भारत में कितने गांव हैं?

Bharat Me Kitne Gav Hai: आज भी भारत कृषि प्रधान देश है। भारत की ज्यादातर जनसंख्या आज भी गांव में निवास करती हैं जिनके कमाई का मुख्य जरिया कृषि ही है। भारत के गांव भारत के रीढ़ की हड्डी के समान हैं। आज भी भारत के कुल जीडीपी में गांव का बहुत बड़ा योगदान है। भारत की ज्यादातर आबादी किसान और मजदूर ही है।

हालांकि आज भी भारत में कई ऐसे गांव हैं, जो विकास के मामले में बहुत पिछड़े हुए हैं लेकिन भारत की कुल आबादी 132 करोड़ है। भारत के कुल जनसंख्या का करीब 70 फ़ीसदी जनसंख्या गांव में निवास करती हैं। इससे आप समझ सकते हैं कि गांव का विकास होना कितना जरूरी है क्योंकि गांव के विकास से ही देश का भी विकास होता है।

Bharat Me Kitne Gav Hai
Image : Bharat Me Kitne Gav Hai

यदि आप किसी सरकारी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं या विद्यार्थी है तो आज का यह लेख आपके लिए बहुत जानकारी पूर्ण होने वाला है क्योंकि आज के इस लेख में हम भारत के कुल गांव के बारे में जानने वाले हैं। इसके साथ ही प्रत्येक राज्य में कुल कितने गांव हैं इसके बारे में भी जानेंगे। इसलिए आपको आपके राज्य में कुल कितने गांव हैं इसके बारे में भी जानकारी मिलेगी। तो चलिए लेख में आगे बढ़ते हैं।

भारत में कितने गांव हैं? | Bharat Me Kitne Gav Hai

भारत में कुल कितने गांव हैं?

भारत एक बहुत बड़ा विस्तृत देश है जहां पर कुल 28 राज्य हैं और उन सभी 28 राज्य में बहुत सारे गांव है। जिस राज्य में जनसंख्या ज्यादा है, क्षेत्रफल ज्यादा है, वहां गांव की संख्या भी ज्यादा है। उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा जनसंख्या है वहां पर 107753 गांव है। वही गोवा राज्य जिसे भारत का सबसे छोटा राज्य कहा जाता है यहां पर मात्र 411 गांव है। यही पर भारत के अन्य राज्यों की तुलना में सबसे कम गांव है।

उत्तर प्रदेश राज्य के गाजीपुर जिले में स्थित गहमर जिला जिसकी जनसंख्या करीब 125000 है। इसे भारत का सबसे बड़ा गांव माना जाता है। अरुणाचल प्रदेश में भारत का सबसे छोटा गांव स्थित है जिसका नाम हा है। बात करें भारत में सभी राज्यों को मिलाकर कुल कितने गांव हैं तो वर्तमान में भारत में 628221 गांव हैं। प्रत्येक राज्य में गांव की संख्या निम्नलिखित है।

भारत के राज्य और उनमें गांवो की संख्या

राज्यगांव
मध्य प्रदेश 55,429
महाराष्ट्र 44,198
मणिपुर 2,639
आंध्र प्रदेश28,293
अरुणाचल प्रदेश  5,616
गोवा411
उत्तराखंड   16,919
पश्चिम बंगाल40,996
गुजरात  18,676
केरल 1,553
मेघालय6,861
असम 26,247
बिहार 45,100
झारखण्ड32,623
कर्नाटक          29,736
छत्तीसगढ़ 20,335
हरियाणा 7,007
राजस्थान 44,981
सिक्किम 460
तमिलनाडु17,089
हिमाचल प्रदेश 20,752
जम्मू कश्मीर 6,768
मिजोरम853
नागालैंड     1,454
तेलंगाना   10,430
त्रिपुरा901
उत्तर प्रदेश1,07,753
ओडिशा51,583
पंजाब12,858

