फूलों के बारे में जानकारी

Information About Flowers in Hindi: हम अपने घरों की सजावट के लिए फूलों का प्रयोग करते हैं। इसका प्रयोग हम पुराने समय से करते आ रहे हैं। घर में फूलों की सजावट करने से घर में खूबसूरती और सुगंध बढ़ जाती है। फूलों का प्रयोग औषधि के रूप में भी किया जाता है।

information-about-flowers
Essay on Flowers

फूलों को हम लोगों को उपहार के रूप में भी देते हैं और जब हमारे घर में कोई शादी या अन्य फंक्शन होता है तो सजावट फूलों से ही करते हैं। फूल की खेती से हमें व्यवसायिक लाभ भी होता है। आज हम आपको यहां पर फूलों की जानकारी बताने जा रहे हैं। इस पोस्ट में हमने लगभग सभी फूलों की जानकारी शेयर की है।

फूलों के बारे में जानकारी – Information About Flowers in Hindi

फूलों के नाम (Names of Flowers in Hindi)

  • गुलाब का फूल (Rose Flower)
  • कमल का फूल (Lotus Flower)
  • गेंदे का फूल (Marigold Flower)
  • चमेली का फूल (Jasmine Flower)
  • रजनीगंधा का फूल (Tuberose Flower)
  • सूरजमुखी का फूल (Sunflower Flower)
  • कनेर का फूल (Kaner Flower)

गुलाब का फूल

गुलाब का फूल सभी फूलों में अधिक प्रसिद्ध फूल है। गुलाब के फूल का प्रयोग इत्र बनाने में भी किया जाता है। Gulab ka Fool दुनिया में हर जगह पर मिल जाता है। गुलाब के फूल का प्रयोग प्रेमी-प्रेमिका अपने प्यार का इजहार करने में भी करते है।

essay-on-roses
Information About Flowers in Hindi

Gulab ka Fool बहुत ही सुगन्धित फूल है और भारत में इसकी व्यवसायिक खेती भी की जाती है। पूरे भारत में गुलाब के पौधे पाए जाते हैं। भारत में देशी गुलाब का रंग लाल होता है और गुलाब का वैज्ञानिक नाम हाइब्रिडा (Hybrida) है।

essay-about-roses

गुलाब का फुल (Gulab ki Jankari) गुलाबी रंग के अलावा लाल, सफ़ेद, पीले जैसे रंगों में भी पाया जाता है। ये दिखने में जितना खूबसूरत होता है, उतनी ही इसकी सुगंध भी खूबसूरत होती है।

कमल का फूल

कमल का फूल सबसे प्राचीन फूल है। इसे भारत देश में बहुत ही पवित्र माना जाता है। यह मां लक्ष्मी का आसान भी है। देवी लक्ष्मी का आसान होने के कारण इसे हिन्दू धर्म में बहुत ही पवित्र माना जाता है।

essay-on-lotus

यह भारत का राष्ट्रीय फूल भी है। कमल का पुराणों में विशेष स्थान है, Lotus Flower भारतीय संस्कृति में शुभ और पवित्र माना जाता है। यह बहुत ही सुन्दर और खूबसूरत फूल होता है।

national-flower

कमल का फूल एक ऐसा पौधा है जो कीचड़ और दलदल में उगता है। यह धीमे गति से बहने वाले पानी या फिर रूके हुए पानी में ज्यादा उगता है। जहां कम ओक्सीजन की मिट्टी होती है, वहां पर भी कमल उगता है। कमल का वैज्ञानिक नाम नेलुम्बो नुसिफेरा (Nelumbo Nucifera) है।

गेंदे का फूल

Gande ka Fool भारत में व्यापक रूप से उगाया जाता है। इसे हम एक फूल नहीं कहकर फूलों का गुच्छा भी कह सकते हैं। क्योंकि इसकी हर एक पती नए फूल के समान होती है गेंदे के फूल का रंग पीला होता है।

marigold-flower

ये फूल मैक्सिको और दक्षिण अमेरिका का मूल है। गेंदे के फूल का वैज्ञानिक नाम टेजेटेज (Tagetes) है, यह एक सुगंध वाला फूल होता है।

