पेंट का बिजनेस कैसे करे?

Paint Ka Business Kaise Kare: आज के इस आर्टिकल में हम बात करने वाले हैं पेंट के बिजनेस के बारे में कि इस व्यवसाय को कैसे शुरू किया जाता है, इसे शुरू करते समय हमें किन-किन बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। इस व्यवसाय की लागत और जोखिम की मात्रा कितनी होती है आदि सभी प्रश्नों के बारे में आज के इस आर्टिकल में हम बात करेंगे। तो चलिए बात करते हैं पेंट के व्यवसाय के बारे में और यह बिजनेस कैसे शुरू होता है?

पेंट के बिजनेस कि यदि बात की जाए तो यह वह बिजनेस होता है, जहां विभिन्न रंग के पेंट का उत्पादन किया जाता है। दूसरे शब्दों में यदि बात की जाए तो पेंट शॉप वह जगह होती है, जहां पेंट करने के लिए उपयोग होने वाले विभिन्न उपकरण पेंट आदि मिलते हैं।

Paint Ka Business Kaise Kare
Image: Paint Ka Business Kaise Kare

यदि कोई भी व्यक्ति पेंट का व्यवसाय करना चाहता है तो वह इसके डिस्ट्रीब्यूटर के रूप में भी कार्य कर सकता है। वर्तमान समय में व्यक्ति जितनी तेजी से आगे बढ़ रहा है और नई-नई ऊंचाइयों को छू रहा है तो व्यक्ति अपने घर और रहन-सहन में भी उसी हिसाब से बदलाव चाहता है। वह चाहता है कि उसका घर साफ सुथरा और व्यवस्थित हो।

इसके लिए वह अपने घर को कई रंगों से रगंता है ताकि उसका घर सुंदर दिखें साइंस ने भी यह सिद्ध कर दिया है कि यदि व्यक्ति के आसपास का वातावरण साफ सुथरा और स्वच्छ है तो इससे व्यक्ति का मन शांत रहता है और सकारात्मक ऊर्जा उसको मिलती है।

पेंट का बिजनेस कैसे करे? | Paint Ka Business Kaise Kare

पेंट की दुकान कैसे खोलें? (Paint Ka Business Kaise Kare)

किसी भी व्यवसाय को शुरू करते समय व्यवसायी को उस से संबंधित विभिन्न जानकारियों को प्राप्त करना होता है ताकि वह उस व्यवसाय से अच्छा लाभ अर्जित कर सके। उसी तरह जब पेंट शॉप को खोला जाता है तो व्यवसायी को इस बिजनेस से संबंधित अर्थात कलर और पेंट से संबंधित सभी जानकारी होनी चाहिए।

आपको ज्ञान होना चाहिए कि बाजार में किस कलर की सबसे ज्यादा मांग होती है और इस समय किस कलर और पेंट की मार्केट में डिमांड है। इस प्रोडक्ट की डिमांड किस माह में और कब कब होती है ताकि आप उसका सरप्लस प्रोडक्शन करके रख सकें। इस बिजनेस को खोलते समय हमें निम्न प्रक्रिया को फॉलो करना होगा।

पेंट के बिजनेस में नियोजन

नियोजन किसी भी व्यवसाय का प्रथम चरण होता है। इस चरण में व्यवसायी व्यवसाय से संबंधित विभिन्न प्रकार की प्लानिंग करता है। यदि बिजनेस को एक प्लानिंग के साथ शुरू किया जाता है तो उसमें आने वाली कठिनाइयों को पहले ही दूर किया जा सकता है। बिना प्लानिंग के किसी भी बिजनेस के सक्सेसफुल होने की संभावनाएं कम होती है। प्लानिंग से मतलब है, उस व्यवसाय से संबंधित सभी जानकारियों को इकट्ठा करना।

