवाया जाता है।

Printing Press Business Plan in Hindi
Image: Printing Press Business Plan in Hindi

आज के समय में प्रिंटिंग प्रेस का बिजनेस लोगों के लिए एक अच्छी आमदनी का साधन बन गया है, इसलिए यदि आप भी प्रिंटिंग प्रेस के बिजनेस को स्टार्ट कैसे करें? (Printing Press Business Plan in Hindi), इसके बारे में जानना चाहते हैं तो हमारे इस आर्टिकल के अंत तक जरूर बने रहें। तो चलिए इसके बारे में विस्तार से जानते हैं।

प्रिंटिंग प्रेस बिजनेस कैसे शुरू करें? | Printing Press Business Plan in Hindi

विषय सूची

प्रिंटिंग प्रेस बिजनेस कैसे शुरू करें?

यह बिज़नेस एक लघु उद्योग की श्रेणी में आता है, जिसे आप कम पैसों में अपने घर से भी शुरू कर सकते हो। किसी भी प्रकार के बिजनेस को शुरू करने से पहले उस बिजनेस से रिलेटेड सभी प्रकार की जानकारी होना अति आवश्यक है। किसी भी बिजनेस को शुरू करने के लिए उससे रिलेटेड आईडिया, मार्केट की समझ व ज्ञान के बारे में जानने के बाद ही बिजनेस को स्टार्ट करना चाहिए।

प्रिंटिंग प्रेस के बिजनेस को करने के लिए सबसे जरूरी चीज होती है सही एरिया का चयन करना। सही एरिया का मतलब यह है कि ऐसी जगह जहां पर ट्रांसपोर्ट की सुविधाएं, साधनों, रॉ मैटेरियल की मार्केटिंग, ग्राहकों की पहुंच इत्यादि। इसीलिए प्रिंटिंग प्रेस के बिजनेस को करने के लिए ऐसी जगह का चयन करें, जहां पर यह सब सुविधाएं मौजूद हो।

प्रिंटिंग प्रेस के प्रकार

आज के समय में बहुत सारी टेक्नालॉजी मौजूद है, जिनका उपयोग प्रिंटिंग के लिए किया जाता है। जिनमें से कुछ औद्योगिक प्रिंटिंग प्रक्रियाएं हैं जैसे कि ऑफसेट या ऑफसेट लिथोग्राफी, एनग्रेव प्रिंटिंग, स्क्रीन प्रिंटिंग, फ्लेक्सोग्राफी प्रिंटिंग, ग्रेवुरे प्रिंटिंग, इंजेक्ट प्रिंटिंग, लेजर प्रिंटिंग इत्यादि।

वर्तमान समय में प्रिंटिंग मेथड भी दो प्रकार की है एक इंपैक्ट प्रिंटिंग और नॉन इंपैक्ट प्रिंटिंग। इंपैक्ट प्रिंटर के अंतर्गत कुछ प्रक्रियाएं मौजूद हैं जो कि हैं डॉट मैट्रिक्स प्रिंटर, चेन प्रिंटर, ड्रम प्रिंटर, लाइन प्रिंटर, डेजी व्हील प्रिंटर इत्यादि और नॉन इंपैक्ट प्रिंटर के अंतर्गत भी कुछ प्रक्रियाएं हैं जैसे कि लेजर प्रिंटर, फोटो प्रिंटर, पोर्टेबल प्रिंटर, मल्टी फंक्शनल प्रिंटर, थर्मल प्रिंटर इत्यादि शामिल है। आज के समय में लोग इस प्रिंटिंग के मेथड को बहुत ही ज्यादा पसंद कर रहे हैं।

प्रिंटिंग प्रेस मार्केट रिसर्च

प्रिंटिंग प्रेस के बिजनेस को शुरू करने से पहले मार्केट रिसर्च जरूर करना चाहिए जैसे कि किस क्षेत्र में प्रिंटिंग प्रेस की कितनी दुकानें मौजूद हैं, मार्केट में किस जगह पर प्रिंटिंग प्रेस का बिजनेस अच्छा चलेगा इत्यादि।