चमेली का फूल

Chameli ka Phool बहुत ही सुगंध भरा होता है। इस चमेली का फूल न होकर चमेली की बेल होती है जो हमारे घरों और बगीचों में लगाई जाती है। चमेली के फूल पूरे भारत में पाए जाते हैं। इसकी खुशबू मन को भाने वाली और मादक होती है।

jasmine-flower

चमेली के फूल औषधि में भी बहुत काम आते हैं। इनकी बहुत सारी औषधियां बनाई जाती है। इसका प्रयोग तेल और इत्र बनाने में भी किया जाता है। यह भारत के उतरप्रदेश के गाजीपुर, जौनपुर और फर्रूख़ाबाद में अधिक और विशेष तौर पर उगाया जाता है। चमेली के फूल का वैज्ञानिक नाम जैस्मिनम है।

रजनीगंधा का फूल

रजनीगंधा फूल की लम्बाई लगभग 25 मिलीमीटर के आसपास होती है। रजनीगंधा का फूल फनल के आकार का और सफ़ेद रंग का होता है। यह फूल पूरे भारत में पाया जाता है और बहुत ही सुगन्धित फूल होता है।

tuberose-flower

दक्षिण अफ्रीका और मेक्सिको मेंर रजनीगंधा के फूल की उत्पति हुई थी। यहां से ही यह पूरे विश्व में फैला है जो लगभग 16वीं शताब्दी के आसपास का समय था। भारत में इसका आना यूरोप से माना जाता है।

सूरजमुखी का फूल

सूरजमुखी का पुष्प दिन भर सूर्य की तरफ मुड़ा रहता है। मतलब जिस ओर सूर्य रहता है ये फूल अपना मुंह भी उसी ओर कर लेता है। ये फूल जब सूर्य उदय होता है तो खिल जाता है और सूर्य अस्त होता है तो मुर्झा जाता है।

sunflower-flower

सूरजमुखी का फूल सुगंध रहित होता है जो दिखने में बहुत ही आकर्षक लगता है। ये अधिक समय तक खिलते रहते हैं। इस फूल को यदि हम अपने बगीचे में लगाते हैं तो ये बगीचे को और भी खिला देता है।

सूरजमुखी के फूल का वैज्ञानिक नाम हेलियनथस (Helianthus) है। सूरजमुखी की फ़सल के लिए 21 से 26 डिग्री के तापमान की जरूरत होती है। अधिक ठन्डे तापमान में लिनोलिक अम्ल की मात्रा 72% तक बढ़ जाती है।

कनेर का फूल

Kaner ka Phool पीला, सफ़ेद, लाल आदि रंग में भी होता है। ये एक विषैला फूल होता है। ये फूल उतर भारत के हर बागों में पाया जाता है। इसका उपयोग किसी जानकार की देखरेख में ही करना चाहिए।

kaner-flower

हमने यहां पर “फूलों के बारे में जानकारी (Information About Flowers in Hindi)” शेयर की है। उम्मीद करते हैं कि आपको यह पसंद आएगी। कमेंट बॉक्स में कोई सवाल या सुझाव हो तो जरूर बताएं। हमारा Facebook Page लाइक जरूर कर दें।

Read Also

इनका नाम राहुल सिंह तंवर है, इन्होंने स्नातक (रसायन, भौतिक, गणित) की पढ़ाई की है और आगे की भी जारी है। इनकी रूचि नई चीजों के बारे में लिखना और उन्हें आप तक पहुँचाने में अधिक है। इनको 3 वर्ष से भी अधिक SEO का अनुभव होने के साथ ही 3.5 वर्ष का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जुड़ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here