पेंट के बिजनेस के लिए स्थान का निर्धारण

शुरुआती प्लानिंग करने के बाद दूसरा स्टेप होता है। पेंट शॉप के लिए जगह का निर्धारण करना कि आपकी यह दुकान की लोकेशन क्या होगी। जब भी व्यवसायी लोकेशन का निर्धारण करें तो उसे यह ध्यान रखना चाहिए कि जिस स्थान का वह चयन कर रहा है। वहां आसपास पहले से ही दूसरी पेंटशॉप नहीं होना चाहिए।

इससे आपको कंपटीशन मिलेगा और शुरुआती समय में आपको खुद को स्थापित करने मैं कठिनाई भी होगी। लेकिन दुकान ऐसी जगह पर होना चाहिए, जहां ग्राहकों की संख्या अधिक हो या आस-पास कोई बड़ा मार्केट हो ताकि आपके पास ग्राहक पर्याप्त मात्रा में आ सकें और वहां से यातायात के पर्याप्त साधन भी उपलब्ध हो।

पेंट के बिजनेस के लिए उपकरण

वर्तमान मशीनी युग में कोई भी व्यवसाय बिना मशीनी उपकरण के संभव नहीं है। इस मशीनी उपकरणों ने व्यक्ति के समय और लागत में कमी कर दी है। इनकी सहायता से व्यक्ति बहुत ही कम समय में एक पर्याप्त उत्पादन कर सकता है। पेंट शॉप के उपकरण कि यदि बात की जाए तो इस व्यवसाय में कुछ मशीनरीओं का उपयोग किया जाता है, जिनके द्वारा पेंट का उत्पादन होता है।

पेंट व्यवसायी पेंट के साथ-साथ अन्य उपकरणों को भी इनके साथ भेजता है। जैसे कि प्रायमर, टचवुड, रेगमार, ब्रश, पीओपी, आदि चीजें जिनकी पेंट करते समय व्यक्ति को जरूरत होती है। यदि आप पेंट के साथ इन सभी चीजों को भी रखते हैं तो ग्राहक एक ही स्थान से सारा सामान खरीद लेगा और उसे कहीं दूसरी जगह जाने की आवश्यकता नहीं होगी।

मशीनरी कि यदि बात की जाए तो आप इनको ऑनलाइन या ऑफलाइन माध्यम से भी खरीद सकते हैं। यह दोनों जगह उपलब्ध होती है।

पेंट के बिजनेस के लिए लाइसेंस और परमिट

पेंट व्यवसाय को शुरू करने के लिए एक व्यवसायी को अपने स्थानीय नगर प्रशासन, नगर पालिका में से परमिट और लाइसेंस को प्राप्त करना होगा। इसके पश्चात ही आप इस व्यवसाय में प्रवेश कर सकते हैं। रजिस्ट्रेशन और लाइसेंस के अलावा आपको ट्रेड लाइसेंस और जीएसटी रजिस्ट्रेशन भी कराना अनिवार्य होगा। इसके लिए आपको चार्टर्ड अकाउंटेंट से जानकारी प्राप्त करनी होगी।

लाइसेंस की योग्यता कि यदि बात की जाए तो लाइसेंस प्राप्त करने के लिए व्यक्ति की उम्र कम से कम 21 साल होना आवश्यक है एवं उसने 10वीं परीक्षा पास की हो और व्यक्ति के पास आवश्यक निवेश की राशि भी होना चाहिए।

यह भी पढ़े: कम खर्च और अधिक मुनाफे वाले बिजनेस

एशियन पेंट्स डीलरशिप

अगर आप पेंट का व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको बाजार में उपलब्ध अलग-अलग पेंट में से किसी भी पेंट्स की डीलरशिप लेनी होगी। एक बार जब आपकी दुकान की स्थापना हो जाए या आप दुकान का निर्धारण कर ले, उसके बाद आपको अपने लोकल एरिया डिस्ट्रीब्यूटर से संपर्क कर डीलरशिप ले सकते हैं।

