Poem on College Life in Hindi

नमस्कार दोस्तों आज हमने इस पोस्ट में Poem on College Life in Hindi शेयर की है। उम्मीद करते हैं आपको यह कॉलेज पर कविता (College Life Poem in Hindi) पसंद आएगी।

Poem on College Life in Hindi

College Life Last Day Poem – 1

राह देखी थी इस दिन की कब से!
आगे के सपने सजा रखे थे ना जाने कब से!!

बड़े उतावले थे यहाँ से जाने को!
जिन्दगी को अगला पड़ाव पाने को!!

पर ना जाने क्यों दिल में आज कुछ और आता है!
वक़्त को रोकने का जी चाहता है!!

जिन बातो को लेकर कभी रोते थे आज उन पर हँसी आती है!!
कहा करते थे, बड़ी मुश्किल से चार साल सह गए!

पर आज क्यों लगता है जिन्दगी के सबसे अच्छे पल पीछे रह गए!!
मेरी टांगे अब कौन खीचा करेगा!

सिर्फ मेरा सर खाने को कौन मेरे पीछे पड़ेगा!!
कौन रात भर जाग जाग कर मुझे सताएगा!

कौन मेरे रोज नए नए नाम बनाएगा!!
कौन फ़ैल होने पर दिलासा दिलाएगा!

कौन गलती से नंबर मिलाने पे गाली सुनाएगा!!
ढाबे पर चाय किसके साथ पियूँगा!

वो हसीन पल फिर कब मैं जियूँगा!!
मेरे गानो से परेशान कौन होगा!

कभी मुझे किसी लड़की से बात करते हैरान कौन होगा!!
दोस्तों के लिए प्रोफेसर से कब लड़ पायेगे!

क्या ये सब हम फिर कर पायेगे!!
कौन मुझे मेरी काबिलियत पर भरोशा दिलाएगा!

और ज्यादा हवा में उडने पर जमीन पर लाएगा!!
मेरी ख़ुशी देखकर सच में खुश कौन होगा!

मेरे गम में मुझ से ज्यादा दुःखी कौन होगा!!

कॉलेज के दिन (Poem on College Life in Hindi) – 2

कॉलेज के वो दिन, लौट के ना आएंगे।
फिर से जैसे दोस्त, ना कभी मिल पाएंगे।

कैंटीन कि वह चाय, क्लास के लिए
हम कभी समय पर ना पहुँच पाए।

यारो, चाहे कितने दूर चले जाओ,
पर साथ रहेंगे यादों के साये।

एक साथ कैंटीन में बैठक,
लोगों को उतारना।

ग़लती सबकी होती थी पर,
किसी एक पर बिल फाड़ना।

जन्मदिन के केक का,
जो होता था बुरा हाल।

कॉलेज में सब ग़रीब होते थे,
पैसों का रहता था काल।

बेचारे हॉस्टल वालों के,
अलग होते थे रोने।

ना अच्छा खाना और,
कपड़े भी थे धोने।

हर हँसी और ग़म में,
हम एक दूजे के साथ खड़े थे।

हर मुसीबत में यह कदम,
साथ में आगे बढ़े थे।

एक छोटा सा परिवार,
बन गया था हमारा।

दोस्त ही होते थे,
एक दूजे का सहारा।

कॉलेज के वो दिन,
लौट के ना आएंगे।

फिर से वैसे दोस्त,
ना कभी मिल पाएंगे।।

हम उम्मीद करते हैं कि आपको यह Poetry on College Life in Hindi पसंद आई होगी। इसे आगे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें और यह Poem किसी लगी हमें कमेन्ट बॉक्स में जरूर बताएं। हमारा फेसबुक पेज लाइक जरूर करें।

Read Also

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here