यदि आप प्रिंटिंग प्रेस के लिए अपना खुद का एक दुकान खोलना चाहते हैं तो इसके लिए आपको अपने लोकल मार्केट में प्रिंटिंग की रिक्वायरमेंट को पता करके कॉंटेक्ट बढ़ाना चाहिए और साथ ही साथ आप यह भी पता कर ले कि मार्केट में कंपटीशन कितना है। ताकि बिजनेस में लॉस के चांसेस ना के बराबर हो। आप इस बिजनेस की शुरुआत अपने घर से या फिर एक छोटी सी दुकान को किराए पर लेकर कर सकते हैं। छोटी सी जगह के साथसाथ आपको कंप्यूटर और मशीन को चलाने के लिए एक कमर्शियल बिजली का कनेक्शन भी लेना पड़ेगा।

प्रिंटिंग प्रेस के बिजनेस कि शुरुआत करने के लिए कम से कम 5 से 6 लाख का खर्चा आता है। यह जो 5 से 6 लाख रुपए हैं वह प्रिंटिंग मशीन, बिजली कनेक्शन, प्रिंटिंग पेपर, रॉ मैटेरियल, जगह का किराया इत्यादि को मिलाकर होते हैं। तो यदि आप अपनी सूझबूझ और समझदारी के साथ अपने इस बिजनेस को अच्छे से चलाते हैं तो आपको इससे भी ज्यादा मुनाफा हो सकता है।

प्रिंटिंग प्रेस बिजनेस के लिए कच्चे माल की कीमत और कहां से खरीदें?

प्रिंटिंग प्रेस के बिजनेस में लगने वाले कच्चे माल में से एक है फैब्रिक जो कि आज के समय में बहुत ही ज्यादा इस्तेमाल हो रहा है। क्योंकि आज के समय में प्लास्टिक को बैन कर दिया गया है, इसलिए फैब्रिक का इस्तेमाल पेपर बैग बनाने के लिए किया जा रहा है और आज के समय में इस फैब्रिक की कीमत ₹70 से ₹130 तक की होती हैं।

यह कीमत फैब्रिक की क्वालिटी पर भी डिपेंड करता है। इसी फैब्रिक के ऊपर ही अलगअलग दुकान इंडस्ट्री अपने लोगों या एडवर्टाइजमेंट को प्रिंटिंग प्रेस के द्वारा छपवा कर मार्केट में बेचती है।

प्रिंटिंग प्रेस के बिजनेस के लिए दूसरी सबसे जरूरी चीज होती है प्रिंटिंग पेपर, जिसे मास्टर पेपर के नाम से भी जाना जाता है। इसी मास्टर पेपर पर प्रिंटर के जरिए प्रिंटिंग का काम किया जाता है। इसी पेपर का इस्तेमाल शादी का कार्ड या अलगअलग तरह के विजिटिंग कार्ड इनविटेशन कार्ड के लिए किया जाता है। इसके साथ ही साथ इसे बनाने के लिए गोंद और कैची का भी इस्तेमाल किया जाता है।

आपको प्रिंटिंग के लिए प्रिंटिंग पेपर और फैब्रिक किसी भी मार्केट में आराम से मिल जाएगा और यदि आप चाहें तो इसे किसी भी ऑनलाइन वेबसाइट के जरिए भी खरीद सकते हैं। आज के समय में यह रॉ मटेरियल सभी जगह उपलब्ध होते हैं।

प्रिंटिंग प्रेस बिजनेस के लिए मशीनों और उपकरणों की कीमत और कहां से खरीदें?