इसके लिए आप उनसे कांटेक्ट कर या ऑनलाइन माध्यम से भी पेंट कंपनी की वेबसाइट पर जाकर उस कंपनी के डीलर से जानकारी ले सकते हैं। डीलरशिप लेने के लिए आपको कुछ सिक्योरिटी के लिए पैसा देना होता है। यदि आप एशियन पेंट्स की डीलरशिप को लेना चाहती हैं तो इसके लिए आपको उसकी ऑनलाइन वेबसाइट पर जाकर संपर्क करना होगा।

  • 1800-209-5678
  • You can write to customercare@asianpaints.com 1800-209-5678.

नैरोलैक पेंट्स डीलरशिप

नैरोलेक कंपनी देश की जानी-मानी पेंट से संबंधित कंपनी है, जिसका वर्तमान समय में बहुत अधिक नाम प्रचलित है। कंपनी का नाम जितना अधिक प्रचलित होता है। उसकी डीलरशिप उतनी ही महंगी भी होती है। मतलब इसमें अधिक निवेश के साथ आपको एक बड़े स्थान की जरूरत भी होगी।

कंपनी की डीलरशिप आप बहुत ही आसान तरीके से ले सकते हैं, जिसमें आप अपने लोकल एरिया डिस्ट्रीब्यूटर से संपर्क कर नैरोलैक कंपनी के बारे में आवश्यक जानकारी एवं प्रोडक्ट के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

कस्टमर केयर नंबर: 18002092092

इस तरह आप घर बैठे भी किसी भी कंपनी की डीलरशिप ले सकते हैं।

पेंट के बिजनेस के लिए स्टाफ की भर्ती

प्रत्येक व्यवसाय की प्रगति वहां कार्य करने वाले श्रमिकों और स्टाफ पर निर्भर करती है। पेंट शॉप कि यदि बात की जाए तो यहां पर रंगों के उत्पादन कार्य के लिए भी हमें रंगों की आवश्यकता होती है। इस व्यवसाय के अंदर श्रमिक का का कार्य आपकी मदद करना है। जहां उसे इस व्यवसाय से संबंधित जानकारी हो की किस पेंट का उत्पादन किस तरीके से करना है एवं ग्राहकों के अनुसार वे अपनी सेवाएं दे सकें।

पेंट के बिजनेस के लिए विज्ञापन

किसी भी व्यवसाय को स्थापित करने के लिए विज्ञापन एक महत्वपूर्ण कारक होता है। क्योंकि इसके माध्यम से ग्राहकों तक आपके व्यापार की जानकारी पहुंचती है और ग्राहक आपके प्रोडक्ट को और आपकी दुकान को जान ना पहचान ना शुरू कर देते हैं, जिससे कि ग्राहकों की संख्या बढ़ जाती है।

अब प्रश्न यह उठता है कि पेंट शॉप का विज्ञापन कैसे किया जाए? तो विज्ञापन करने के बहुत सारे तरीके होते हैं। आप अखबार में भी दुकान का विज्ञापन छपवा सकते हैं। व्यस्त सड़कों और मार्केट में आप बैनर लगवा सकते हैं या डिजिटल माध्यम का भी आप प्रयोग कर सकते हैं।

इसके माध्यम से आप एक सोशल मीडिया साइट बनाएंगे, जहां पर आप अपने व्यापार का प्रचार प्रसार कर सकते हैं। क्योंकि वर्तमान समय में सभी लोग सोशल मीडिया का उपयोग करते हैं, जिससे आप अपनी दुकान का प्रचार कर सकते हैं।

पेंट के बिजनेस में लागत

पेंट दुकान खोलने में आने वाली लागत की यदि बात की जाए तो यह किसी भी स्तर से शुरू किया जा सकता है। आप एक छोटे स्तर से दुकान खोलने से लेकर एक बड़े स्तर तक इस व्यापार को शुरू कर सकते हैं। इस व्यवसाय का यदि प्रमुख खर्चा बोला जाए तो वह दुकान और मशीनरी का ही होता है। यदि आपके पास आपकी खुद की दुकान है तब इस व्यवसाय की लागत बहुत ही कम होगी और यदि आपके पास दुकान नहीं है तो आप इसे किराए पर लेकर भी अपने व्यवसाय को शुरू कर सकते हैं।