भारत के विभिन्न गांवों से जुड़े रोचक तथ्य

  • भारत के गांव अपने रिती रिवाज रहन-सहन खान-पान के लिए प्रख्यात तो है ही लेकिन भारत के कुछ ऐसे गांव हैं जो अपने आश्चर्यजनक तथ्यों के लिए भी प्रख्यात है। भारत के कुछ ऐसे अनोखे गांव है जिसके जैसा आपने कहीं और नहीं देखा होगा।
  • ऐसा ही एक अनोखा गांव कर्नाटक राज्य में स्थित भद्रपुर गांव है, जो अजीब गरीब नाम रखने के लिए जाना जाता है। कल्पना कीजिए कि आपके बच्चे का नाम गूगल, हाईकोर्ट या बस हो तो आपको कैसा लगेगा। वैसे बता दें कि यह गांव में सभी लोगों का नाम इसी तरह के मशहूर चीजों पर रखा जाता है ।
  • लोग कहते हैं कि गांव में निवास करने वाले लोगों की आर्थिक स्थिति बहुत कमजोर होती है लेकिन ऐसा जरूरी नहीं क्योंकि महाराष्ट्र का एक गांव है जिसका नाम हिवरेबाजार है। यह भारत का इकलौता ऐसा गांव है जहां पर लगभग 60 करोड़पति रहते हैं। यह गांव में कोई भी गरीब नहीं है यहां तक कि यहां पर नशा और नशीली पदार्थों पर प्रतिबंध भी लगा हुआ है।
  • सामान्य से छोटे सांप को देखकर भी लोगों का हाल खराब हो जाता है तो सोचिए जरा यदि आपके सामने कोबरा सांप आ जाए तब आपका क्या हाल होगा। लेकिन भारत के महाराष्ट्र राज्य में शेतफल नामक एक ऐसा गांव है, जहां पर कोबरा सांप गांव में रहने वाले लोगों के घरों में रहता है। यहां रहने वाले लोग कोबरा सांप की पूजा करते हैं, उन्हें अपने साथ रखते हैं। ना वे उन्हें नुकसान पहुंचाते हैं ना कोबरा सांप उन्हें नुकसान पहुंचाते हैं। यह शायद बहुत हैरानी की बात है लेकिन जहां लोग अलग-अलग जानवर पालतू जानवर के रूप में रखते हैं तो यहां के बच्चे कोबरा सांप को पालतू जानवर के रूप में पालते हैं। ऐसा यहां पर सदियों से चला आ रहा है।
  • भारत में एक ऐसा गांव है जिसे भारत का अफ्रीकी गांव भी कहा जाता है। यह गांव गुजरात के जूनागढ़ जिले में स्थित है। इस गांव का नाम जंबूर है। यहां पर सिद्दी जनजाति मुख्य रूप से निवास करती है जो काफी हद तक अफ्रीकी लोगों के समान दिखती है लेकिन गुजराती भाषा उन्हें अलग बनाती है।
  • कौन कहता है कि केवल शहरों में ही विकास होता है, केवल शहरों में ही आधुनिक जीवन देखने को मिलता है। गुजरात के साबरकांठा जिले में पुंसारी नामक एक ऐसा अनोखा गांव है जो आधुनिक जीवन जीता है। गांव होने के बावजूद यह शहर से कम नहीं। यहां हर घर में सीसीटीवी कैमरा है यहां तक कि स्वच्छ ऊर्जा के लिए आधुनिक सोलर पैनल का भी प्रयोग किया गया है। इतना ही नहीं यहां पर वाई फाई कनेक्शन भी सुलभ है और शिक्षा प्रणाली को भी व्यापक रूप से विकसित किया गया है। यहां के लोग सरकार के द्वारा मदद का इंतजार नहीं करते।
  • राजस्थान के जैसलमेर जिले में एक कुलधारा नामक गांव है इस गांव में सामान्य गतिविधियों का अनुभव किया जाता है। माना जाता है यह गांव श्रापित है जिसके कारण लगभग 300 साल से इस गांव में कोई भी निवास नहीं कर रहा है।
  • संस्कृत भाषा भारत की सबसे प्राचीन भाषा है प्राचीन काल से ही इस भाषा का प्रयोग होते आ रहा था लेकिन धीरे-धीरे शहरीकरण के कारण लोगों ने इस भाषा को बोलना कम कर दिया। आज यह भाषा कुछ पंडितो तक ही सीमित रह गया है। लेकिन भारत का एक ऐसा अनोखा गांव है जहां हर कोई बात करने के लिए स्थानीय भाषा के रूप में संस्कृत भाषा का प्रयोग करता है वह गांव मत्तूर है जो कर्नाटक राज्य में स्थित है। इस गांव में बच्चों को बचपन से ही वेद पढ़ना सिखाया जाता है।
  • महाराष्ट्र में शनि सिगनापुर नामक ऐसा गांव है जहां पर किसी के भी घर में दरवाजे नहीं लगे हैं क्योंकि लोगों का विश्वास है कि वहां उनके घरों की हिफाजत खुद शनिदेव करते हैं।
  • जुड़वा बच्चे होना बहुत सामान्य बात है लेकिन एक ही जगह पर 400 से भी अधिक जुडवे बच्चे का पाया जाना थोड़ा सा दुर्लभ हो सकता है। लेकिन, भारत के दक्षिणी राज्य केरल में कोडन्ही नामक एक ऐसा गांव है जो जुड़वा बच्चे के लिए जाना जाता है। इस गांव के हर घर में जुड़वा बच्चे पाए जाते हैं। इस गांव में ऐसा लगता है मानो एक जैसे दो दो लोग हैं। डॉक्टर भी आज तक इस गांव के इस घटना का रहस्य नहीं जान पाए हैं।
  • असम राज्य में रोंगदोई नाम एक ऐसा गांव है जहां पर बारिश देवता को प्रसन्न करने के लिए मेंढक का विवाह कराया जाता है।
  • महाराष्ट्र के कोरलाई गांव में हर कोई पुर्तगाली भाषा बोलता है।
  • बिहार में धरणी नामक गांव में पिछले 30 सालों से ही सौर ऊर्जा का प्रयोग किया जा रहा है, जहां 24 घंटे बिजली केवल सौर ऊर्जा से मिलती है।