प्रिंटिंग प्रेस के बिजनेस को शुरू करने के लिए सबसे जरूरी होता है एक दुकान और उसके साथ ही साथ इस बिजनेस को चलाने के लिए कंप्यूटर, मशीन, रॉ मैटेरियल, प्रिंटिंग पेपर, सेटअप की सामग्री इत्यादि चीजे जरूरी होते हैं। इन चीजों के बिना प्रिंटिंग प्रेस का बिजनेस शुरू नहीं किया जा सकता हैं।

 प्रिंटिंग प्रेस के बिजनेस के लिए मशीनों और उपकरणों की कीमत कुछ इस तरह है:

  • फ्लेक्स मशीनलगभग दो से तीन लाख।
  • पेपर कटिंग मशीनलगभग 90 हजार से एक लाख तक
  • प्रिंटिंग के लिए पेपरबेहतर क्वालिटी के 40 हजार तक
  • प्रिंटरअच्छी क्वालिटी का 8 से 10 हजार रुपए तक
  • कंप्यूटर- 50 हजार
  • सेटअप की सामग्री के लिए फर्नीचर अन्य चीजों की कीमतलगभग एक लाख
  • रॉ मैटेरियल- 50 हजार
  • जगह का किरयाएक लाख से दो लाख तक

तो कुल मिलाकर इस बिजनेस को शुरू करने के लिए 5 से 6 लाख रुपए तक का खर्चा आता है। परंतु इस बिजनेस को शुरू करने के लिए मुख्य रूप से एक बार लगने वाला लागत मशीनों और सेटअप का होता है। इसके लिए आपको बारबार पैसे खर्च करने की जरूरत नहीं पड़ती।

प्रिंटिंग प्रेस के बिजनेस में लगने वाले रॉ मटेरियल और मशीनों को आप बड़ी ही आसानी के साथ Amazon और Indiamart जैसी ऑनलाइन वेबसाइट के जरिए खरीद सकते हैं।

प्रिंटिंग प्रेस बिजनेस की मार्केटिंग प्रोसेस

किसी भी बिजनेस को सफल करने के लिए आइडिया, सूझबूझ, समझदारी और सबसे जरूरी चीज होती है मार्केटिंग प्रोसेस की। यदि आप कितना भी महंगा रॉ मैटेरियल, मशीन और इक्विपमेंट्स लेते हैं, परंतु आप अपने बिजनेस को समझदारी के साथ नहीं चला पा रहे हैं तो आप अपने बिजनेस को कभी भी सफल नहीं कर सकते हैं।

इसीलिए अपने बिजनेस को सफल करने के लिए मार्केटिंग प्रोसेस का होना बहुत ही जरूरी होता है। आज के समय में लगभग सब कुछ डिजिटल हो गया है। तो आप इसी डिजिटल टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करके अपने बिजनेस को बढ़ा सकते हैं।

जैसे कि डिजिटल मार्केटिंग की मदद से आप अलगअलग सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट, अखबार, बिजनेस कार्ड इत्यादि पर बिजनेस ऐड और इसके साथ ही साथ दुकान का एड्रेस और कांटेक्ट नंबर, देकर, मार्केटिंग करके ग्राहकों को अपने बिजनेस की जानकारी दे सकते हैं। अपने बिजनेस की पब्लिसिटी करने के लिए बैनर या पम्पलेट का भी इस्तेमाल कर सकते है। ऐसा करने से लोगों को आपके बिजनेस के बारे में जानकारी प्राप्त होगी।

प्रिंटिंग प्रेस बिजनेस के लिए लोकेशन

प्रिंटिंग प्रेस के बिजनेस को खोलने के लिए भीड़भाड़ वाला इलाका सबसे बढ़िया लोकेशन होता है। इस बिजनेस को शुरू करने के लिए आपको ऐसी जगह का चयन करना चाहिए, जहां पर अक्सर सुबह शाम काफी ज्यादा भीड़ लगती हो। क्योंकि जिस जगह पर अधिकतर लोग आते जाते हो, उस जगह पर बिक्री ज्यादा होगी और आपका मुनाफा भी अच्छा होगा।

ऐसी बहुत सारी जगह है, जहां पर आप अपने प्रिंटिंग प्रेस का बिजनेस शुरू कर सकते हैं जैसे कि स्कूल, कॉलेज, सरकारी दफ्तर, कोर्ट, बड़ी बड़ी मार्केट और बड़े बिजनेस ऑफिस, उद्योग और कंपनियां इत्यादि। यदि आप ऐसी जगह पर अपनी प्रिंटिंग प्रेस का बिजनेस शुरू करते हैं तो आपकी बिजनेस की सफलता का चांसेस बढ़ जाता है।