लेकिन जब आप दुकान का चयन करें तो दुकान की लोकेशन ऐसी जगह होना चाहिए, जहां ग्राहकों की उपलब्धता सुनिश्चित हो और उस दुकान का रेंट भी ज्यादा ना हो। क्योंकि शुरुआती समय में आप का लाभ थोड़ा कम होगा और एक दुकान का रेंट यदि कम होगा तो आपको आसानी होगी।

दुकान किराए के अलावा आप सिटी डिस्ट्रीब्यूटर से भी ले सकते हैं। इसमें आपको लगभग पांच से सात लाख तक का खर्चा होगा और मशीन की लागत यदि बोली जाए तो वह लगभग तीन लाख तक की होगी और यदि आप अपने व्यवसाय में दो या तीन मजदूर रखते हैं तो आपको उन्हें 8 से ₹10000 महीने का देना होगा। 2 मजदूर के हिसाब से 15 या ₹20000 आपका हेल्पर का खर्चा आएगा।

इसके अलावा आपको एक कंप्यूटर की जरूरत होगी जिस पर आप डाटा इनपुट करेंगे और लोगों को रसीद निकाल कर देंगे। इसके अलावा कंप्यूटर का उपयोग रंग को मिलाए जाने के लिए भी उपयोग किया जाएगा एवं ग्राहकों को उनकी पसंद के दान देने में बाजार में कंप्यूटर की लागत लगभग 25 से 30 हजार की आती है और इसके अलावा आपको कुछ फर्नीचर की आवश्यकता होगी, टेबल, रेक चेयर आदि। यह सब खर्चा मिलाकर आपका व्यापार 8 से 10 लाख तक का हो जाएगा।

आप यह व्यवसाय अपनी जमा पूंजी या बैंक से लोन लेकर भी शुरू कर सकते हैं। क्योंकि वर्तमान समय में भारत सरकार के द्वारा लोगों को उनका व्यवसाय शुरू करने के लिए आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई जा रही है, जिसमें ब्याज की दर बहुत ही कम होती है।

पेंट के बिजनेस में जोखिम

जोखिम किसी भी व्यवसाय का अभिन्न अंग है। अन्य व्यवसाय की तरह पेंट शॉप में भी जोखिम निहित होती है लेकिन यह बाकी व्यवसाय की तुलना में कम है। जैसा कि हम जानते हैं पेंट एक ऐसी वस्तु है, जिसका उपयोग सभी घरों में किया जाता है एवं साज-सज्जा सामान के लिए लोग इसको उपयोग करते हैं।

हिंदू त्योहार के विशेष त्योहार में इसकी मांग बहुत अधिक बढ़ जाती है। क्योंकि दीपावली के त्यौहार में सभी व्यक्ति अपने घरों को रंग-बिरंगे पैंट से सजाते हैं, जिससे कि उनके घर साफ सुथरे दिखे और उनमें सकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश हो।

अब यदि हम जोखिम की बात करें तो जोखिम इस व्यवसाय में भी शामिल होती है। क्योंकि व्यक्ति जरूरी नहीं कि हर वर्ष अपने घर को पेंट कराएं और कई बार इस व्यवसाय में मांग में कमी आती है और व्यापारी के द्वारा कई बार आवश्यकता से अधिक पेंट का स्टॉक करके रख लेता है, जिसकी बिक्री ना होने पर वह खराब भी हो सकता है। इसकी जोखिम हमेशा इस व्यवसाय में होती है।