FAQ

सबसे बड़ा गांव कौन सा है?

उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिले में स्थित गहमर गांव को भारत का सबसे बड़ा गाँव माना जाता है।

दुनिया का सबसे ऊंचा गांव कौन सा है?

कॉमिक नामक गांव जो 15500 फीट की ऊंचाई पर स्थित है। यह गांव स्पीति घाटी में स्थित है।

भारत का सबसे अमीर गांव कौन सा है?

गुजरात के कच्छ जिले में स्थित दपार नामक गांव को दुनिया का सबसे अमीर गांव माना जाता है।

भारत के कौन से राज्य में गांव की संख्या सबसे अधिक है?

भारत का उत्तरी राज्य उत्तर प्रदेश में गांव की संख्या सबसे अधिक है।

निष्कर्ष

आज के लेख में हमने आपको भारत में कितने गांव हैं?( Bharat Me Kitne Gav Hai) उसके बारे में बताया। आज के इस लेख में आपने भारत के प्रत्येक राज्य में कुल गांव की संख्या के बारे में भी जाना। हमें उम्मीद है कि आज का यह लेख जानकारीपूर्ण रहा होगा। इसलिए अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के जरिए इस लेख को अन्य लोगों के साथ जरूर शेयर करें। लेख से संबंधित कोभी प्रश्न या सुझाव हो तो आप हमें कमेंट में लिख कर बता सकते हैं।

यह भी पढ़ें:

उत्तर प्रदेश में सबसे लंबा राष्ट्रीय राजमार्ग कौन सा है?

मेहंदीपुर बालाजी का रहस्य

1 एकड़ में कितने बीघा जमीन होती है?

पृथ्वी का वजन कितना है?