क्योंकि ऐसी जगह पर लोगों का आना जाना ज्यादा होता है और इसके साथ ही साथ लोगों को प्रिंटिंग से जुड़े हुए बहुत सारी चीजों की जरूरत होती है, जो कि उन्हें एक प्रिंटिंग प्रेस के जरिए ही प्राप्त हो सकती है। जैसे कि स्कूल कॉलेज के लिए बुककॉपी प्रश्न पेपर प्रिंट करवाना, सरकारी दफ्तर में जरूरी कागजात प्रिंट करवाना और बड़ेबड़े  उद्योगो के लिए एडवर्टाइजमेंट, पंपलेट और बैनर प्रिंट करवाना इत्यादि और इस तरह की भीड़भाड़ वाले इलाके पर बिजनेस की शुरुआत करने से आपके बिजनेस का भी पब्लिसिटी अच्छा हो सकता है।

यह भी पढ़े: कम खर्च और अधिक मुनाफे वाले बिजनेस

प्रिंटिंग प्रेस के लिए लाइसेंस रजिस्ट्रेशन

प्रिंटिंग प्रेस का बिजनेस शुरू करने के लिए सबसे पहले आपको इसका लाइसेंस लेना पड़ता है, जो कि स्टेट गवर्नमेंट द्वारा सभी उद्योगपति को प्रदान किया जाता है। प्रिंटिंग प्रेस के बिजनेस के लिए निम्न लाइसेंस रजिस्ट्रेशन लगते हैं जो कि कुछ इस प्रकार है:

  • उद्योग लाइसेंसजो कि किसी भी उद्योग को शुरू करने के लिए स्टेट गवर्नमेंट से लेना पड़ता है।
  • बिजनेस का म्युनिसिपल कॉरपोरेशन नगर निगम के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन कराना होता है।
  • कमर्शियल बिजली कनेक्शनजिसके अंतर्गत बिजली बिल को नार्मल से कम करवाने बचत के लिए करवाना होता हैं।

इसके अलावा आप अपने स्टेट गवर्नमेंट के अनुसार बिजनेस में लगने वाले लाइसेंस रजिस्ट्रेशन की जानकारी भी ले सकते हैं।

प्रिंटिंग प्रेस बिजनेस के लिए स्टाफ

यदि आपका प्रिंटिंग प्रेस का बिजनेस काफी ज्यादा पॉपुलर हो गया है तो आपको इस बिजनेस को चलाने के लिए एक पूरे स्टाफ की जरूरत पड़ेगी। स्टाफ किसी एक व्यक्ति को नहीं कहा जाता बल्कि स्टाफ उन कुशल कारीगरों को कहा जाता है, जिनसे मिलकर एक टीम बनती है और यही टीम मिलकर बिजनेस को सफल बनाते हैं।

प्रिंटिंग प्रेस के बिजनेस में सबसे पहला आदमी होता है, डिजाइनिंग ऑपरेटर यानि कि वह व्यक्ति जो की कस्टमर के पसंद के अनुसार डिजाइन को बनाने का काम करता है। उसके बाद दूसरा आदमी होता है डिजाइन को प्रिंट करने वाला यानी कि दूसरे व्यक्ति के द्वारा डिजाइन को पेपर या फिर फैब्रिक पर प्रिंट किया जाता है।

उसके बाद तीसरे आदमी का काम होता है पैकिंग करने का। आप अपने कस्टमर को पार्सल डिलीवरी करने के लिए डिलीवरी ब्वॉय का भी इस्तेमाल कर सकते हैं, जो कि पैकिंग किए हुए पार्सल को डिलीवरी करने का काम करेंगे। आपके प्रिंटिंग प्रेस का स्टाफ जितना ज्यादा कुशल होगा आपके बिजनेस में मुनाफे की संभावना उतनी अधिक बढ़ जाएगी।

