वाचाल गधा और धोबी – पंचतंत्र की कहानी

वाचाल गधा और धोबी (The Donkey and the Washerman Story In Hindi)

Donkey and Washerman Story in Hindi: एक शहर में शुद्धपट नाम का एक धोबी रहता था। उसके पास एक गधा भी था। गधे को पर्याप्त भोजन ना मिलने के कारण वह बहुत ही दुबला पतला और कमजोर हो गया था जिसके चलते वह ढंग से काम भी नहीं कर पा रहा था।

धोबी को चिंता होने लगी, उसके मन में विचार आया कि कुछ दिन पहले जंगल में घूमते हुए उसे एक मरा हुआ शेर दिखाई दिया उसकी खाल धोबी के पास थी, अगर इस खाल को गधे को ओढाकर खेत में भेजूं तो खेत के रखवाले इसे शेर समझ कर इससे डरेंगे और मारकर भगाने की कोशिश भी नहीं करेंगे।

The Donkey and the Washerman Story In Hindi

धोबी की चाल काम कर गई। धोबी अपनी चाल के अनुसार हर रात गधे को शेर की खाल ओढाकर खेत में भेज देता। गधा पूरी रात घास चरने के बाद सुबह जल्दी ही वापस धोबी के पास आ जाता। यह धोबी का यह तरीका कई दिनों तक चलता रहा।

Read Also: गीदड़ गीदड़ ही रहता है

लेकिन एक बार गधे की पूरी पोल सबके सामने आ गई। गधी की आवाज सुनकर गधे ने भी अडारना शुरू कर दिया। खेतों के रखवाले उस गधे पर टूट पड़े। उन रखवालों ने शेर की खाल ओढ़े गधे को इतना पीटा कि गधे की वहीं पर साँस रुक गई। धोबी की इस चालाकी ने उस गधे के प्राण ले लिये।

पंचतंत्र की सम्पूर्ण कहानियां पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

मेरा नाम सवाई सिंह हैं, मैंने दर्शनशास्त्र में एम.ए किया हैं। 2 वर्षों तक डिजिटल मार्केटिंग एजेंसी में काम करने के बाद अब फुल टाइम फ्रीलांसिंग कर रहा हूँ। मुझे घुमने फिरने के अलावा हिंदी कंटेंट लिखने का शौक है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here