पैंट व्यवसाय में लाभ एवं मुनाफा

किसी भी व्यवसाय को शुरू करते समय व्यापारी के दिमाग में पहला प्रश्न यही होता है कि इस व्यवसाय से उसे कितना लाभ या मुनाफा होगा। पेंट के बिजनेस में यदि लाभ की बात की जाए तो यह पैंट की बिक्री पर निर्भर करता है एवं अलग-अलग पेंट पर व्यापारी को अलग-अलग प्रतिशत का मुनाफा होता है।

किसी पेंट पर 3% तो किसी दूसरे पेंट पर 10% तक का मुनाफा व्यापारी अर्जित करता है और यह इस बात पर निर्भर करता है कि वह किस पेंट का निर्माण कर रहा है एवं उसने मार्केटिंग कितने अच्छे तरीके से की है। किसी व्यवसाय का मुनाफा उस व्यवसाय के स्तर पर भी निर्भर करता है। यदि आपने अपना व्यवसाय निम्न स्तर से शुरू किया है तब आप एक माह में कम से कम 20 से 25000 अर्जित  कर सकते हैं।

यदि आपका व्यवसाय बड़े स्तर पर है तो इससे भी अधिक आप लाभ प्राप्त कर सकते हैं। यह सभी निर्भर करता है कि आप अपने व्यवसाय को किस तरह से चला रहे हैं। कई कंपनियां ऐसी भी होती हैं जो 15 से 20% तक की मार्जिन होती है। आप ज्यादा निवेश मार्जिन के साथ करेंगे आपको उतना ही फायदा होगा।

FAQ

क्या पेंट का बिजनेस भविष्य के लिए बेहतरीन है?

जी हां। पेंट का बिजनेस भविष्य के लिए काफी ज्यादा बेहतरीन साबित होने वाला है। क्योंकि यह बिजनेस एक अनूठी कला है हर कोई व्यक्ति यह बिजनेस नहीं कर सकता है और भविष्य में पेंट करने वाले व्यक्ति की डिमांड बढ़ सकती है।

पेंट का बिजनेस शुरू करने के लिए आप को कितना इन्वेस्टमेंट करना होता है?

यदि आप पेंट का बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो ऐसे में आपको थोड़ा इन्वेस्टमेंट करना होगा। आपको अलग-अलग पेंट के ब्रांड की मेंबरशिप लेनी होगी। पेंट का बिजनेस शुरू करने के लिए आपको 10 से 15 लाख रुपए का निवेश करना होगा।

क्या पेंट का बिजनेस शुरू करने के लिए लाइसेंस की आवश्यकता होती है?

जी हां, यदि कोई भी व्यक्ति पेंट का बिजनेस शुरू करना चाहता है तो उस व्यक्ति को सबसे पहले जीएसटी रजिस्ट्रेशन करवाना होगा।

निष्कर्ष

आज के इस आर्टिकल में हमने पेंट की बिजनेस (Paint Ka Business Kaise Kare) के बारे में जानकारी हासिल की कि इस व्यवसाय को कैसे शुरू किया जाता है, इसको शुरू करते समय हमें कितनी लागत और जोखिम कितनी होती है एवं इस व्यवसाय में हम कैसे एवं कहां से डीलरशिप ले सकते हैं और भी बहुत कुछ।

उम्मीद है आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा और पेंट व्यवसाय से संबंधित समस्त जानकारी आपको आज के इस आर्टिकल के माध्यम से मिली होगी। यदि आपका इस लेख जुड़ा कोई सवाल या सुझाव है तो कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

यह भी पढ़े

कम पैसे में ज्यादा कमाई कैसे करें?

सबसे ज्यादा कमाई वाला बिजनेस कौनसा है?

रोज पैसे कैसे कमाए?

बिना पैसे लगाए घर बैठे बिजनेस कैसे करें?

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 4 वर्ष से अधिक SEO का अनुभव है और 5 वर्ष से भी अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहे है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जरूर जुड़े।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here