प्रिंटिंग प्रेस बिजनेस के लिए पैकिंग

प्रिंटिंग प्रेस के बिजनेस के अंतर्गत बाकी कामों के साथसाथ पार्सल को पैक करना भी अति आवश्यक होता है, क्योंकि कोई भी व्यक्ति आपको किसी भी प्रकार की प्रिंटिंग का ऑर्डर देता है, तो आपको उस व्यक्ति का पार्सल पैक करके देना अत्यावश्यक होता है। आप ऐसे ही उसके पार्सल को नहीं दे सकते हैं। पार्सल को पैक करके देने से आपके काम से रिलेटेड और बिजनेस पर पॉजिटिव इंपैक्ट पड़ता है, जो कि कस्टमर को अपने बिजनेस की ओर आकर्षित करने का काम करता है।

यदि आप अपने कस्टमर को होम डिलीवरी की भी सुविधा प्रदान कर रहे हैं, तो उसके लिए भी आपको एक अच्छी पैकिंग की जरूरत पड़ेगी। क्योंकि अधिकतर लोग आप के पैकिंग के जरिए ही आपके प्रोडक्ट को जज करते हैं।

प्रिंटिंग प्रेस बिजनेस के लिए लागत

प्रिंटिंग प्रेस के बिजनेस की शुरुआत करने से पहले आपको एक लिस्ट तैयार करना जरूरी होता है, जिसके अंतर्गत आप क्याक्या चीजें प्रिंट करते हैं और प्रिंट करने का कितना कीमत लेते हैं यह सब जानकारी रहेगी। आपके द्वारा ली जाने वाली कीमत एरिया पर भी निर्भर होता है।

क्योंकि यदि आप एक शहरी इलाके में अपना प्रिंटिंग प्रेस खोलते हैं तो आपको उस शहरी इलाके के एरिया के हिसाब से अपने प्रिंटिंग की कीमत रखनी पड़ेगी और यदि आप किसी नॉर्मल एरिया या फिर गांव के इलाके मे प्रिंटिंग प्रेस खोलते हैं तो आपको इसके अनुसार अपने प्रोडक्ट की कीमत रखनी पड़ेगी। क्योंकि यदि आप एरिया के अनुसार से अपने प्रोडक्ट की कीमत ज्यादा रखेंगे तो आपके प्रोडक्ट की बिक्री नहीं होगी। भले ही आप कितना भी अच्छा प्रिंट करते हो क्योंकि आज के समय में बहुत से लोग कीमत के अनुसार भी काम करवाते हैं।

जैसा कि मैंने आपको पहले भी बताया था कि प्रिंटिंग प्रेस के बिजनेस की शुरुआत करने के लिए कम से कम 5 से 6 लाख रुपए तक की लागत लगती है। यह लागत इस बात पर भी निर्भर करती है कि आप अपना प्रिंटिंग प्रेस का बिजनेस किराए के दुकान पर खोल रहे हैं या आपने खुद के घर में खोल रहे हैं।

यदि आप किसी किराए के दुकान पर अपना प्रिंटिंग प्रेस का काम शुरू कर रहे हैं तो आपको किराए के लिए सालाना 1-2 लाख रुपए अधिक लग सकते हैं। यदि आप किसी किराए की दुकान पर अपनी पेंटिंग प्रेस का बिजनेस खोल रहे हैं, तो आपको उस बिजनेस से अपना मुनाफा कमाने के लिए बड़ी मशीने, रॉ मटेरियलस, स्टाफ, वर्कर इत्यादि को रखना पड़ेगा, जो कि आपके प्रिंटिंग प्रेस के बिजनेस को संभालेंगे।

आपको उस किराए के दुकान का बिजली बिल पे करना होगा, जो कि साधारण बिजली के बिल से थोड़ा ज्यादा हो सकता है। तो कुल मिलाकर किराए के दुकान में आपको प्रिंटिंग प्रेस का बिजनेस शुरू करने के लिए थोड़ा अधिक पैसा लग सकता है।

यदि आप अपने घर में हि प्रिंटिंग प्रेस का बिजनेस शुरू करते हैं तो इसके कारण आपको अपने बिजनेस के लिए स्टाफ मेंबर, मशीन, रॉ मैटेरियल इत्यादि चीजों का इस्तेमाल कम करना पड़ेगा, जिसके चलते आपको थोड़ा कम खर्चा लग सकता है। परंतु प्रिंटिंग प्रेस के बिजनेस में सबसे ज्यादा मुनाफा एक दुकान के जरिए हो सकता है क्योंकि दुकान के जरिए ही कस्टमर आकर्षित होते हैं।

प्रिंटिंग प्रेस बिज़नेस में फायदा

वैसे तो प्रिंटिंग प्रेस के बिजनेस में बहुत प्रॉफिट होती है। परंतु यह जरूरी नहीं है कि हर बार प्रिंटिंग प्रेस के बिजनेस में हर किसी को प्रॉफिट ही हासिल हो। क्योंकि आपका प्रिंटिंग प्रेस का बिज़नस इस बात पर निर्भर करता है कि आप के काम करने का तरीका कैसा है, आपके प्रिंटिंग की कीमत कितनी है, प्रोडक्ट क्वालिटी कैसी है, पैकेजिंग कैसी है, डिजाइन कैसे हैं इत्यादि चीजें बहुत ही जरूरी होती है। यही सब चीजें लोगों को आकर्षित करती हैं।

आपके बिजनेस की प्रॉफिट जगह पर भी निर्भर करता है क्योंकि अलग-अलग जगह पर लोगों को अलग-अलग तरह के विजिटिंग कार्ड, इनविटेशन कार्ड, बुक, पेपर, कॉपी, पंपलेट, पोस्टर इत्यादि चीजें पसंद होती है तो आपको लोगों के पसंद के अनुसार अपना काम शुरू करना होगा। तभी जाकर आपको इस बिजनेस में प्रॉफिट हासिल हो सकता है।

आप जिस जगह पर अपना प्रिंटिंग प्रेस का बिजनेस शुरू करना चाहते हैं, उस जगह के लोगों की पसंद के बारे में आपको काफी रिसर्च करना होगा। क्योंकि यदि आप लोगों की पसंद के अनुसार उनके सामान तैयार करके देंगे तो आपके प्रॉफिट की संभावना और अधिक बढ़ जाएगी। यदि आपका रिसर्च अच्छा है तो आपके लिए प्रिंटिंग प्रेस का बिजनेस काफी ज्यादा फायदेमंद साबित हो सकता हैं। फिर इस बिजनेस के जरिए आप काफी ज्यादा मुनाफा भी कमा सकते हैं।

प्रिंटिंग प्रेस बिजनेस के लिए मार्केटिंग

किसी भी बिजनेस को शुरू करने से पहले या शुरू करने के बाद उसकी मार्केटिंग करना बहुत ही जरूरी होता है। क्योंकि यदि लोगों को आपके बिजनेस के बारे में जानकारी नहीं होगी तो आपका बिजनेस सफल नहीं हो सकता। यदि आप की मार्केटिंग स्किल अच्छी है और आप लोगों से अच्छी तरह से कम्युनिकेशन कर पाते हैं तो आपके बिजनेस में प्रॉफिट का संभावना और अधिक बढ़ जाता है।

आपको अपनी प्रिंटिंग प्रेस के बिजनेस को किसी भीड़भाड़ वाले इलाके में खोलना चाहिए यानी कि किसी मार्केट एरिया में शुरू करना चाहिए। क्योंकि भीड़भाड़ वाले इलाकों के जरिए अधिक से अधिक लोगों को आपके बिजनेस के बारे में जानकारी प्राप्त होगी, जो कि आपके बिजनेस की मार्केटिंग करने में काफी ज्यादा मदद कर सकते हैं।

वही लोग आपके बिजनेस के बारे में दूसरे लोगों को जानकारी प्रदान कर सकते हैं, जिससे कि आपके प्रिंटिंग प्रेस के बारे में अधिक से अधिक लोगों को जानकारी प्राप्त होगी। जिसके कारण लोग आपके प्रिंटिंग प्रेस के तरफ आकर्षित होंगे और आपका मुनाफा होगा।

परंतु आपको इस बात का भी विशेष ध्यान देना होगा कि बिजनेस स्टार्ट होने के बाद भी आपकी मार्केटिंग बंद नहीं होनी चाहिए। प्रिंटिंग प्रेस खुल जाने के बाद भी आपको अपना मार्केटिंग जारी रखना होगा क्योंकि ऐसा करने से आपके प्रिंटिंग प्रेस से नए-नए लोग जुड़ेंगे और आपका काम पसंद करेंगे।

किसी भी बिजनेस की मार्केटिंग करने के लिए लोगों को काफी खर्चा करना पड़ता है। परंतु किसी भी बिजनेस की मार्केटिंग करने का सबसे अच्छा और सरल तरीका होता है माउथ मार्केटिंग, जिसमें आपको किसी भी प्रकार का खर्चा नहीं करना पड़ता। माउथ मार्केटिंग के अंतर्गत यदि आप अपने कस्टमर को सबसे अच्छा और बेहतर प्रोडक्ट बना कर देते हैं, तो वह घर जाकर आपके प्रोडक्ट की चर्चा जरूर करेंगे। जिससे कि आप के बिजनेस की मार्केटिंग बढ़ेगी और आपको अधिक से अधिक फायदा होगा।

प्रिंटिंग प्रेस बिज़नेस में रिस्क

ऐसा कोई भी बिजनेस नहीं है, जिसके अंतर्गत लॉस होने के चांसेस ना हो। सभी बिजनेस में थोड़ा ना थोड़ा लॉस होने का चांसेस होता ही है। सभी बिजनेस ऐसे होते हैं जिनमें स्टार्टिंग में लॉस होने के चांसेस अधिक होती है। यदि आप कोई ऐसा बिजनेस शुरू कर रहे हैं, जिसके बारे में आपको जानकारी प्राप्त नहीं है, तो ऐसे बिजनेस में और अधिक लॉस होने का चांसेस बढ़ जाता है।

ठीक उसी तरह प्रिंटिंग प्रेस के बिजनेस में भी लॉस होने के चांसेस होते हैं। यदि आपको इस बिजनेस के बारे में जानकारी नहीं है और फिर भी आप प्रिंटिंग प्रेस के बिजनेस में काफी पैसा खर्चा कर रहे हैं, तो आपको इसमें अधिक से अधिक लॉस होने का चांसेस बढ़ जाता है। इसलिए किसी भी बिजनेस को करने के लिए एक अच्छे तजुर्बे की जरूरत पड़ती है। बिना जानकारी बिना तजुर्बे के किसी भी बिजनेस की शुरुआत नहीं करनी चाहिए। क्योंकि इससे हमेशा लॉस ही होता है।

FAQ

प्रिंटिंग प्रेस का बिजनेस कैसे स्टार्ट करें?

प्रिंटिंग प्रेस के बिजनेस को स्टार्ट करने के लिए सबसे पहले आपको इस बिजनेस से जुड़े हुए सभी प्रकार की जानकारी प्राप्त करनी होगी और इस बिजनेस को सफल बनाने के तरीको के बारे में भी जानना होगा तभी जाकर आप इस बिजनेस को कर पाएंगे।

प्रिंटिंग प्रेस के बिजनेस की लागत क्या है?

प्रिंटिंग प्रेस के बिजनेस में कम से कम 5 से 6 लाख रुपए तक की लागत लग सकती है।

प्रिंटिंग प्रेस के बिजनेस को करने की परमिशन और लाइसेंस कौन देता है?

प्रिंटिंग प्रेस के बिजनेस को करने की परमिशन और लाइसेंस स्टेट गवर्नमेंट द्वारा दी जाती है।

निष्कर्ष

हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा लिखा गया यह महत्वपूर्ण लेख “प्रिंटिंग प्रेस बिजनेस कैसे शुरू करें? (Printing Press Business Plan in Hindi)” पसंद आया होगा, इसे आगे शेयर जरूर करें। आपको यह कैसे लगा, हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। यदि आपका इससे जुड़ा कोई सवाल या सुझाव है तो कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

यह भी पढ़े

सबसे ज्यादा कमाई वाला बिजनेस कौनसा है?

कम पैसे में ज्यादा कमाई कैसे करें?

रोज पैसे कैसे कमाए?

बिना पैसे लगाए घर बैठे बिजनेस कैसे करें?

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here